घटिया मैटेरियल से बन रही थी 36 लाख की सड़क..आप नेता की शिकायत पर जागा निगम…ठेकेदार को मिली चेतावनी

बिलासपुर—नर्मदानगर स्थित सड़क निर्माण में घटिया सामाग्री उपयोग को लेकर आप नेता जसबीर सिंंह ने विरोध किया। आप नेता के आरोप और शिकायत के बाद निगम प्रशासन हरकत में आया। मौके पर पहुंचकर इंजीनियर ने माना कि सड़क निर्माण में घटिया सामाग्री का उपयोग किया जा रहा है। मैटेरियल में गिट्टी कम मिट्टी ज्यादा है। ठेकेदार को तत्काल घटिया मैटेरियल निकालकर गुणवत्ता वाले मैटेरियल उपयोग करने को कहा। वही ठेकेदार सौरभ मिश्रा ने भी माना कि भूलवश घटिया मैटेरियल का उपयोग हुआ है।
                            नर्मदानगर स्थित सड़क निर्माण में घटिया मैटेरियल का उपयोग ठेकेदार पर भारी पड़ गया है। आप नेता के विरोध के बाद निगम इंजीनियर  मौके पर पहुंचकर मैटेरियल का जायजा लिया। शिकायत को सही पाया। इंजीनियर ने तत्काल करीब तीन सौ मीटर से अधिक हो चुके निर्माण कार्य में घटिया मैटेरियल निकालकर शर्तों के अनुसार गुणवत्तायुक्त मैटेरियल उपयोग करने का निर्देश दिया है।
ठेका निरस्त करने की चेतावनी
             मालूम हो कि नर्मदानगर कालोनी स्थित तीन सौ मीटर से अधिक लम्बी सड़क निर्माण का ठेका सौरभ मिश्रा को मिला है। सड़क निर्माण में करीब 36 लाख रूपए खर्च होना है। लेकिन ठेकेदार ने चालाकी दिखाते घटिया मैटेरियल का उपयोग किया है। आप नेता जसबीर सिंह की सजगता से आनन फानन में निगम प्रशासन ने ठेकेदार को आदेश दिया कि खोदकर भरे गए गड्ठे मैरियल को तत्काल बाहर निकाला जाए। शर्तों के अनुसार काम नहीं होने पर ठेका निरस्त कर दिया जाएगा।
ठेकेदार के भाई ने की बदतमीजी
                            आप नेता ने बताया कि ठेकेदार के आदमियों और उसके भाई से जब घटिया मैटेरियल उपयोग की शिकायत की तो मानने से इंकार कर दिया। ठेकेदार के भाई ने कहा काम ऐसे ही होता है। मैटेरियल में किसी प्रकार का बदलाव नहीं किया जाएगा। वाद विवाद की जानकारी मिलने पर जब पत्रकार मौके पर पहुंचे तो आनन फानन में ठेकेदार सौरभ मिश्रा भी पहुंच गया। सौरभ ने माना कि सामाग्री घटिया है। दो दिन के अन्दर तीस सौ मीटर सड़क के किनारे किए गए डेढ़ फिट गहराई वाले गड़्ठे घटिया मैटेरियल को निकालकर गुणवत्ता वाला मैटेरियल डाल दिया जाएगा।
घटिया मैटेरियल का उपयोग
                                         निगम इजीनियर गौतम ने बताया कि ठेकेदार को सड़क निर्माण का ठेता दिया गया है। सड़क के दोनो किनारे करीब तीन सौ मीटर से अधिक डब्लूएमएम बिछाना है। इसके बाद सड़क का डामरीकरण भी करना है। सड़क निर्माण का ठेका करीब 36 लाख रूपए है। शिकायत के बाद मौके पर पहुंचकर देखा गया कि ठेकेदार ने 1 फिट गहरे गड्ढे में घटिया सामाग्री का उपयोग किया है। मैटेरियल में हद से मिट्टी की मिलावट है। जाहिर सी बात है कि सड़क गुणवत्ताहीन बनेगी। ठेकेदार को तत्काल डाले गए मैटेरियल को निकालने के लिए कहा गया है। मैटेरियल निकालने का काम भी शुरू हो गया है।
गड़बड़ी बर्दास्त नहीं
           निगम इंजीनियर प्रवीण शुक्ला ने बताया कि डब्लूएमएम सड़क निर्माण में डीबीएम 50 एमएम और बीसी 25 एमएम की होगी। जानकारी के अनुसार मौके पर सब गड़बड़ पाया गया है। ठेकेदार ने भी गलती मान ली है। दो दिन के अन्दर घटिया मैटेरियल की जगह निगरानी में गुणवत्ता वाले मैटेरियल डाले जाएंगे। डामरीकरण के दौरान भी काम पर नजर रखा जाएगा।
भूल से हुई भूल
                                     ठेकेदार सौरभ ने बताया कि घटिया मैटेरियल का उपयोग जानबूझकर नहीं किया गया है। यद्यपि मैटेरियल ठीक है। बावजूद इसके इंजीनियर के निर्देश पर मैटेरियल को निकालना शुरू कर दिया है। जब तक सड़क का काम पूरा नहीं होता..पल पल की मानिटरिंग की जाएगी। इस दौरान पार्षद सुकान्त भी मौजूद थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *