आप नेता ने कहा…हरकत से बाज नहीं आ रहा बेलगाम ठेकेदार…करूंगा भूख हड़ताल…लगाया मिलीभगत का आरोप

बिलासपुर— आप नेता ने नर्मदा नगर स्थित सामुदायिक भवन के सामने निर्माणधीन सड़क में घटिया मैटेरियल इस्तेमाल का विरोध किया है। निगम प्रशासन से लिखित शिकायत कर बताया कि ठेकेदार मनमानी से बाज नहीं आ रहा है। एक दिन पहले सड़क निर्माण में घटिया मैटेरियल इस्तेमाल किए जाने का विरोध किया गया। लेकिन मौके से इंजीनियरों के हटते ही प्रतिबंधित मैटेरियल से ही सड़क बनाने का काम शुरू हो गया है। जसबीर ने कहा कि यदि घटिया मैटेरियल का इस्तेमाल करना बंद नहीं किया गया तो सड़क से कार्यालय तक उग्र प्रदर्शन किया जाएगा।

                मालूम हो कि नर्मदा नगर स्थित सामुदायिक भवन के सामने से होकर करीब 300 मीटर लम्बी सड़क का निर्माण किया जा रहा है। आप नेता जसबीर सिंह ने सड़क निर्माण में निर्धारित मानक से घटिया सामाग्री का उपयोग करने का आरोप लगाया है। साथ ही गुणवत्ताहीन काम का विरोध किया। विरोध की खबर सुनते ही निगम इंजीनियर और स्थानीय पार्षद पति के अलावा ठेकेदार भी मौके पर पहुंच गया।

                    जांच पड़ताल के बाद निगम इंजीनियरों ने कहा कि डब्लूएमएम में घटिया मैटेरियल का इस्तेमाल किया जा रहा है। मैटेरियल में गिट्टी और मुरूम नाममात्र में है। मिट्टी की मात्रा हद से अधिक है। ठेकेदार को तत्काल तीन सौ मीटर तक उपयोग में किए गए घटिया मैटेरियल को निकालने का आदेश दिया। सख्त लहजे में मानक मैटेरियल इस्तेमाल करने को कहा।

               इंजीनियरों के सामने ठेकेदार सौरभ मिश्रा ने माना कि कर्मचारियों की लापरवाही के चलते सड़क निर्माण में घटिया मैटरियल का इस्तेमाल हुआ है। घटिया मैटेरियल को निकालकर निर्देशों के अनुसार मानक मैटेरियल का उपयोग किया जाएगा।

                   आप नेता जसबीर सिंह ने निगम प्रशासन को लिखित में बताया कि इंजीनियर के निर्देश के बाद भी ठेकेदार मनमानी से बाज नहीं आ रहा है। दूसरे दिन घटिया मैटेरियल निकालना तो दूर..बल्कि बचे हुए काम में भी गुणवत्ताहीन मैटेरियल का प्रयोग किया है। यदि सड़क निर्माण में घटिया मैटेरियल का उपयोग बंद नहीं किया गया तो 36 लाख की सड़क एक साल के अन्दर खराब हो जाएगी। जसबीर ने आशंका जाहिर की है कि इंजीनियर और ठेकेदार के बीच मिलीभगत है। शायद यही कारण है कि सौरभ मिश्रा इंजीनियर की बातों को गंभीरता से नहीं ले रहा है। बेहतर होगा कि टेन्डर निरस्त कर सड़क निर्माण की जिम्मेदारी दूसरे ठेकेदार को दी जाए।

                निगम प्रशासन से जसबीर सिंह ने बताया कि यदि मामले को गंभीरता से नहीं लिया गया तो ना केवल उग्र प्रदर्शन करेंगे। बल्कि भूख हड़ताल भी करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *