कड़ी सुरक्षा में होगी मतगणना कार्रवाई…जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया…गतिविधियों की होगी वीडियाग्राफी

बिलासपुर—जिला निर्वाचन अधिकारी पी.दयानन्द ने पत्रकारों को बताया कि कोई भी मतगणना एजेन्ट, अभ्यर्थी या निर्वाचन अभिकर्ता मतगणना कक्ष में मुख्य या अन्य द्वार से प्रवेश नहीं कर सकेंगे। 11 दिसम्बर को सुबह 6 बजे पोस्टल बैलेट पेपर बाॅक्स कोषालय से मतगणना केन्द्र लाया जाएगा। कोषालय खोलते समय अभ्यर्थी या निर्वाचन अभिकर्ता मौजूद रह सकते हैं। स्ट्रांग रूम सुबह 7 बजे प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र संबंधित प्रेक्षक के सामने खोले जाएंगे।
                    जिला निर्वाचन अधिकारी पी.दयानन्द ने बताया कि मतगणना की पूरी तैयारी हो चुकी है। मतगणना के दौरान संबंधित मतगणना टेबल के लिये नियुक्त मतगणना अभिकर्ता उसी टेबल के सामने जाली के बाहर बेंच पर ही बैठेंगे। किसी दूसरे टेबल के सामने बैठने की अनुमति नहीं रहेगी। मतगणना एजेन्टों, अभ्यर्थियों और निर्वाचन अभिकर्ताओं को मतगणना कक्ष तक पहुंचने के लिये अलग अलग प्रवेश द्वार से आई.टी. भवन के पीछे से व्यवस्था की गयी है।
                                                                                        दयानन्द ने बताया कि मतगणना एजेन्ट, अभ्यर्थी या निर्वाचन अभिकर्ता मुख्य या अन्य दरवाजे से मतगणना कक्ष में नहीं जा सकेंगे। 11 दिसम्बर को सुबह 6 बजे पोस्टल बैलेट पेपर बाॅक्स को कोषालय से मतगणना केन्द्र ले जाया जाए। कोषालय खोलते समय अभ्यर्थी या निर्वाचन अभिकर्ता उपस्थित रह सकते हैं। सुबह 7 विधानसभावार प्रेक्षकों के सामने स्ट्रांग रूम खोला जाएगा। इस दौारन अभ्यर्थी या निर्वाचन अभिकर्ता मौजूद रह सकते हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि अभ्यर्थियों के सामने रिजर्व स्ट्रांग रूम को सुबह 6 बजकर 45 मिनट पर सील किया जाएगा। स्ट्रांग रूम से मतगणना स्थल तक ईव्हीएम संबंधित रिटर्निंग अधिकारी नियुक्त कर्मचारियों के साथ पहुंचेगी। इस दौरान किसी भी राजनैतिक दल अथवा अन्य व्यक्ति की उपस्थिति नहीं रहेगी।
                          जिला निर्वाचन ने जानकारी दी कि पहले डाक मतपत्रों की गिनती होगी। इसके बाद ईव्हीएम की मतगणना कार्यवाही शुरू होगी। इस दौरान मद्यपान अथवा किसी प्रकार का नशा करना प्रतिबंधित रहेगा। मतगणना के दौरान प्रत्येक टेबल पर प्रत्येक राउण्ड में तैयार किया गया फार्म 17 सी भाग-2 की प्रति उपस्थित मतगणना अभिकर्ताओं को दी जाएगी। रिटर्निंग अधिकारी की आईडी से लाॅग-ईन कर QR Code के माध्यम से की जाएगी। फिर वैध पोस्टल बैलेट पेपर को मतगणना में शामिल किया जाएगा।
              अभ्यर्थियों या निर्वाचन अभिकर्ताओं या मतगणना अभिकर्ताओं को वोटिंग मशीनें सील करते समय अपनी सील लगाने की अनुमति दी जाएगी। मतगणना कक्ष के भीतर अभ्यर्थियों को किसी प्रकार की भोजन सामग्री ले जाने की अनुमति नहीं होगी। पेयजल की व्यवस्था जिला प्रशासन की तरफ से होगा। यदि किसी विधानसभा में मतगणना एजेन्टों की संख्या अधिक होती है, तो उन्हें मतगणना कक्ष में प्रवेश देते समय मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के मतगणना एजेन्टों को प्रवेश देने में प्राथमिकता दी जाएगी।
                  सातों विधानसभाओं के लिये मतगणना कक्ष ग्राउंड फ्लोर पर बनाए गये हैं। विधानसभा मरवाही के लिये कक्ष क्रमांक-3, कोटा विधानसभा के लिये कक्ष क्रमांक-2, तखतपुर विधानसभा के लिये कक्ष क्रमांक-7, बिल्हा विधानसभा के लिये कक्ष क्रमांक-6, बिलासपुर विधानसभा के लिये कक्ष क्रमांक-5, बेलतरा विधानसभा के लिये कक्ष क्रमांक-4 और मस्तूरी विधानसभा के लिये कक्ष क्रमांक-1 में मतगणना का कार्य किया जाएगा। सभी मतगणना कक्षों में 14-14 टेबल में मतगणना की कार्रवाई की जाएगी। डाक मतपत्रों की गणना के लिये 2 टेबल रखे जाएंगे।
                              मतगणना केंद्र में मोबाईल फोन, सेल फोन, कैमरा, कैलकुलेटर अथवा अन्य किसी प्रकार का इलैक्ट्रानिक उपकरण पर प्रतिबंध रहेगा। किसी को वीडियोग्राफी की अनुमति नहीं दी जाएगी। मतगणना प्रक्रिया की वीडियोग्राफी जिला निर्वाचन कार्यालय से किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *