बैंकरों ने सांसद को लिखित में बताया..संविलियन बैंक हित में नहीं…सांसद से कहा..मुद्दे को लोकसभा में उठाएं

बिलासपुर—-यूनाईटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस ने बैंक मर्जर के खिलाफ और मर्जर प्रक्रिया को रोकने को लेकर एक कार्यक्रम के दौरान सांसद लखनलाल साहू को ज्ञापन दिया। बैंक यूनियन्स के स्थानीय संयोजक ललित अग्रवाल की अगुवाई में बैंकरों ने सांसद को मर्जर से होने वाले नफा नुकसान से परिचय कराया। बैंकरों ने निवेदन किया कि तीनों बैंक के संविलियन के मुद्दें को लोकसभा में उठाएं।
                          विचार मंच के कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे सासंंद लखनलाल साहू के सामने यूनाईटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स के प्रतिनिधियों ने बैंक संविलियन का विरोध किया। यूनियन्स के स्थानीय संयोजन ललित अग्रवाल की अगुवई में बैंकरों ने बताया कि सरकार ने बैंक ऑफ बड़ोदा,विजया और देना बैंंक के संविलियन का फैसला किया है। फैसले का यूनाईटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस विरोध करता है। ललित अग्रवाल ने इस दौरान संविलियन से होने वाले नुकसान की जानकारी दी।
             सांसद को बैंक मर्जर के खिलाफ लिखित शिकायत देते हुए ललित अग्रवाल ने बताया कि 21 दिसम्बर को आईबॉक ने मुद्दे को लेकर बैंक हड़ताल की थी। 26 दिसम्बर 2018 को देश के 10 लाख बैंक अधिकारी और कर्मचारिी  संविलियन के खिलाफ संयुक्त होकर एक बार फिर अखिल भारतीय बैंक हड़ताल पर जा रहे है। इसके पहले यूएफबीयू  ने लोकसभा अध्यक्ष और प्रधानमंत्री को संविलयन के खिलाफ जनहस्ताक्षर वाला ज्ञापन भी दिया है। देश के विभिन्न क्षेत्रों में समस्त सांसदों को ज्ञापन का फैसला किया गया है।
            रविवार को स्थानीय संयोजक ललित अग्रवाल की अगुवाई में बैंकरों की टीम ने बिलासपुर सासंद लखन लाल साहू को ज्ञापन देकर तीनो बैंको के संविलियन के मुद्दे को लोकसभा में उठाने का निवेदन किया। साथ ही 26 दिसम्बर को होने वाले हड़ताल की जानकारी भी दी ।
              सांसद से मुलाकात के दौरान ललित अग्रवाल के साथ कैलाश अग्रवाल, पार्थो घोष, रवि पटनायक, असगर खान, सत्येंद्र सिंह, शैलेन्द्र, सुरेंद्र, प्रल्हाद, मनोज, शरद समेत कई बैंकर मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *