सीबीआई ने दर्ज किए मानव तस्करी के दो मामले , नाबालिगों को भेजा जाता था विदेश

Cbi, Rakesh Ashthana, Alok Verma, Corruption,नई दिल्ली-CBI ने महिलाओं और बच्चों को अवैध ढंग से अमेरिका और केन्या भेजने के संबंध में मानव तस्करी के दो अलग-अलग मामले दर्ज किये हैं. अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि पहला मामला अमेरिकी दूतावास से मिली शिकायत के आधार पर दर्ज किया गया. शिकायत के मुताबिक एक महिला गगन गुप्ता ने पिछले साल अगस्त में चार नाबालिग बच्चों को अमेरिका ले जाने की कोशिश की. इन बच्चों की पहचान पंजाब में शहीद भगत सिंह नगर जिले में सेंट जोसेफ कॉन्वेंट की छात्राओं के तौर पर करायी गयी.जांच में पाया गया कि इन विद्यार्थियों के पासपोर्ट ऐसे बच्चों को दिए गए जिन्हें मानव तस्करी के जरिए अमेरिका पहुंचाया जाना था. दूतावास ने कहा कि यूनाइटेड एयरलाइन-83 के कर्मचारी ने बच्चों को विमान में सवार नहीं होने दिया क्योंकि पासपोर्ट में तस्वीरों से चारों बच्चों का चेहरा नहीं मिल रहा था. हालांकि, उनके पासपोर्ट जब्त नहीं किए गए और उन्हें इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से जाने की अनुमति दे दी गयी. (cgwall.com के WhatsApp ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करे)

विमान कंपनी के कर्मचारी ने स्थानीय पुलिस से संपर्क नहीं किया लेकिन बच्चों की तस्वीरें, पासपोर्ट और विमान के टिकट दूतावास के अधिकारियों को मुहैया कराया. दूतावास की जांच में पता चला कि जिन बच्चों को वीजा जारी हुआ वे सभी सेंट जोसेफ कॉन्वेंट के स्कूली बच्चों के समूह का हिस्सा थे. बच्चों के इस समूह की अमेरिकी यात्रा का आयोजन क्लिक एडुकेशन सर्विसेस प्राइवेट लिमिटेड ने किया.

एक एजेंट ने वीजा प्रक्रिया में मदद के लिए छात्रों और कर्मचारियों के पासपोर्ट लिए थे. एजेंट ने इसी समूह के चार बच्चों के नाम पर दूसरे बच्चों को भेजने की कोशिश की. जांच के बाद सीबीआई ने जालंधर में किंग्स पंजाब ट्रैवल्स के बलराज खेरा, गुरदासपुर जिले में पठानकोट निवासी गगन गुप्ता, क्लिक एडुकेशन सर्विसेस, चंडीगढ़ के चेतन सभरवाल, कर्मचारी लवप्रीत सिंह और तिलक राज के खिलाफ मामले दर्ज किये.

दूसरा मामला केन्या से जुड़ा है. विदेश मंत्रालय की ओर से दर्ज करायी गयी शिकायत के मुताबिक केन्या के नैरोबी में भारतीय दूतावास ने तीन लड़कियों को मुक्त कराया . इन लड़कियों को डांसर के तौर पर नौकरी का झांसा देकर मोमबासा जाने की कोशिश हो रही थी लेकिन वहां पर उनसे देह व्यापार करवाया जाता.

केन्या का नागरिक शमा जावेद दीन और एजेंट आर्यन इन लड़कियों को नैरोबी लेकर गया था

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...