निकाय मंत्री शिव डहरिया ने की विभागीय समीक्षा,कहा-लापरवाही और अनियमितता बरतने वालों पर होगी कड़ी कार्रवाई

♦काम-काज में कसावट लाने अधिकारियों को निर्देश
रायपुर।
नगरीय प्रशाासन और श्रम मंत्री डॉ. शिव डहरिया की अध्यक्षता में नवीन विश्राम भवन में नगरीय प्रशासन और श्रम विभाग की योजनाओं की विस्तृत समीक्षा की गई। अधिकारियों को काम-काज में कसावट लाने और पात्र हितग्राहियों को योजनाओं का लाभ तत्परता से दिलाने के निर्देश दिए गए।नगरीय प्रशासन मंत्री  ने नगरीय निकायों की समीक्षा में अधूरे निर्माण कार्यों को समय सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि लापरवाही और अनियमितता बरतने वाले के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि जिस मद के लिए राशि हो उसी मद में उसका उपयोग किया जाए। यदि दूसरे मद की राशि की आवश्यकता हो तो उसके लिए एक सिस्टम बने और अनुमति के बाद ही राशि का उपयोग किया जाए। निर्माण कार्यों में मूल्यांकन के बाद निर्धारित मापदण्ड के अनुरूप पाए जाने पर ही राशि का भुगतान किया जाए। बैठक में नगरीय प्रशासन विभाग के सचिव निरंजन दास और श्रम विभाग की सचिव आर. शंगीता ने योजनाओं के प्रगति के संबंध में विस्तारपूर्वक प्रस्तुतिकरण दी।(cgwall.com के WhatsApp ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करे)

बैठक में डॉ. डहरिया ने कहा कि प्रदेश के सभी 168 नगरीय निकायों, जिसमें 13 नगर निगम, 44 नगरपालिका और 111 नगर पंचायतों को आम जनता के हित में सुचारू रूप से कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि नगर निगम, नगर पालिका और नगर पंचायतों में आम नागरिकों को सभी मूलभूत सुविधा प्राथमिकता के तौर पर उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं का लाभ पात्रतानुसार दिया जाना सुनिश्चित करें।

डॉ. डहरिया ने कहा कि नगरीय निकायों में सीवरेज सिस्टम, नाली निकासी और साफ-सफाई को बेहतर बनाया जाए। उन्होंने नगरीय क्षेत्र में जल जनित बीमारियों के बचाव के लिए आम नागरिकों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने पर विशेष जोर दिया। उन्होंने कहा कि पेयजल पाईपों की मरम्मत एवं रखरखाव को दुरूस्त किया जाए। पेयजल पाइपलाइन , सीवरेज पाइप लाइन के आसपास टूटी-फूटी न हो, इसका विशेष ध्यान रखें। शहरी क्षेत्रों में आवासहीन परिवारों को पात्रतानुसार प्रधानमंत्री आवास योजना में लाभान्वित किया जाए।

मंत्री डॉ. डहरिया ने श्रम विभाग की समीक्षा में कहा कि संगठित और असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों और उनके बच्चों के स्वास्थ्य और शिक्षा से जुड़ी योजनाओं का लाभ प्राथमिकता से दिलाएं। उन्होंने कहा कि बीमा और पेंशन योजनाओं का लाभ भी श्रमिकों को मिले। डॉ. डहरिया ने श्रमिकों के लिए संचालित औषधालयों एवं स्वास्थ्य केन्द्रों में दवाईयां एवं चिकित्सा उपकरण की उपलब्धता की जानकारी ली और आवश्यक निर्देश दिए। बैठक में राज्य शहरी विकास अभिकरण (सूडा) के मुख्य कार्यपालन अधिकारी अभिनव अग्रवाल, रायपुर नगर निगम के कमिश्नर रजत बंसल, बिलासपुर नगर निगम के कमिश्नर सौमिल्य रंजन चौबे, नगरीय निकाय के मुख्य अभियंता संजीत बैवहार, श्रम विभाग के उपश्रमायुक्त.एल. जांगड़े, सविता मिश्रा सहित नगरीय निकाय एवं श्रम विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...