CM भूपेश बघेल ने अपोलो अस्पताल जाकर प्रोफेसर खेरा का हाल चाल जाना,कवि पारसनाथ मिश्र से भी मिले

बिलासपुर।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपोलो अस्पताल जाकर वहां इलाज करा रहे प्रोफेसर पीडी खेरा से मुलाकात की । मुख्यमंत्री ने अपोलो अस्पताल में ही कवि साहित्यकार पारसनाथ मिश्र से भी मुलाकात की और उनका हालचाल जाना उन्होंने अपोलो के चिकित्सकों से भी बात की और उनके इलाज के संबंध में पूरी जानकारी ली ।जैसा कि मालूम है कि दिल्ली विश्वविद्यालय के पूर्व प्रोफेसर पीडी खेरा लमनी क्षेत्र में आदिवासी बच्चों के शिक्षा और स्वास्थ्य को लेकर पिछले कई वर्षों से कार्यरत हैं । 2 दिन पहले उनकी तबीयत बिगड़ने के कारण उन्हें अपोलो अस्पताल में दाखिल कराया गया है । जहां उनका इलाज चल रहा है।सोमवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपोलो जाकर उनका हालचाल जाना ।इस अवसर पर प्रोफेसर खेरा के करीबी संदीप चोपड़े से भी उन्होंने जानकारी ली । उन्हें श्री चोपडे ने बताया कि लमनी क्षेत्र में आदिवासी बच्चों को जिस स्कूल में प्रोफेसर खेरा के माध्यम से पढ़ाया जा रहा है । उस स्कूल के शासकीय करण की प्रक्रिया चल रही है मुख्यमंत्री ने इस संबंध में आवश्यक कार्यवाही का आश्वासन दिया ।(cgwall.com के WhatsApp ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करे)

उन्हें यह भी जानकारी दी गई कि उस क्षेत्र में खासकर बच्चियों के आगे पढ़ने की व्यवस्था नहीं है उन्हें नर्सिंग ट्रेनिंग देने की दिशा में प्रोफेसर खेरा प्रयासरत रहे हैं ।इस पर भी कार्यवाही का भरोसा मुख्यमंत्री ने दिलाया ।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रोफेसर खेरा के बेहतर इलाज के लिए जरूरी निर्देश दिए । साथ ही कहा कि यदि उन्हें एम्स में इलाज के लिए भर्ती करने की जरूरत है तो इसकी भी व्यवस्था की जाएगी । इस अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपोलो में इलाज करा रहे पत्रकार भास्कर मिश्र के पिता कवि – साहित्यकार श्री पारसनाथ मिश्र से भी मुलाकात की जो पिछले करीब 1 हफ्ते से अस्पताल में भर्ती हैं ।

मुख्यमंत्री ने चिकित्सकों से उनके उनकी तबीयत के बारे में जानकारी ली और बेहतर चिकित्सा के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री के अपोलो दौरे के समय शहर के विधायक शैलेश पांडे,प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री अटल श्रीवास्तव, जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी सहित जिले के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।

 28 दिसम्बर को वनवासी शिक्षादूत को श्वास की तकलीफ और रक्तचाप के असहज होने से उनके गृह ग्राम लमनी छपरवा से बिलासपुर अपोलो लाया गया। ह्र्दय रोग विशेषज्ञ डॉ सामल, श्वास की तकलीफ हेतु डॉ दीपक गुप्ता,न्यूरो हेतु डॉ जयवेलु,मेडिसिन हेतु डॉ मनोज रॉय की टीम ने अपोलो अस्पताल में उनका सभी प्रकार का परीक्षण करने के उपरांत उनको अभी आई सी सी यू में स्वास्थ्य लाभ हेतु रखा है।
डॉ प्रभुदत्त खेडा के स्वस्थ की जानकारी लेने और उनके बेहतर इलाज के लिये प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल , विधायक बिलासपुर शैलेश पांडेय , श्रीमती रश्मि सिंग, विधयक तखतपुर, महामंत्री कांग्रेस अटल श्रीवास्तव ,कलेक्टर, बिलासपुर संजय अलंग और जिला प्रशासन के समस्त अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने श्री खेड़ा को किसी अन्य बेहतर इलाज हेतू एम्स, या अन्य स्थान पर भेजने हेतु प्रस्ताव किया जिसपर खेड़ा जी द्वारा चिकित्सको की सलाह पर उचित निर्णय लेने हेतु सहमति दी।आज के भेट में वनांचल में निवासरत आदिवासियो को छपरवा में संचालित अचानक मार अभयारण्य शिक्षण समिति को पूर्व निर्णय के अनुसार शासकीय मान्यता प्रदान करने , शिक्षको को नियमित करने और भवन हेतु राशि उपलब्ध कराने के लिये उनको आस्वानवित कर नए साल का तोहफा देने के लिये आश्वस्त किया।उपस्थित अधिकारियो एवं चिकिस्को को उनको शीघ्रता से स्वस्थ करने के लिये बेहतर इलाज के निर्देश दिए ।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...