CBI जांच पर अखिलेश यादव ने तोड़ी चुप्पी, BSP से गठबंधन रोकने के लिए मोदी सरकार डराने की कर रही है कोशिश

Akhilesh, Samsung Mobile Unit, Sp Govt,नईदिल्ली।समाजवादी पार्टी अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सीबीआई जांच को लेकर चुप्पी तोड़ी है. पहले कांग्रेस ने सीबीआई (CBI) से डराने की कोशिश की थी, अब बीजेपी (BJP) भी सीबीआई से डराना चाहती है. लेकिन इनकी साजिश का जवाब जनता देगी. बीजेपी पर हमला बोलते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी को यह नहीं भूलना चाहिए कि जिस संस्कृत का इस्तेमाल वो कर रही है, सरकार बदलने पर उन्हें भी इस तरीके का सामना करना पड़ सकता है. बीएसपी से गठबंधन रोकने के लिए डराने की कोशिश की जा रही है. हम डरने वाले नहीं हैं।

इसके साथ ही अखिलेश यादव गठबंधन के सवाल पर उन्होंने कहा कि अभी कुछ नहीं बोलूंगा. गठबंधन रोकने के लिए केंद्र सरकार मेरे खिलाफ सीबीआई का इस्तेमाल कर रही है.
गौरतलब है कि शुक्रवार को मीडिया में खबर आई थी कि समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी में सीटों का बंटवारा हो गया है।

जिसमें एसपी 35 सीटों पर और बीएसपी 36 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ सकती है जैसी बातें सामने आई थी. इसके साथ ही राष्ट्रीय लोकदल को 3 सीटे और 4 सीटों को रिजर्व रखने की बात तय हुई. अखिलेश और मायावती के इस गठबंधन में कांग्रेस गायब नजर आई. हालांकि सीट बंटवारे को लेकर किसी भी पार्टी ने पुष्टि नहीं की है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में अवैध बालू खनन की जांच के संबंध में केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने शनिवार को आईएएस अधिकारी बी चंद्रकला के आवास सहित दिल्ली और उत्तर प्रदेश में 14 ठिकानों पर छापेमारी की. सीबीआई इस मामले में उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से भी पूछताछ कर सकती है. 2012-17 के दौरान अखिलेश यादव राज्य के मुख्यमंत्री थे. सीबीआई सूत्रों के मुताबिक, 2012-13 के दौरान अखिलेश यादव के पास राज्य के खनन मंत्रालय का भी प्रभार था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *