सीएम ने कहा…उद्योगपति बनाएंगे उद्योग नीति…जेम्स से टूटेगा रिश्ता..CSIDC से होगा व्यापार..पूर्व सीएम पर साधा निशाना

बिलासपुर— राष्ट्रीय व्यापार मेला का उद्घाटन भूपेश बघेल ने किया। मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल निर्धारित समय से थोड़ी विलम्ब से पहुंचे। दीप प्रज्जवलन के बाद मेला के आयोजक हरीश केडिया ने भी संक्षिप्त में लघु एवं व्यापार संघ के साथ मेला की उपलब्धियों को सारगर्भित रूप में पेश किया। मंच से नगर विधायक शैलेश पाण्डेय,उद्योग मंत्री कवासी लखमा के बाद अंतिम में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपनी बातों को रखा। सीएम ने कहा कि उद्योगपतियों से मिलने के बाद सरकार ने फैसला किया है कि अब व्यापारी और उद्योगपति ही औद्योगिक नीति की रूप रेखा बनाएंगे..सरकार समर्थन करेगी। सीएसआईडीसी से व्यापार होगा। केबिनेट में जेम्स से अनुबंध को खत्म करने का प्रस्ताव रखा जाएगा। उद्योगपतियों से निवेदन है कि नीति पर विचार करते समय इतना जरूर ध्यान रखें कि प्रदूषण कम और रोजगार ज्यादा पैदा करने वाली ही नीतियां हों।

                 व्यापार विहार स्थित 19 वें राष्ट्रीय व्यापार मेला का मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उद्घाटन किया। इस दौरान मंच पर उद्योग मंत्री कवासी लखमा, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, नगर विधायक शैलेश पाण्डेय, तखतपुर विधायक रश्मि सिंह, प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव,विजय केशरवानी,नरेन्द्र बोलर के अलावा प्रदेश के उद्योगपति और बैंकर भी मौजूद थे।

                         कार्यक्रम की उपलब्धियों पर आयोजकों की तरफ से छत्तीसगढ़ लघु एवं उद्योग संघ के अध्यक्ष हरीश केडिया ने प्रकाश डाला। नगर विधायक शैलेश पाण्डेय ने सभा को संबोधित किया। कवासी लखमा ने कहा कि प्रदेश के पन्द्रह सालों की अव्यवस्था से तंग आकर जनता ने कांग्रेस को भारी बहुमत से जिताया है। भूपेश बघेल की सरकार को किसानों और उद्योगपतियों के हितों का पूरा ख्याल है। किसी भी उद्योगपति को कोई परेशानी नहीं होगी। जो भी जरूरत होगी जनहित मेंं उसकी पूर्ति की जाएगी। इस दौरान मंच से पूर्व कांग्रेस नेता स्वर्गीय महेन्द्र कर्मा को भी याद किया गया।

सीएम का पूर्व सीएम और सरकार पर निशाना

             प्रदेश मुखिया भूपेश बघेल ने भाषण की शुरूआत पूर्व सीएम और सरकार पर निशाने के साथ शुरू किया। भूपेश ने कहा कि पिछले पन्द्रह सालों से सरकार ही व्यापार कर रही थी। कमीशन खोरी का बोलबाला था। अंत में पूर्व सीएम को कहना पड़ा कि सत्ता में बैठे लोग कमीशनखोरी एक साल के लिए बंद कर दें..सरकार बन जाएगी। लेकिन जनता ने व्यापार करने वाली सरकार को ही बाहर का रास्ता दिखा दिया।

रद्द करेंग जेम्स एग्रीमेन्ट…उद्योगपति बनाएं नीति…

          सीएम ने कहा समझ में नहीं आ हा है कि पिछली सरकार ने अपने ही उद्योगपतियों का हक मारकर जेम्स से समझौता क्यों किया। प्रदेश का व्यापार बेपटरी हो चुकी है। रोजगार और उद्योग को भारी नुकसान हुआ है। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। प्रदेश के सभी उद्योगपतियों से मिलने और परामर्श के बाद शासन ने पैसला किया है कि उद्योग का संचालन सीएसआईडीसी से ही होगा। भण्डारण,क्रय विक्रय की प्रक्रिया सीएसआईडीसी से ही होगी। उद्योगपति देश के विभिन्न राज्यों से सम्पर्क कर पता लगाएं कि उद्योग के लिए क्या कुछ बेहतर होगा। इसके बाद उद्योगपति नीति तेैयार करेंं। सरकार के साथ मिलकर बातचीत के बाद नई उद्योग नीति को लाएं। लेकिन नीति बनाते समय इतना जरूर ध्यान दें कि उद्योग नीति पर्यावण हितैषी और रोजगार मूलक हो।

                 भूपेश ने कहा कि अगली कैबिनेट बैठक में जैम्स से एग्रीमेन्ट को निरस्त करने का प्रस्ताव लाया जाएगा। व्यापार की जिम्मेदारी सीएसआईडीसी को दी जाएगी। उन्होने कहा कि मैं सभी उद्योगपतियों से निवेदन करता हूं कि जो भी सामाग्री निर्माण कार्य गुणवत्ता मूलक हो। क्योंकि हमारा दुर्भाग्य है कि हर तरफ कमीशनखोरी हो रही है। इस प्रकार की गड़बड़ी को नजरअंदाज नहीं किया जाएगा। क्योंकि सामाग्री उपयोग करने वाले भी आपके ही बच्चे और भाई ही हैं। भूपेश ने कहा कि उद्योगपतियों को उद्योग की सभी सुविधाएं दी जाएंगी। जैसा चांहेंगे वैसा किया जाएगा। उद्योग व्यापार विभाग केवल उद्योगपतियों के सहयोग के लिए है। परेशान करने के लिए नहीं है।

अब  उद्योगपति देंगे हमारा साथ

भूपेश बघेल ने कहा कि कांग्रेस ने ही व्यापार को बढ़ावा दिया है। हमारी कोशिश रहेगी की बाहर से भी उद्योगपति उद्योग लगाने प्रदेश में आएं। हरीश केडिया से मुखातिब होकर भूपेश ने कहा कि आप कुछ मांगे या नहीं मांगे। लेकिन मै तो दूंगा ही। क्योंकि कांग्रेस ने व्यापार और उद्योग को बढ़ावा दिया। ऐसा आगे भी रहेगा। राजस्व में इजाफा के लिए यह जरूरी भी है। पिछले पन्द्रह सालों में उद्योगपतियों और व्यापारियों ने हमें सहयोग नहीं किया। लेकिन इस बात समर्थन कर कांग्रेस को सरकार बनाने का अवसर दिया है। विश्वास है कि अगले पंचवर्षीय में हमें सबका सहयोग मिलेगा। इस दौरान मुख्यमंत्री ने हरीश केडिया से मजाक भी किया।

सीएम ने खाया बिलासपुर मेड पेठा

      भूपेश बघेल को जानकारी दी गई कि बिलासपुर के लघु उद्ममी सुनील जगवानी द्वारा उत्कृष्ट क्वालिटी का पेठा बनाया जाता है। पेठे के लिए प्रसिद्ध आगरा में भी इसकी अच्छी मांग है। पिछले दो सालों से वे पेठा बना रहे हैं। बिलासपुर में रखिया का पैदावार बहुतायत से होता है। इसलिये उन्होंने पेठा बनाने का उद्योग प्रारंभ किया है। मुख्यमंत्री बघेल ने पेठे का स्वाद लिया और तारीफ भी की।  उन्होंने कहा कि अन्य उद्यमियों को भी इससे प्रोत्साहन मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *