रसूखदार सरपंच पति फरार…खाली हाथ लौटी मुंगेली पुलिस…कोर्ट की नाराजगी और IG के फटकार के बाद हुई कार्रवाई

बिलासपुर— मुंगेली स्थित लालपुर में बेटी के ससुराल में लूटपाट के आरोपी सरपंच पति और सरपंच दोनों ही फरार है। बीती रात कोर्ट के निर्देश और आईजी की फटकार के बाद मुंगेली पुलिस आरोपियों को पकड़ने उस्लापुर स्थित घर गयी। लेकिन पुलिस के आने से पहले ही दोनों आरोपी फरार हो चुके थे। लेकिन मुंंगेली पुलिस ने दो आरोपियों को पकड़कर जेल के हवाले कर दिया है। फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है।

                                   मालूम हो कि तखतपुर के पूर्व  विधायक राजू सिंह क्षत्री के प्रतिनिधि अशोक सिंह समेत उसकी पत्नी और अन्य को लूटपाट के आरोपियों को पकड़ने मुंगेली पुलिस उस्लापुर पहुंची। लेकिन पुलिस के आने से पहले ही दोनों फरार हो चुके थे।पुलिस ने लूटपाट के आरोप में दो अन्य लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। बताते चलें कि उस्लापुर निवासी अशोक सिंह की पत्नी सरपंच है। अशोक सिंह सरकार बदलने से पहले तक तखतपुर विधायक राजू सिंह क्षत्री का प्रतिनिधी रह चुका है। अशोक सिंह की पत्नी वर्तमान में उस्लापुर की सरपंच है। सरपंच पति और पत्नी पर कई आरोप भी है। कई मामलों में पुलिस तलाश भी कर रही है।

                          ताजा घटनाक्रम में अशोक सिंह पर आरोप है कि उसने अपने आठ साथियों के साथ मुगेली के लालपुर स्थित बेटी के ससुराल घर में लूटपाट किया है। मामले थाने में भी दर्ज है। मालूम हो कि उस्लापुर सरपंच पति अशोक सिंह की बेटी की शादी मुंंगेली जिले के लालपुर में हुई है। बेटी ने अशोक सिंह और उस्लापुर सरपंच संतोषी के बहकावे में आकर थाने में  दहेज प्रताड़ना की रिपोर्ट दर्ज करायी थी। मामला कोर्ट तक पहुंचा। कोर्ट ने आदेश दिया कि लड़की के परिजनों को दहेज के सारे सामान को वापस किया जाए। इसके पहले पुलिस कार्रवाई होती अशोक सिंह,प्रीतम सिंंह,उस्लापुर महिला सरंपच संतोषी और अन्य पांच लोगों ने बेटी के घर में धावा बोल दिया। सारे जेवरात समेत अन्य सामान लूटपाट कर अपने घर ले गये। ससुराल वालों की शिकायत पर थाने में एफआईआर दर्ज किया गया। मामला कोर्ट तक पहुंचा। बार बार तलब के बाद भी अशोक सिंह और अन्य लोग कोर्ट नहीं गए।

कोर्ट ने आईजी को कहा..गिरफ्तार कर पेश करें

                    बार बार समन के बाद भी  आरोपी गण कोर्ट में उपस्थित नहीं हुए। कोर्ट ने आरोपियों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया। आईजी को निर्देश दिया कि आरोपियों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश करें। कोर्ट के आदेश आईजी के फटकार के बाद मुंगेली पुलिस सक्रिय हुई। बीती रात अशोक सिंह के उस्लापुर घर में छापामारी की। लेकिन आरोपी पत्नी के साथ फरार हो चुका था। पुलिस दो अन्य आरोपी एक महिला और प्रीतम सिंंह को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया है।

अशोक सिंह का राजनीतिक रसूख

                जानकारी के अनुसार मुंगेली पुलिस आरोपी अशोक सिंह को राजनीतिक रसूख के चलते गिरफ्तार नहीं कर पा रही थी। अशोक सिंह की पुलिस के साथ उठक बैठक भी दी। चूंकि तत्कालीन समय विधायक का प्रतिनिधि था। इसलिए पुलिस गिरफ्तार करने से बच रही थी। कोर्ट के फटकार के बाद आईजी के सख्त निर्देश पर मुंगेली पुलिस ने गिरफ्तारी का कदम उठाया। लेकिन आरोपी तब तक फरार हो चुका था। सूत्रों की मानें तो अशोक सिंह को पुलिस के अन्दर से ही जानकारी मिल चुकी थी कि उसे गिरफ्तार किया जाएगा। इसके पहले पुलिस घर पहुंंचे। पति और पत्नी दोनों फरार हो चुके थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *