अंतागढ़ टेपकांड–डॉ.पुनीत गुप्ता और मंतूराम पवार की याचिका सुनवाई टली…किरणमयी ने कराया है एफआईआर

बिलासपुर—-छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने अंतागढ़ टेपकांड मामले में पूर्व सीएम रमन सिंह के दामाद डॉ पुनीत गुप्ता और तत्कालीन कांग्रेस प्रत्याशी मंतूराम पवार की याचिका की सुनवाई की तारीख को आगामी तारीख की सुनवाई के लिए बढ़ा दिया है। मामले की सुनवाई अब 21 फरवरी को होगी।

                अंतागढ़ टेपकांड मामले में गिरफ्तारी से बचने डॉ.पूनीत गुप्ता और अंतागढ़ विधानसभा के तात्कालीन कांग्रेस प्रत्याशी मंतूराम पंवार ने याचिका दायर की है। दोनों ने अपने खिलाफ एफआईआर और एसआईटी जांच के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका लगाई है। मामले की सुनवाई जस्टिस सावंत की एकल पीठ करेगी।

               बताते चलें कि किरणमयी नायक ने अंतागढ़ के तत्कालीन कांग्रेस प्रत्याशी मंतूराम पवार के अलावा पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी और उनके बेटे अमित जोगी के खिलाफ 420 का अपराध दर्ज कराया है। इसके अलावा पूर्व सीएम रमन सिंह के दामाद पुनीत गुप्ताा और पूर्व पीडब्लूडी मंत्री राजेश मूणत के खिलाफ भी 420 के समेत भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

 मालूम हो कि अंतागढ़ सीट खाली होने के बाद 12 सितंबर 2014 को उप-चुनाव हुआ। चुनाव में भाजपा-कांग्रेस के अलावा 13 उम्मीदवार मैदान में थे। नाम वापसी के ठीक अंतिम समय में कांग्रेस प्रत्याशी मंतुराम ने नामांकन वापस ले लिया। नाम वापस लेने के बाद कांग्रेस पार्टी को समय भी नहीं मिला कि दुसरे प्रत्याशी को मैदान में उतार सके।

                   अंतागढ़ उप-चुनाव के एक साल बाद दिसंबर 2015 में मीडिया में अंतागढ़ चुनाव में खरीद-फरोख्त की खबरें प्रकाशित हुई। मामले को लेकर एक टेप भी सामने आया। टेम में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी समेत कुछ लोगों की आवाज की भी बात कही गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *