6 महीने अस्थायी स्टापेज देने का फैसला…रेलवे प्रशासन ने कहा…क्षेत्र को हरा-भरा बनाने मिलकर करेंगे प्रयास

बिलासपुर—दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे, बिलासपुर मंडल में साल  2019 की पहली प्रेम मिटिंग 6 मार्च को मंडल रेल प्रबंधक सभागार में हुई। बैठक अपर मंडल रेल प्रबंधक, सौरभ बंदोपाध्याय की अध्यक्षता में हुई। वरिय मंडल अभियंता समन्वय आर.के.सिंह, वरि.मंडल संरक्षा आयुक्त बी.एस.नाथ, वरिय मंडल यांत्रिक इंजीनियर समन्वय ललित धुरंधर, वरिय मंडल कार्मिक अधिकारी उदय भारती, वरिय मंडल वाणिज्य प्रबंधक विकास कश्यप समेत मंडल के सभी शाखाधिकारी  अलावा दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे मजदूर कांग्रेस के मंडल समन्वयक बी कृष्ण कुमार, कोषाध्यक्ष आर.के.यादव, संयुक्त सचिव जी.एस.आइच, ब्रांच सचिव पप्पू सिंह, अन्य पिछड़ा वर्ग रेलवे कर्मचारी एसोसिएशन बिलासपुर मंडल के संगठन सचिव डी.मुरलीधर एवं तुलसी उपस्थित थे।

                      बैठक में रेलवे क्षेत्र को और हरा-भरा और पर्यावरण अनुकूलन बनाने रोड के दोनों किनारे पौधारोपण को लेकर चर्चा हुई। स्पीड ब्रेकरों का सामान्यीकरण करने के मुद्दों पर बातचीत हुई। बैठक में रेलवे संगठन के मान्यता प्राप्त यूनियनों और एसोसिएशन के उपस्थित प्रतिनिधियों ने विषय पर अपने-अपने विचार रखे। साथ ही प्रत्येक विकास कार्यों में रेल प्रबंधन को सहयोग करने का आश्वासन भी दिया।

        अपर मंडल रेल प्रबंधक, सौरभ बंदोपाध्याय ने बैठक के अंत में यूनियन को सहयोग के लिये धन्यवाद दिया। दोनो महत्वपूर्ण मुद्दों पर समिति बनाकर सर्वे के बाद काम को यथाशीघ्र पूरा करने को कहा। कार्यक्रम का संचालन और आभार प्रदर्शन एल.आर.राउत, मंडल कार्मिक अधिकारी ने किया।
.

6 महीने तक अस्थायी स्टापेज का फैसला

                 रेलवे प्रशासन ने यात्रियों की सुविधाओं के मद्देनजर राजनांदगांव में दो बड़ी गाड़ियां का स्टापेज देने का फैसला किया है। यह निर्णय आगामी 6 तक प्रायोगिक रूप में रहेगा। इसके बाद समीक्षा में निर्णय सही पाए जाने पर स्टापेज देने का फैसला नियमित किया जाएगा।

          रेलवे प्रशासन ने यात्रियों की मांंग को ध्यान में रखते हुए दो बड़ी गाड़ियों को आगामी 6 महीने तक राजनांदगांव में स्टापेज देने का फैसला किया है। 6 महीने बाद यदि स्टापेज देने के फैसले को उचित पाया गया तो फैसले को नियमित किया जाएगा। रेल अधिकारियों ने बताया कि गाडी संख्या 22845/22846 पुणे-हटिया-पुणे का प्रायोगिक ठहराव 20 मार्च 2019 तक रायपुर मण्डल के राजनांदगांव स्टेशन के लिए दिया गया था।

              इसके अलावा गाडी संख्या 18407/18408 पुरी-शिरडी साईंनगर-पुरी एक्सप्रेस का प्रायोगिक ठहराव 14 मार्च 2019 तक रायपुर मंडल के ही राजनांदगांव स्टेशन में दिया गया था। यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए ठहराव की सुविधा का विस्तार आगामी 6 महीनों के लिए कर दिया गया है। अब गाडी संख्या 22845/22846 पुणे-हटिया-पुणे 20 सितम्बर 2019 तक और गाडी संख्या 18407/18408 पुरी-शिरडी साईंनगर-पुरी 14 सितम्बर 2019 तक राजनांदगांव में ठहराव रहेगी।

                             रेलवे प्रशासन ने उम्मीद जाहिर की है कि इस सुविधा से राजनांदगांव आने-जाने वाले यात्री लाभांवित होंगे। 6 महीने बाद निर्णय पर पुनर्विचार किया जाएगा। यदि निर्णय सही पाया गया तो दोनों गाड़ियों के ठहराव को नियमित किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *