समस्त शिक्षाकर्मियों के संविलियन से होगा समस्या का समाधान, विकास राजपूत बोले – समय पर वेतन की भी हो व्यवस्था

बिलासपुर।नवीन शिक्षाकर्मी संघ छ.ग.प्रदेश अध्यक्ष विकास सिंह राजपूत ने कहा है की राज्य मन्त्रिमण्डल के केबिनेट बैठक मे निर्णय के बाद स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा नया राजपत्र प्रकाशित करने की पूर्ण तैयारी कर लिया गया है जिसमे नया भर्ती ,पदोन्नति,स्थान्तरण नियम का प्रावधान शिक्षक(ई. टी.व एल.बी.संवर्ग) के सम्बन्ध मे किया जायेगा और बहु प्रतीक्षित राजपत्र के प्रकाशन के बाद भविष्य मे स्कूलो मे नया भर्ती शिक्षाकर्मी के स्थान पर शिक्षक के पद पर किया जायेगा जिसका नवीन शिक्षाकर्मी संघ ने राज्य केबिनेट मे लिए गये निर्णय का स्वागत करते हुए शिक्षक भर्ती के पहले 48000 हजार शिक्षाकर्मियों का स्कूल शिक्षा विभाग मे संविलियन करने की मांग राज्य के मुख्यमंत्री महोदय से किया है।CGWALL.COM के WhatsApp GROUP से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करे

साथ ही समय पर प्रदेश के शिक्षाकर्मियों को वेतन नही मिलना शासन प्रशासन की कमजोरी है जो लगातार बीस वर्षो से शिक्षाकर्मियों के लिए परेशानियों का सबब बना हुआ है वेतन समस्या से शिक्षाकर्मियों छुटकारा मिलने का एकमात्र उपाय वर्ष बन्धन समाप्त कर समस्त शिक्षाकर्मियों का स्कूल शिक्षा विभाग मे संविलियन करना ही है जब तक शिक्षाकर्मी शब्द जुड़ा रहेगा तब तक समय पर वेतन भुगतान करना व स्कूलो मे शिक्षाकर्मी के स्थान पर शिक्षक भर्ती करना मुश्किल लग रहा है।

यह भी पढे-प्रमोशन में आरक्षण पर सरकार की निष्क्रियता से ST/ SC कर्मचारी – अधिकारी नाराज,रायपुर में धरना 13 मार्च को

शासन प्रशासन चाहते है की प्रदेश के शिक्षाकर्मी व शिक्षक सड़क पर उतरकर विरोध प्रदर्शन न करे करके तो शिक्षक भर्ती के पहले आठ वर्ष का बन्धन समाप्त कर समस्त शिक्षाकर्मियों का संविलियन व दस वर्ष पूर्ण कर चुके संविलियन हुए शिक्षको को क्रमोन्नति वेतनमान प्रदान करने का निर्णय ले जिससे प्रदेश के समस्त शिक्षक संवर्ग पूरी ऊर्जा व उत्साह के साथ स्कूलो मे बच्चो को शिक्षा प्रदान कर सके साथ ही 3500 अनुकम्पा नियुक्ति की राह देख रहे दिवंगत शिक्षाकर्मियों के परिजनों को भी राहत प्रदान करते हुए शासकीय पदो पर अनुकम्पा नियुक्ति प्रदान करने का निवेदन राज्य मन्त्रिमण्डल से किया है।

यह भी पढे-कमलनाथ सरकार का ऐलान,मध्यप्रदेश में सामान्य वर्ग को दिया जाएगा 10% आरक्षण

विकास सिंह राजपूत ने कहा है की नवीन शिक्षाकर्मी संघ को उम्मीद है की प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री द्वारा इस सम्बन्ध जल्दी ही विचार कर सभी शिक्षाकर्मियों का संविलियन व क्रमोन्नति वेतनमान पर निर्णय ले लिया जायेगा जिससे जन घोषणापत्र मे शिक्षाकर्मियों से किये गये वादों को पूरा कर सकते है।नवीन शिक्षाकर्मी संघ प्रतिनिधि मण्डल जल्दी ही राज्य मन्त्रिमण्डल के सदस्यो व सम्बन्धित उच्च अधिकारियो से मुलाकात कर शिक्षक भर्ती प्रक्रिया के पहले आठ वर्ष का बन्धन समाप्त कर समस्त शिक्षाकर्मियों का स्कूल शिक्षा विभाग मे संविलियन की मांग को प्रमुखता से रखा जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *