शिक्षाकर्मी सेवा नियम के प्रकाशन में क्रमोन्नति वेतन विसंगति का जिक्र नहीं,फेडरेशन ने कहा – इसे भी शामिल करें

संविलियन,शिक्षाकर्मियों,chhattisgarh,pran,cps,ddoबिलासपुर।छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन के प्रंतीय संयोजक अश्वनी कुर्रे एवम जिला सचिव विनोद कुमार कोशले ने संयुक्त रूप से बताया कि शासन शिक्षा विभाग राजपत्र प्रकाशन कर दिया है,ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन के पदाधिकारियों ने विगत 2 मार्च को प्रदेशभर में राजपत्र प्रकाशन के लिए ज्ञापन सौपा था।जिला सचिव विनोद कुमार कोशले ने बताया कि निम्न बिन्दुओ का प्रकाशन हुआ,शिक्षा कर्मी से शिक्षक बनने संघर्ष की पूर्णता।CGWALL.COM के WhatsApp GROUP से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करे

प्रमुख बिंदू–

  • पदनाम के आगे एल बी नही लगेगा
  • व्याख्याता,शिक्षक,एवं सहायक शिक्षक ही रहेंगे, (ई संवर्ग,टी संवर्ग साथ ई एलबी एवं टी एलबी संवर्ग में)
  • एल बी शब्द पृथक कैडर की पहचान के लिए है पदनाम के साथ युक्त नहीं होगा*।
  • ई एलबी एवं टी एलबी संवर्ग के व्याख्याता द्वितीय श्रेणी/राजपत्रित होंगे*।
  • शिक्षक,प्रधानपाठक,व्याख्याता,कोच,प्राचार्य,सहायक संचालक,डीईओ सहित अन्य सभी उच्चतर पदों पर पदोन्नति की व्यवस्था दी गयी है*।

प्राचार्य पदोन्नति-शिक्षा एवं ट्राइबल विभाग के प्राचार्य के पदों पर कुल रिक्त के

  • 10 % पदों पर– 5 वर्ष के अनुभव वाले शासकीय शालाओं में कार्यरत ब्याख्याता व पंचायत में कार्यरत व्याख्याता व नगरी निकाय में कार्यरत व्याख्याता की सीमित परीक्षा के माध्यम से सीधी भर्ती द्वारा भरे जाएंगे
  •  65% पद*– ब्याख्याता ओं की पदोन्नति द्वारा भरे जाएंगे जिसमें से 70% पद व्याख्याताओं वह 30% पद एलबी संवर्ग के व्याख्याताओं के लिए होंगे
  •  25% पद– को पूर्व माध्यमिक शाला के प्रधान पाठक प्रशिक्षित स्नातकोत्तर की पदोन्नति द्वारा भरे जाएंगे जिसमें से 70% पद ई संवर्ग के प्रधान पाठक व 30% के पद एल बी संवर्ग के प्रधान पाठक द्वारा भरे जाएंगे। ठीक इसी प्रकार टी संवर्ग के लिए बिंदु क्रमांक एक दो और तीन लागू होगा।

व्याख्याता के पदों पर- पदोन्नति 50 % ई संवर्ग /टी संवर्ग तथा 50% ई एलबी संवर्ग एवं टी एलबी संवर्ग के शिक्षकों से की जाएगी। तथा 50 % पद सीधी भर्ती से भरा जाएगा।

  • शिक्षक के पद पर– 50 % पद सीधी भर्ती से व 50 % पद पदोन्नति से भरे जाएंगे, यदि ई संवर्ग व टी संवर्ग में फीडिंग कैडर में पर्याप्त संख्या में पात्र अभ्यर्थी नहीं है तो पदो को इस एल बी संवर्ग व टी एल बी संवर्ग की पदोन्नति द्वारा भरे जाएंगे
  • प्रधान पाठक (माध्यमिक शाला) में पदोन्नति–100 % पद पदोन्नति से भरा जाएगा जिसमे 50 % पद ई संवर्ग व 50 % पद ई एल बी संवर्ग से भरे जाएंगे। व्याख्याता के अनुरूप 50%-50% फीडिंग कैडर से होंगे
  • प्रधान पाठक प्राथमिक शाला– 100 % पद पदोन्नति से भरे जाएंगे, ई संवर्ग व टी संवर्ग में फीडिंग कैडर में पर्याप्त संख्या में पात्र अभ्यर्थी नहीं है तो पदो को इस एल बी संवर्ग व टी एल बी संवर्ग की पदोन्नति द्वारा भरे जाएंगे ।
  • ब्याख्याता शारीरिक शिक्षा– 100 % पद पी टी आई व्यायाम शिक्षक की पदोन्नति द्वारा भरे जाने का प्रवधान किया गया है, जिसके स्थान पर व्यायाम शिक्षक व व्यायाम एल बी शिक्षक के रेशियो के आधार पर पदोन्नति के लिए प्रावधान किया जावे।
  • सहायक शिक्षक विज्ञान को पदोन्नति– का प्रावधान नही किया गया है, पदोन्नति का प्रावधान बनाया जावे।
  • पदोन्नति हेतू 5 वर्ष एवं 3 वर्ष का अनुभव (समस्त ई एलबी एवं टी एलबी संवर्ग के शिक्षक अर्हता)
  • क्रमोन्नति, एवं वेतन विसंगति की समस्या पर कोई निर्णय नहीं,समस्या यथावत।
  • प्राचार्य,व्याख्याता एवं प्रधानपाठक माध्यमिक शाला के पदों पर अनुपातिक पदों का आबंटन नहीं होने से निराशा।

ई एवं टी संवर्ग के पश्चातवर्ती पदोन्नत शिक्षकों को बेहतर अवसर देने ज्यादा पद आबंटित किये गए है।सहायक शिक्षक संवर्ग की वेतन विसंगति विभाग की ओर से अमान्य 20-23 वर्षों से एक ही संस्था, एवं समकक्ष पद एवं योयता, अर्हता पर कार्य कर रहे एल बी संवर्ग के शिक्षकों को पदोन्नति के सीमित अवसर प्रदान किये गए हैं।वर्तमान व्याख्याता व शिक्षक संख्या अनुपात के आधार पर ई/टी संवर्ग तथा ई एलबी/टी एलबी संवर्ग के लिए पदोन्नति हेतु आबंटित पदों का अनुपात 10% : 90% होंना चाहिए।

20 से 23 वर्ष तक समान पात्रता, योग्यता वाले शिक्षक व व्याख्याता के लिए क्रमोन्नति के अवसर नही है,,प्रकाशित राजपत्र से कितने व्याख्याता व शिक्षक को पदोन्नति मिलेगी?? एक साथ नियुक्त शिक्षको को पद नही होने पर नियमानुसार तत्काल समयमान व क्रमोन्नति प्रावधानित करने की आवश्यकता।

प्राचार्य, व्याख्याता व प्रधान पाठक मिडिल के पद पर पदोन्नति के पद कार्यरत lb संख्या अनुपात में न्यूनतम व अन्यायपूर्ण है।प्रदेश भर के समस्त पंचायत एवं नगरीय निकाय के शिक्षकों को उनके दीर्घकालिक संघर्षों के प्रतिफल के रूप में शासकीय सेवा में शामिल कर भर्ती एवं सेवा शर्तों के प्रकाशन पर हार्दिक बधाई।शेष वंचित साथियों के लिए संविलियन एवं वेतन विसंगति व राजपत्र में पदोन्नति के पदों के समानुपातिक आबंटन हेतु संघर्ष जारी रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *