जब निगम कमिश्नर के तेवर देख सहमा ठेकेदार…पाण्डेय ने कहा….फार्मेट और विवरण के साथ बैठक में दें जानकारी

बिलासपुर— कमिश्नर प्रभाकर पाण्डेय ने बंधवापारा तालाब का निरीक्षण किया। साइट पर कार्य नहीं होने और प्रक्रिया का पालन नहीं होने पर ठेकेदार को कड़ी फटकार लगाई। नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। कमिश्नर पाण्डेय ने भविष्य में कार्य बंद होने की स्थिति मिलने पर कड़ी कार्रवाई करने की बात कही।
                 नगर निगम क्षेत्र में पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप में अमृत मिशन योजना के तहत करीब 6 करोड़ की लागत से हेमूनगर बंधवापारा तालाब का सौंदर्यीकरण कार्य किया जा रहा है। कार्य का जायजा लेने गुरूवार को कमिश्नर प्रभाकर पाण्डेय मौके पर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने ड्राइंग और डिजाइन देखकर तालाब के सौंदर्यीकरण कार्य की तकनीकी जानकारी ली। ड्राइंग में पार्किंग स्थल, वाटर रिचार्ज पाइंट, ग्रीनरी बेल्ट आदि की जानकारी उपस्थित कंसल्टेंट कंपनी के इंजीनियर ने दिए। कमिश्नर ने ठेकेदार को दो टूक कहा कि अब तक कार्ययोजना के तहत ग्रिल, फ्लोर के कार्य समेत ग्र्रीनरी विकास का काम पूरा हो जाना चाहिए था। लेकिन यहां कुछ भी ऐसा दिखाई नहीं दे रहा है। नाराज कमिश्नर ने ठेकेदार की जमकर क्लास ली।
          मुआयना के दौरान कमिश्नर पाण्डेय ने कहा कि तय कार्ययोजना के तहत कार्य नहीं होने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने तालाब के बीच बने ब्रीज के निर्माण और सिक्युरिटी गार्ड की व्यवस्था तत्काल करने को कहा। अनुबंध में तय कार्ययोजना के तहत समयसीमा में हो जाने वाले कार्य नहीं होने पर ठेकेदार को नोटिस जारी करने को कहा। ठेकेदार को गार्डन सौंदर्यीकरण कार्य शुरू करने और हर सप्ताहिक कार्यप्रगति की जानकारी देने की बात कही। निरीक्षण के दौरान कार्यपालन अभियंता पीके पंचायती, सुरेश बरूआ, समेत अमृत मिशन के अधिकारी और ठेकेदार मौजूद थे।
बैठक में रहने का आदेश
      निरीक्षण के दौरान हर सप्ताह महत्वपूर्ण कार्यों की बैठक में बंधवापारा तालाब निर्माण को भी जोड़ने के निर्देश कमिश्नर पाण्डेय ने दिए। ठेकेदार को हर सप्ताह निर्माण प्रगति की जानकारी देने को कहा। निर्धारित फार्मेट के साथ बैठक में उपपस्थित रहने का भी निर्देश दिया।
शहरवासियों को तोहफा
                कमिश्नर प्रभाकर पाण्डेय ने कहा कि करीब 25 एकड़ क्षेत्र में फैले  गार्डन के विकास से शहरवासियों को सैर-सपाटे के साथ मांगलिक और सामाजिक कार्य करने की सुविधा होगी। पीपीपी मॉडल के तहत 20 वर्षों के रख-रखाव के लिए टेंडर दिया गया। यहां सर्वसुविधा युक्त केंटीन के साथ बच्चों और युवाओं के मनोरंजन जैसे झूले, बोटिंग आदि की भी सुविधा मिलेगी। महत्वपूर्ण योजना को तय समय पर पूर्ण करना ही हमारा लक्ष्य होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *