Chhattisgarh-1 अप्रैल से अप्रशिक्षित शिक्षक स्कूलों में नही पढ़ा सकेंगे

♦शिक्षको को प्रशिक्षित करने डीएलएड कोर्स संचालित किया जा रहा
रायपुर।
केंद्र शासन के निर्देशानुसार 1 अप्रैल से ना केवल सरकारी बल्कि निजी स्कूलों में अप्रशिक्षित शिक्षक नहीं पढ़ा सकेंगे।अप्रशिक्षित शिक्षकों की नियुक्ति करने वाले स्कूलों को भी मान्यता प्रदान नहीं की जाएगी।स्कूलों में शिक्षा गुणवत्ता में सुधार के लिए प्रशिक्षित शिक्षकों की नियुक्ति पर जोर दिया गया है। इसके लिए पिछले साल मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने आदेश जारी कर सरकारी और निजी स्कूलों में कार्यरत सभी अप्रशिक्षित शिक्षकों को मार्च 2019 तक प्रशिक्षण प्राप्त करने के निर्देश जारी किए थे। उक्त अवधि इस महीने खत्म हो जाएगी।अप्रशिक्षित शिक्षकों के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट आफ ओपन स्कूलिंग के जरिए डीएलएड कोर्स शुरू किया गया है।सीजीवालडॉटकॉम के WhatsApp ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करे

स्वयं पोर्टल के जरिए से कोर्स का संचालन किया जा रहा है।अलग अलग चरणों में शिक्षक यहकोर्स कर रहे हैं। निर्देश के बाद भी प्रशिक्षण प्राप्त नहीं करने वाले शिक्षक स्कूलों में नहीं पढ़ा पाएंगे।मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश में सरकारी स्कूलों में नियमित भर्ती की प्रक्रिया शुरू हो गई है। 15000 पदों पर भर्ती होगी।इसके लिए B.Ed अनिवार्य है।वहीं निजी स्कूल संचालक भी प्रशिक्षित शिक्षकों की नियुक्ति नहीं कर सकेंगे।

यह भी पढे-संविलयन से वंचित शिक्षाकर्मियों को अब तक नहीं मिली तनख्वाह, बिना वेतन के मनेगा होली का त्यौहार

  • मान्यता के लिए आवेदन के साथ सभी शिक्षकों की शैक्षणिक योग्यता दस्तावेजों के साथ देना जरूरी है।

बिना प्रशिक्षित शिक्षकों की नियुक्ति करने वाली स्कूलों को मान्यता नहीं दी जाएगी।गौरतलब है कि मान्यता के लिए आवेदन करने वाले स्कूल संचालकों द्वारा शिक्षकों की योग्यता के संबंध में दी गई जानकारी का बारीकी से परीक्षण किया जा रहा है। रायपुर जिले में बड़ी संख्या में निजी स्कूलों के आवेदन मान्यता के लिए आए हैं।

यह भी पढे-Chhattisgarh-कांग्रेस की चौथी सूची जारी, छत्तीसगढ़ के पांच सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा

Comments

  1. Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *