एनडीए सरकार ने किया विकास..अमर ने कहा-दामाद को पकड़ना चुनावी स्टंट,कांग्रेस को दहाई अंक भी मुश्किल


बिलासपुर—
भारतीय जनता पार्टी बिलासपुर लोकसभा प्रत्याशी अरूण साव ने कहा यदि चुनाव में जीत हासिल होती है तो मेरी पहली प्राथमिकता हवाई सेवा को जल्द से प्रारंभ करवाना है। रेलवे भर्ती बोर्ड बिलासपुर को रिचार्ज करना है। साव ने इंकार नहीं किया कि कांग्रेस कार्यकाल में काम काज नहीं हुए..लेकिन उन्होने कहा कि बिलासपुर की सभी बड़ी उपलब्धियां एनडीए सरकार की हैं।पत्रकार वार्ता में पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल समेत जिले के सभी नेता मौजूद थे। अमर ने कहा मोदी मतलब विकास…और विकास का अर्थ मोदी है। हम इस बार दस से कम सीट नहीं जीतेंगे..बल्कि सीट की संख्या छत्तीसगढ़ में बढ़ेगी।बिलासपुर जिले के दिग्गज भाजपानेताओं की मौजूदगी में आज लोकसभा प्रत्याशी अरूण साव ने आज पत्रकारों के सामने अपनी बातों को रखा। ज्यादातर सवालों का जवाब पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल ने दी। सीजीवालडॉटकॉम के WhatsApp ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करे 

पत्रकार वार्ता में अरुण साव ने अपना परिचय दिया। बताया कि वह मुंगेली जिले के लोहरिया गांव से हैं। आरएएस से नाता है। बाद में युवा मोर्चा और संगठन की सेवा करने का अवसर मिला। दरी उठाया..संगठन ने विश्वास करते हुए लोकसभा चुनाव लड़ने का आदेश दिया है।

अरूण साव ने बताया कि चुनाव जीतने के बाद पहली प्राथमिकता बिलासपुर में हवाई सेवा शुरू करना है। जिले के विकास के लिए विकास की नई इबारत लिखना है। इस दौरान ज्यादातर सवालों का जवाब पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल ने दिया। अमर अग्रवाल पत्रकारों के सवालों से अरूण साव को ज्यादातर समय ना केवल बचाते नजर आए बल्कि जवाब भी देते रहे।

सवालों की झड़ी और अमर का जवाब

पत्रकार वार्ता के दौरान अरूण साव के पहचान की संकट को इंकार करते हुए अमर ने कहा..पहली बार जब मैं चुनाव लड़ा था..तब मेरे लिए भी पहचान की संकट थी। दरअसल चुनाव कार्यकर्ता लड़ता है। पार्टी की रीती और नीति से चुनाव लड़ा जाता है। भाजपा के कार्यकर्ता प्रत्याशी की पहचान बनाएंगे। 23 मई को अरूण साव जीत का प्रमाण पत्र भी लेंगे।

सवाल पर उलझे साव..दिया गोलमोल जवाब
आखिर क्या वजह थी कि भाजपा को सबका साथ सबका विकास का मुद्दा पीछे करना पड़ा। इस बार एक बार फिर मोदी सरकार का नारा लगाया जा रहा है। दो बार सवाल किए जाने के बाद भी अरूण साव बचते नजर आए। प्रयास के बाद भी गोलमोल जवाब देकर सवाल से अपना पीछा  छुड़ाया। अरूण साव बताने में कामयाब नहीं हुए कि आखिर सांसद लखन लाल साहू का टिकट क्यों काटा गया। जबकि उन्होने अन्य सांसदों से अच्छा नहीं तो खराब परमार्मेंन्स भी नहीं दिया है।

अमर ने संंभाला मोर्चा..सवालों के बाउंसरों को किया हुक
अरूण साव को सवालों के बीच उलझते देख पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल ने पत्रकारों के सवालों का सामना किया। उन्होने सवालों के बाउंसरों को हुक करने का प्रयास किया। अमर ने बताया इस बार हम चुनाव मेैदान विकास के साथ मोदी के चेहरे के साथ उतरेंगे। देश में मोदी का मतलब विकास..और विकास का मतलब मोदी है। चुनाव मोदी के चेहरे से लड़ा जाएगा। चूंकि लोकसभा चुनाव राष्ट्रीय होता है। इसलिए एक बार फिर मोदी सरकार हमारा नारा रहेगा।

विकास का सवाल..लड़खडाए साव
क्या देश या बिलासपुर का विकास केवल एनडीए के कार्यकाल में हुआ। यानि कांग्रेस ने कुछ नहीं किया। बहुत देर तक उधेड़बून के बीच साव ने बताया कि पिछले 50 सालों में बिलासपुर के विकास में एनडीए की भूमिका महत्वपूर्ण नही। मैने कांग्रेस के कार्यकाल में विकास हुआ कि बात नहीं कही। लेकिन इतना सच है कि बिलासपुर को हाईकोर्ट, रेलवे जोन, रेल लाइन विस्तार, नेशनल हाईवे, एनटीपीसी स्थापना जैसे बड़े कामों का श्रेय जाता है।

क्या जोगी से समर्थन मिल रहा

                 जनता कांग्रेस मैदान में नहीं है। इसका मतलब भाजपा को जोगी का समर्थन हासिल है। सवाल के जवाब में अमर ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं के दम पर चुनाव लड़ती है। इसमें जोगी की क्या भूमिका होगी। जोगी के चुनाव लड़ने या नहीं लड़ने से पार्टी का कोई सरोकार नहीं है।

72000 तो छोड़ो..दहाई अंक भी नहीं मिलेंगे

            सवाल के जवाब में राहुल गांधी की न्याय योजना पर तंज कसते हुए अमर ने कहा कि उनकी पार्टी के लोग ही योजना को लेकर चिंतित हैं। पूर्व वित्तमंत्री कहते हैं कि योजना को क्रमिक लाएंगे। आरबीआई पूर्व गवर्नर का राग कुछ अलग ही है। अमर ने कहा कि देश में कांग्रेस को दहाई अंक में सीट मिलना मुश्किल है। न्याय योजना की 72000 रूपए की बात दूर की है।

राजकीय दामाद..केवल चुनावी स्टंट… 

क्या राष्ट्रीय दामाद को बचाने राजकीय दामाद को निशाना बनाया जा रहा है। सवाल के जवाब में अमर ने कहा कि यह सब चुनावी स्टंट है। राष्ट्रीय दामाद से ध्यान भटकाने के लिए राजकीय दामाद को निशाना बनाया जा रहा है। सोचने वाली बात है..वाड्रा का मामला कोर्ट में है..चालान पेश कर दिया गया है। अभी पुनीत गुप्ता का मामला पूछताछ में है। आरोप सिद्ध नहीं हुआ है। मेरा मानना है कि यह सब चुनावी स्टंट है। मुख्यमंत्री मान लें कि वह मंसूबों में कामयाब नहीं होने वाले हैं। दामाद को सीएम नहीं पकड़ सकेंगे।

अमर ने कहा..विकास के प्रति उदासीन

योजनाओं के सवाल जवाब पर अमर ने कहा भूपेश सरकार किसानों के लिए ही नहीं बल्कि अन्य लोगों के विकास को लेकर पूरी तरह उदासीन है। चाहे उज्ज्वला योजना हो या खाद्य योजना…। किसानों की सूची मांगी गयी है..लेकिन अभी तक मुख्यमंत्री ने केन्द्र सरकार को सूची तक नही दिया है। किसानों का सम्मान निधि दिया जाना है। आज भी केन्द्र सरकार को सूची का इंतजार है। और सीएम अपने में मगन हैं।

विरोध करने वाले जा रहे मंदिर

राममंदिर के सवाल पर अमर ने कहा कि मंदिर कब बनेगा…सबको मालूम चल जाएगा। राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि अब तो मंदिर निर्माण का विरोध करने वाले ही मंदिर जा रहे हैं। उनसे भी पूछें कि मंदिर का निर्माण कब होगा। फिलहाल मामला कोर्ट में है इसलिए ज्यादा कहना उचित नहीं है।

आंकड़ों का भ्रम जाल

गरीबी के सवाल पर अमर ने कहा कि परिभाषित करना होगा कि गरीब कौन है। यह आंकड़ों का भ्रम जाल है। सच तो यह है कि बेरोजगारी घटी है। गरीब कम हुए हैं। जीवन स्तर में सुधार हुआ है। आठ करोड़ लोगों ने मुद्रा लोन लिया है। योजना का लाभ लिए जाने का सीधा अर्थ है बेरोजगारी में कमी आयी है..लोग गरीबी रेखा से बाहर आए हैं। केवल सरकारी नौकरी मिलना ही…रोजगारी का पैमाना नहीं है।

अमर ने कहा देश की सुरक्षा, किसानों, मजदूरों, महिलाओं और व्यवसायियों के साथ युवाओं का हित मोदी के नेतृत्व में है। देश नेतृत्तव देने को तैयार भी है।

                 पत्रकार वार्ता में पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल, विधायक डॉ. कृष्ण मूर्ति बांधी, हर्षिता पाण्डेय, राजू क्षत्रीय, महापौर किशोर राय, तोखन साहू, सांसद लखन लाल साहू, भूपेन्द्र सवन्नी भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *