स्टेशन से लगे मोबाइल दुकानों को बनाता था निशाना…4 बार जा चुका है जेल…5 वी बार चढ़ा बिलासपुर पुलिस के हत्थे

बिलासपुर— पुलिस ने घूम घूम कर कई जिलों और राज्यों में मोबाइल चोरी की घटना को अंजाम  देने वाले चोर को रायपुर से धर दबोचा है। आरोपी साल 2013 से मोबाइल समेत अन्य सामानों की चोरी की घटना को अंजाम देता था। चोरी के आरोप में चार बार जेल की भी हवा खा चुका है। आरोपी को सीसीटीवी फुटेज के सहारे क्राइम ब्रांच पुलिस के सहयोग से पकड़ा गया है। आज एक प्रेस वार्ता में जिले के पुलिस कप्तान अभिषेक मीणा मामले की जानकारी दी।

                         बिलासपुर पुलिस ने मोबाइल चोरी करने वाले घुमन्तू शातिर चोर को धर दबोचा है। आरोपी का नाम यादराम पटेल ऊर्फ पुनीत पटेल है। पिता का स्वर्गवास हो चुका है। उसके घर में केवल बूढी मां है। आरोपी यादराम खरौद जिला महासमुन्द का रहने वाला है। पिछले कुछ समय उसने अपना ठिकाना उड़ीसा राज्य के गांव लठौर थाना पटनागढ जिला बालांगीर को बनाया है।

                        प्रेस वार्ता में पुलिस कप्तान अभिषेक मीणा ने बताया कि तोरवा समेत अन्य थानों को लगातार शिकायत मिल रही थी कि शातिर मोबाइल चोर ने दुकानदारों के नाक में दम कर दिया है। लगातार मिल रही शिकायत के बाद एडिश्नल एसपी ओ.पी.शर्मा और डीएसपी प्रवीर चन्द्र राय को निर्देश दिया गया कि टीम बनाकर मामले पर नजर रखें. आरोपी को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए।

                 एसपी मीणा ने बताया कि 14 फरवरी को बुधवारी बाजार स्थित मोबाइल दुकानदार ने तोरवा थाने में चोरी की शिकायत की। शिकायत कर्ता रोहित पोपटानी ने बताया कि अज्ञात चोर ने टीन की छत को काटकर चोरी की घटना को अंजाम दिया है। आरोपी ने दुकान से विभिन्न कम्पनियों की 8 मोबाइल के अलावा 28 मेमोरी कार्ड, 8 नग चार्जर, 25 नग इयर फोन समेत करीब एक लाख रूपए का सामान पार कर दिया है। शिकायत पर धारा 457, 380 के तहत मामला दर्ज किया गया।

                   पुलिस कप्तान ने यह भी बताया कि बुधवारी बाजार के ही एक अन्य मोबाइल दुकानदार ने बताया कि उसके दुकान में भी चोरी हुई है। दुकान संचालक तुलसीदास पोपटानी की शिकायत पर चोरी का मामला तोरवा थाने में दर्ज किया गया। तुलसीदास ने बताया कि पांच और छः मार्च की दरमियानी रात को चोरी की घटना को अंजाम दिया गया। आरोपियों ने 8 नग मोबाइल समेत चार हजार रूपए पर हाथ साफ किया।

                          इसके अलावा बुधवारी बाजार के ही शगुन गिफ्ट मोबाइल के संचालक गुरूचरण सिंह राजपाल ने तोरवा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराया कि 24-25 मार्ट के बीच चोरो ने घटना को अंजाम दिया है।एजबेस्टस सीट काटकर दुकान में अज्ञात चोर दुकान में घुसे और 18 नग मोबाइल,पेन ड्राइव, मेमोरी कार्ड समेत अन्य सामानों की चोरी की है।

                          शिकायत के बाद पुलिस टीम ने जांच पड़ताल शुरू की। आस पास के कैमरा और रेलवे स्टेशन के सीसीटीवी को खंगाला गया। साइबर सेल ने बताया कि फुटेज में एक व्यक्ति की पहचान कुछ कामन है। जांच पड़ताल में जानकारी मिली कि संदेही व्यक्ति का नाम यादराम पटेल खरौद महासमुन्द का रहने वाला है। इसके पहले वह कई स्थानों में चोरी के आरोप में जेल जा चुका है। पुलिस को जानकारी मिली कि यादराम पटेल अपने घर में नहीं रहता। किसी को नहीं मालूम कि आजकल वह कहां रहता है।

पुलिस कप्तान ने बताया कि इसी दौरान मुखबिर से जानकारी मिली कि यादराम राम पटेल इस समय रायपुर रेलवे स्टेशन के आस पास घूम रहा है। पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए उसे धर दबोचा। पूछताछ में उसने चोरी की वारदात करना स्वीकार किया। उसने बताया कि इस समय वह बांलांगीर को ठिकाना बनाया है। चोरी की सारी मोबाइल उसी घर में छिपा कर रखा है। यादराम पटेल ने यह भी जानकारी दी कि उसने एक मोबाइल उड़ीसा में बरगढ़ जिला निवासी चिन्मयानन्द को बेचा है। इसके अलावा एक मोबाइल तीन हजार में झारसुगड़ा के रवि कश्यप को बेचना बताया।

पुलिस ने दोनों खरीदार समेत मोबाइल को जब्त कर लिया है। पुलिस कप्तान के अनुसार यादराम पटेल साल 2013 से चोरी की वारदात को अंजाम दे रहा है। उसने छत्तीसगढ़ समेत मध्यप्रदेश और उड़ीसा राज्य के कई जिलों में मोबाइल चोरी की घटना को अंजाम दिया है। अभी तक चोरी के आरोप में कुल चार बार जेल जा चुका है। रायपुर, महासमुन्द,नवापाड़ा और झारसुगड़ा पुलिस के हत्थे चढ़ चुका है।

यादराम ने पुलिस को बताया कि वह 7 फरवरी को झारसुगड़ा जेल से छुटने के बाद लगातार रेलवे की यात्रा कर रहा है। इसी दौरान बिलासपुर स्टेशन के बुधवारी बाजार, सम्बलपुर उड़ीसा और अनूपपुर में स्टेशन के किनारे मोबाइल दुकानों को निशाना बनाया। छत काटकर मोबाइल , लैपटाप समेत सामानों को पार किया।

आरोपी के साथ खरीदार गिरफ्तार

पुलिस ने यादराम पटेल समेत दो अन्य मोबाइल खरीदार रवि कश्यप और चिन्मयानन्द को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। आरोपियों के पास कुल 6 लाख का सामान भी बरामद कर लिया गया है। पुलिस कप्तान ने यह भी बताया कि एक खरीदार को पहले ही पकड़ा जा चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *