भाजपा के कठपुतलियों ने रोका विकास…पीछे छूटा शहर और किसान…एक छत के नीचे होगा अन्नदाताओं का काम

 बिलासपुर—किसी भी क्षेत्र के समुचित विकास के लिए क्षेत्र की आवागमन व्यवस्था का विकसित होना बहुत जरूरी है। यदि कनेक्टिवटी ठीक होगी तो क्षेत्र का विकास स्वमेव होने लगता है। लेकिन समय के साथ बिलासपुर आगे होकर भी बहुत पीछे छूट गया। यदि समय रहते बिलासपुर में हवाई सेवा के साथ रेल का विस्तार ठीक से किया जाता तो आज बिलासपुर प्रदेश का ही नहीं बल्कि देश का चर्चित शहर होता है। बिलासपुर अपने आप आप में स्मार्ट होता। यह बातें जनसम्पर्क अभियान के दौरान बिलासपुर लोकसभा से कांग्रेस प्रत्याशी अटल श्रीवास्तव ने कही।
                            अटल श्रीवास्तव ने गहन जनसंपर्क अभियान के दौरान जनता जनार्दन के बीच पहुंचे। उन्होने कहा कि विकास में बिलासपुर गति बहुत धीमी है। इतनी धीमी की प्रदेश के अन्य शहर जो कभी बिलासपुर जिले से बहुत पीछे थे..आज विकास में बहुत आगे निकल गए हैं। इसकी मुख्य वजय बिलासपुर में कनेक्टिविटी का समुहित विकास का नहीं होना है। पिछले पन्द्रह सालों में कमजोर नेतृत्व ने हमारे शहर को विकास में बहुत पीछे धकेल दिया है। अटल ने कहा कि कहने को तो बिलासपुर कमाऊ पूत है..लेकिन विकास किसी दूसरे शहर या देश के अन्य स्थानों का हो रहा है।
                  यदि समय रहते रेल कनेक्टिविट प्राथमिकता में होती तो मुंगेली से लेकर कोरबा कटघोरा, डोंगरगढ़ हमाारी आसान पहुंच होती। हवाई सेवा नहीं होने से देश के अन्य महानगरों से व्यापारिक दूरियां बढ़ गयी हैं । यही कारण है कि हम विकास की गति से कदम ताल नहीं कर पा रहे हैं। अटल ने क्षेत्र में गिरते भू जल स्तर पर चिंता जाहिर की। उन्होने कहा कि जीवनदायिनी नदियों के संरक्षण और उद्धार के लिए गंभीर कदम उठाना होगा।  सभी ब्लाॅकों में किसानों के लिए एक छत के नीचे सारी समस्याओं के समाधान के लिए किसान सेवा केन्द्रों की स्थापना बहुत जरूरी है। शुद्ध पेय जल की जटिल समस्या का निराकरण प्राथमिकता के साथ करने की जरूरत है। नहरों और सिंचाई संसाधनों के विस्तार की आवश्यकता है। किसानों को परंपरागत खेती की जगह उन्नत खेती के लिए प्रशिक्षण पर जोर आज की मांग है। अफसोस कि प्रदेश की पिछली सरकार ने ध्यान नहीं दिया। केन्द्र सरकार ने भी मुद्दों को गंभीरता से नहीं लिया। अटल श्रीवास्तव ने कहा कि जनता का आर्शीवाद मिला तो बिलासपुर के समुचित विकास के लिए तन मन को झोंक दूंगा।
               बिलासपुर लोकसभा की बेलतरा विधानसभा में जनसंपर्क कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस प्रत्याशी अटल श्रीवास्तव का शहर से लेकर ग्रामीण जन जीवन आत्मीय स्वागत किया। अटल ने खमतराई, बिरकोना, सेंदरी, लिंगियाडीह से लेकर अकलतरी, गढ़वट समेत लगभग 24 गावों में जनता से जीवन्त संवाद किया। लोगों की समस्याओं को गंभीरता से सुना और जीत के बाद उन्हें प्राथमिकता के आधार पर दूर करने की बात कही।
                         अटल श्रीवास्तव ने बैमा पहुंचकर मां महामाया का दर्शन कर प्रदेश की जनता के लिए सुख समृद्धि और कांग्रेस के लिए जीत का आशीर्वाद मांगा। इस दौरान अटल ने  बेलतरा क्षेत्र की जीवनदायिनी अरपा से लेकर खारंग और मुंगेली जिले की प्रमुख नदी आगर के संरक्षण का संकल्प लिया। अटल ने कहा कि नदियों के प्रति संवैधानिक पदों पर बैठे लोगों की उदासीनता ने भयावह स्थितियों को जन्म दिया है। नदियों को संरक्षण और पुर्नजीवित करना हमारा दृढ़ संकल्प है। अटल ने दुहराया कि किसानों को राशन कार्ड, कर्ज लेने, समर्थन मूल्य पर धान बेचने जैसे सभी कार्य  एक छत के नीचे होनी चाहिए। जीत के बाद किसान सेवा केन्द्र स्थापना को प्राथमिकता के आधार पर लूंगा।
                               बिलासपुर जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी ने कहा कि बिलासपुर क्षेत्र ने पिछले 23 वर्षों से सांसद जैसे पद की कोई सक्रियता नहीं देखी गयी। बिलासपुर क्षेत्र मेें भाजपा के बड़े नेताओं ने अपनी कठपुतली को चेहरा बदल बदलकर जनता पर थोपा है। इस बार जनता भाजपा की को समझ चुकी है। झांसे में नहीं आने वाली है। पूर्व विधायक चंद्रप्रकाश वाजपेयी, राजेन्द्र साहू, भुवनेश्वर यादव, रमेश कौशिक, विष्णु यादव, अजय सिंह, अशोक शुक्ला, त्रिलोक श्रीवास ने भी जनता को संबोधित किया। जिला कांग्रेस प्रवक्ता अनिल सिंह चैहान ने बताया कि कांग्रेस प्रत्याशी अटल श्रीवास्वत ने बिलासपुर संसदीय क्षेत्र के लिए अपना विजन, विकास का रोडमेप, प्राथमिकताओं को तय कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *