ग्रीष्म कालीन अवकाश पर शिक्षकों को काम पर लगाना अनुचित, संघ ने सौंपा ज्ञापन

रायगढ़।छत्तीसगढ़ पंचायत नगरीय निकाय शिक्षक संघ रायगढ़ इकाई ने रायगढ़ कलेक्टर को ग्रीष्मकालीन अवकाश में समर कैंप और तेंदूपत्ता संग्रहण कार्य से शिक्षकों को कार्यमुक्त करने के लिए ज्ञापन सौंपा है। अपने ज्ञापन में संघ ने लिखा है कि शासन के नियमानुसार हर साल शिक्षकों को ग्रीष्मकालीन अवकाश दिया जाता है।इसके लिए उन्हें अन्य कर्मचारियों से आधा अर्जित अवकाश मिलता है। शिक्षक का कार्य मानसिक कार्य है,स्वस्थ्य मानसिकता से ही शिक्षक का कार्य संपन्न हो सकता है। इसलिए भीषण गर्मी के चलते मानसिक रूप से स्वस्थ होकर नए सत्र की तैयारी के साथ काम शुरू करने के लिए छात्रों सहित शिक्षकों को ग्रीष्मावकाश दिया जाता है। सीजीवालडॉटकॉम के Whatsapp ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

लेकिन गर्मी में ग्रीष्मावकाश बंद कर समर कैंप या उपचारात्मक शिक्षण कार्य लेना अनुचित है। जिससे निश्चित ही शिक्षकीय जैसे पेशी में विपरीत प्रभाव पड़ेगा।साथ ही तेंदूपत्ता कार्य ग्रीष्मकालीन अवकाश से मुक्त कर भीषण गर्मी में शिक्षकों को कार्य कराना भी अनुचित है।

एक तरफ भीषण गर्मी को देखते हुए छात्रों का स्वास्थ्य खराब ना हो उन्हें लू आदि न लग जाए कहते हुए सत्र अप्रैल में पूर्ण होने के पहले से पहले ही छात्रों के लिए अवकाश घोषित कर दिया गया लेकिन दूसरी तरफ उन्हें बच्चों को बुलाकर समर कैंप के लिए आदेशित करना समझ से परे है। जो एक कार्य में दोहरा चरित्र दर्शाता ह।शिक्षकीय कार्य मानसिक कार्य है जिसमें ग्रीष्मकालीन अवकाश के बाद स्वस्थ मानसिकता के साथ नए सत्र की तैयारी के साथ काम शुरू करने के लिए छात्रों सहित शिक्षकों को ग्रीष्मकालीन अवकाश दिया जाता है।

आज के प्रतिनधिमण्डल में नेतराम साहू प्रांतीय संगठन सचिव, बिनेश भगत ज़िला महासचिव, शैलेन्द्र मिश्रा ज़िला प्रवक्ता व मीडिया प्रभारी, नोहर सिदार ज़िला सह सचिव, राजकमल पटेल विख अध्यक्ष रायगढ़, सौरभ पटेल सचिव, निशा गौतम सह संयोजक महिला प्रकोष्ठ, सूरज प्रकाश कश्यप कोषाध्यक्ष, निशा गौतम, अनिल यादव अध्यक्ष शिक्षक संघ, करीम उल्ला खां कार्यकारी अध्यक्ष कृषि, मनोज पांडेय जिलाध्यक्ष लि व कर्म संघ व साथी सम्मिलित थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *