फोनी तूफान का छत्तीसगढ़ में होगा आंशिक असर : CS ने सभी कलेक्टरों को कड़ी निगरानी और सजग रहने कहा

रायपुर।प्रदेश के मुख्य सचिव सुनील कुजूर ने बंगाल की खाडी में बने दबाव से समुद्री तूफान फोनी के कारण छत्तीसगढ़ राज्य में बन सकने वाले आंधी-तूफान की संभावनाओं को देखते हुए सभी कलेक्टरों को स्थिति पर कड़ी निगरानी और सजगता रखने के निर्देश दिए है। मुख्य सचिव ने इसी तरह सभी संभागीय कमिश्नरों को भी आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है।

मुख्य सचिव ने इस संबंध में आज राज्य शासन के वरिष्ठ अधिकारियों की एक बैठक लेकर फोनी तूफान की स्थिति तथा छत्तीसगढ़ राज्य में इससे होने सकने वाले प्रभावों एवं संभावनाआंे पर चर्चा की। उल्लेखनीय है कि भारत सरकार के मौसम विभाग द्वारा बंगाल की खाड़ी में बने दबाव से फोनी तूफान के कारण प्रदेश में आंधी-तूफान की स्थिति निर्मित होने की आशंका जताई गई है।

उनकी रिपोर्ट में बताया है कि फोनी अब चक्रवाती तूफानों से सुपर साइक्लोन में बदल गया है। इस कारण छत्तीसगढ़ राज्य में भी फोनी तूफान का आंशिक असर होगा।

छत्तीसगढ़ शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के सचिव एवं राहत आयुक्त ने इस संबंध में राज्य के सभी कलेक्टरों को पत्र जारी कर आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। इस पत्र में निर्देशित किया गया है कि फोनी तूफान के कारण छत्तीसगढ़ के आंध्रप्रदेश और ओडिशा राज्य से लगे क्षेत्र में विशेष रूप से अधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता है। पत्र में जिला कलेक्टरों को सभी संबंधित अधिकारियों एवं कर्मचारियों के साथ-साथ जन समुदाय को भी फोनी आंधी-तूफान के संबंध में सावधानी बरतने तथा स्थिति से निपटने के लिए जागरूक एवं सचेत किए जाने के निर्देश दिए गए हैं।

कलेक्टरों से कहा गया है कि यदि फोनी आंधी-तूफान से किसी प्रकार से क्षति होती है तो आर.बी.सी 6-4 में निहित प्रावधानों के अनुसार प्रभावितों को तत्काल आर्थिक अनुदान सहायता राशि उपलब्ध कराने की कार्रवाई की जाए तथा इसकी जानकारी ई-मेल तथा फैक्स आदि के माध्यम से भी तत्काल राज्य शासन को भेजी जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *