राजनैतिक लोगों के खिलाफ दर्ज मामले वापस होंगे,चोवादास-तरुण-दिलीप-विक्रम के खिलाफ मामले भी होंगे वापस

तखतपुर(टेकचंद कारड़ा)।राजनीतिक दलों के नेताओं और कार्यकर्ताओं पर हुए मामलों पर सरकार थाने में दर्ज मामलों को वापस लेगी. जिसमें जराहागांव पथरिया क्षेत्र के पूर्व विधायक चोवादास खांडेकर पार्षद पुत्र दिलीप तोलानी पूर्व जनपद अध्यक्ष तरुण खांडेकर भाजपा युवा नेता विक्रम प्रताप सिंह सहित अन्य राजनीति क्षेत्र में कार्य करने वाले जनप्रतिनिधियों के जो मामले थाने में दर्ज हैं। वे सभी मामले कांग्रेस सरकार आचार संहिता के समाप्त होने के बाद वापस ले लेगी।

कांग्रेस की नई सरकार गठन के बादकांगेस और अन्य राजनीनतक दलो पर दुर्भावना वास कराए गए दर्ज मामले को सरकार वापस लेगी। आचारसंहिता खतम होने के बाद इस कांग्रेसी सरकार बैठक लेकर निर्णय ले लेगी।

जिसमे राजनीतिक दलों के नेताओं और कार्यकर्ताओं पर हुए मामलों पर सरकार थाने में दर्ज मामलों को वापस लेगी जिसमें जराहागांव पथरिया क्षेत्र के पूर्व विधायक चोवादास खांडेकर के विरुद्ध लोकसभा चुनाव में मकराल यादव के साथ अपहरण कर मारपीट करने पार्षद पुत्र दिलीप तोलानी के विरुद्ध गौ हत्या तखतपुर में जब हुई थी।

तब पुलिस को बचाते वक्त इन्हें देखा गया था पर दुर्भावनावस इन के विरुद्ध में मामला दर्ज किया गया था।पूर्व जनपद अध्यक्ष तरुण खांडेकर से पुलिस के बीच कोई मामूली विवाद को लेकर तूल दिया गया था।और इसके भाई और उनके ऊपर अपराध पंजीबद्ध किया था भाजपा युवा नेता विक्रम प्रताप सिंह ने होली के 1 दिन पहले एक कार्यकर्ताओं को थाने में छुड़वाने को लेकर हुए विवाद में पुलिस ने अपराध पंजीबद्ध किया था।

इसके सहित अन्य राजनीति क्षेत्र में कार्य करने वाले जनप्रतिनिधियों के जो मामले थाने में दर्ज हैं वे सभी मामले कांग्रेस सरकार आचार संहिता के समाप्त होने के बाद वापस ले लेगी और उन जनप्रतिनिधियों को राहत मिलेगी जो सार्वजनिक क्षेत्र में लड़ाई लड़ते हुए किन्हीं कारणों से दबाव पूर्वक पुलिस ने राजनीतिक मामले दर्ज कराए है।

इन सभी मामलों को वर्तमान की कांग्रेस सरकार के मुखिया भूपेश बघेल आने वाले समय में रायपुर में आयोजित बैठक में मामले वापसी पर निर्णय ले लेगी जिसके लिए अमलीजामा पहनाया जाने लगा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *