जनता कांग्रेस नेता ने कहा…दोषमुक्त होने के बाद ही लिखें साध्वी…बताया भाजपा के पास नेताओं की कमी

रायपुर—जनता कांग्रेस मीडिया प्रमुख और मध्यप्रदेश पाठ्यपुस्तक निगम के पूर्व अध्यक्ष वरिष्ठ अधिवक्ता इकबाल अहमद रिजवी ने भोपाल भाजपा प्रत्याशी को आड़े हाथ लिया है। रिजवी ने कहा  कि भोपाल लोकसभा की भाजपा प्रत्याशी और मालेगांव बम बलास्ट की आरोपी प्रज्ञा ठाकुर जब तक जघन्य हत्याकांड प्रकरण में अदालत निदोष सिद्ध न करे उन्हें मानवता के नाते अपने नाम के आगे साध्वी शब्द लिखना नही चाहिए। इससे समाज में साधु, संत और सन्यासियों की अस्मिता खंडित होती है। प्रज्ञा ठाकुर को चाहिए था कि वह संघ एवं भाजपा के शीर्ष नेतृत्व से प्रत्याशी बनने के पूर्व ही यह शर्त रखती कि जिस तरह उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर चल रहे हत्या और हत्या के प्रयास के प्रकरणो को शासन ने जनहित में वापस लिया उसी प्रक्रिया का अनुशरण भाजपा उनके बारे में भी ले सकती थी।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करे
                 रिजवी ने प्रेस नोट जारी कर कहा कि चुनाव में भोपाल से प्रत्याशी बनाने के पूर्व ही उन्हें भी बम कांड में योगी आदित्यनाथ के समान ही क्लीन चिट दी जा सकती थी।  प्रज्ञा ठाकुर चुनाव प्रचार के दौरान हत्या की आरोपी कहलाने से भी बच जाती। प्रज्ञा ठाकुर का नाम अंतिम क्षणों में एका-एक आऊटसोर्सिग प्रत्याशी के रूप में भोपाल लोकसभा से उन्हें चुनाव में उतारा गया। मतों के ध्रुवीकरण करने का भाजपा ने कु्त्सित प्रयास किया है। यह सिद्ध करता है कि भाजपा के पास भोपाल से लोकसभा प्रत्याशी बनाये जाने कोई बेदाग या साफ-सुथरा चेहरा नही था। भाजपा के नेताओ और कार्यकर्ताओं की उपेक्षा और अनदेखी का खामियाजा चुनाव में भुगतना पडे़गा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *