अमर अग्रवाल ने कहा..नेता नहीं..पार्टी का कार्यकर्ता और जनता का सेवक हूं…भविष्य के प्रशासकों को दिया खुलकर जवाब

बिलासपुर— भविष्य के अधिकारियों को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल ने कहा कि  मन की एकाग्रता दढ़ इच्छा शक्ति के दम पर लक्ष्य को हासिल किया जाता है। अमर ने कोचिंग छात्रों को मोटिवेट किया। उन्होने इस दौरान अपने मंत्रीतत्व कार्यकाल के अनुभवों को साझा किया। बच्चों को महत्वपूर्ण सुझाव भी दिए। एक-एक सवालों का जवाब भी दिया। अग्रवाल ने कहा अगर आप के मन में कोई भी विचार आते है तो उसका समाधान भी आवश्यक है। मन में किसी भी प्रकार का कोई शंका है तो उसे भी दूर करना जरूरी है।
                      अमर अग्रवाल ने छात्रों को भविष्य की संभानाएं बताया। उन्होने कहा कि सुदूर क्षेत्र से सपने लेकर आए हैं। पालक चाहता है कि हमारा हमसे बेहतर और कामयाब इंसान बने। गरीब से गरीब परिवार अपने बच्चों की अच्छी शिक्षा पर ध्यान दे रहा है। इसकी एक मात्र वजह जीवन को बेहतर बनाना है। आज छत्तीसगढ़ में शिक्षा का स्तर तेजी से उपर उठा है। बिलासपुर शिक्षा का हब बनते जा रहा है।आप लोग कड़ी मेहनत इमानदारी के साथ संकल्प लेकर अपनी पढ़ाई कर रहे है। निश्चित ही आप सभी लोग कामयाब होगे। मेरी शुभकामनायें आप के साथ है। आप
                   अग्रवाल ने बच्चों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि बिलासपुर स्मार्ट सिटी के रूप में चयन किया गया। आज शहर में योजनाओं पर काम चल रहा है। 15 वर्ष के कार्यकाल को देखे बिलासपुर तेजी से महानगर की तर्ज पर विकसित हो रहा है। वित्तीय प्रबंधन पर अमर ने कहा कि किसी भी राज्य का विकास राज्य सरकार की योजना प्रबंधन और उनके कार्य करने पर निर्भर करता है। केन्द्र सरकार राज्य सरकार को राशि प्रदान करती है। खनिज की रायल्टी से  छत्तीसगढ़ को केन्द्र से 7000 करोड़ मिले हैं। अनेक योजनाओं के लिए राज्य सरकार को केन्द्र सरकार अनुदान देती है। राज्य सरकार की कार्यप्रणाली पर निर्भर करता है राशि का खर्च कैसे करे। कार्ययोजना किस तरह तैयार करे। आय के नए स्त्रोत बनाए। फिजूल खर्ची पर रोक, जरूरत पड़ने पर वित्तीय प्रबंधन राज्य सरकार भी लोन लेती है।  बच्चों के शराब बन्दी के सवाल पर अमर ने कहा शराब एक समाजिक बुराई है इसे सरकार तो बंद कर देगी।
                 भ्रष्टाचार के सवाल पर अमर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भ्रष्टाचार को खत्म करने कैसलेश सिस्टम देश में लागू करना चाहा। लेकिन लोगों को रास नही आया आज भी भ्रष्टाचार है। इसमें दोषी देने वाला ज्यादा है।
              अमर ने छात्रों को बताया कि जब मैं राजनीति में आया तो तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष स्व.कुशाभाऊ ठाकरे ने कहा था कि अपने आप को कभी नेता नही मानना।  कार्यकर्ता के रूप में पार्टी संगठन के लिये कार्य करना। आज भी मैं उनकी बातों को अपने जीवन में आत्मसात करते हुए कार्यकर्ता के रूप में कार्य कर रहा हूं। छात्रों के विजन के सवाल पर अग्रवाल ने कहा कि मैंने विधायक और मंत्री रहते आने वाले दस वर्ष के आगे की विकास को लेकर कार्य प्रारंभ किया।  आज  बिलासपुर विकसित शहर के रूप में विशाल रूप लेता जा रहा है । मुझे मालूम है आने वाले दिनों में शहर की ट्रेफिक व्यवस्था, शुद्ध पेयजल की व्यवस्था, पर्याप्त बिजली की व्यवस्था समेत मूलभूत आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर कार्य किया जा रहा है। आज सबसे महत्वपूर्ण अमृत मिशन योजना के तहत् खूंटाघाट जलाशय से बिलासपुरवासियों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराना है।  पांच सौ करोड़ रूपये कि योजना का तीव्रगति से चल रही है। आने वाले समय में पानी के लिए हाय तौबा नहीं होगी।
 इस दौरान अमर अग्रवाल ने छात्र-छात्राओं के अनेक सवालों का खुल कर जवाब दिया। प्रशासनिक क्षमता और कार्य के तौर तरीके बताए। उन्होंने कहा कि जब-जब आप मुझे बुलाया जाएगा। मुझे आप लोग अपने बीच पाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *