4 घंटे तक अजाक थाना को घेरा…पुलिस ने बहाया जमकर पसीना…जांच का दिया आश्वासन..मान मनौव्वल के बाद लौटे फरियादी

बिलासपुर— जय भीम का नारा देकर अनुसूचित समाज के लोगों ने आदिम जाति थाना का घेराव किया। करीब चार घंटे तक जमकर नारेबाजी की। नारेबाजी करने वालों ने बताया कि केन्द्रीय विश्वविद्यालय में उनके साथ लगातार अन्याय किया जा रहा है। मामले में शिकायत किए करीब दो साल से अधिक हो गए हैं। बावजूद इसके अभी तक विश्वविद्यालय प्रबंधन के खिलाफ कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया। जबकि मामले में पिछले दो सालों में पांच बार न्याय के लिए आवेदन दे चुके हैं।बुधवार को अनुसूचित समाज के पढ़े लिखे लोगों ने अजाक थाना का घेराव किया। प्रदर्शनकारी करीब चार घंटे तक नारेबाजी के साथ पुलिस की जमकर लानत मलानत की है। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने अजाक थाना पर आरोप लगाया कि किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की जा रही है। जबकि दलित समाज के लगातार अन्याय किया जा रहा है। बावजूद इसके बिलासपुर आंख पर पट्टी और कान में रूई डालकर बैठी है।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करे

                प्रदर्शनकारियों ने बताया कि केन्द्रीय विश्वविद्यालय में दो साल पहले विभिन्न फेकल्टी के लिए पद निकाला गया था। सभी पदों में सामान्य उम्मीदवारों की भर्ती तो की गयी। लेकिन बाकी आरक्षित पदों को छोड़ दिया गया। साक्षात्कार और अन्य शर्तों को पूरा करने के बाद भी एससी वर्ग के योग्य अभ्यर्थियों को आरक्षित पदों के लिए चयनित नहीं किया गया। योग्यता के बाद भी पदों को खाली रखा गया। कई बार विश्वविद्यालय प्रबंधन को लिखित में बताया गया। बावजूद इसके न्याय नहीं मिला।

                      विश्वविद्यालय से न्याय नहीं मिलने पर अजाक थाना का दरवाजा खटखटाया गया। दो साल बीत जाने के बाद भी ना तो जांच हई और ना ही मामले को गंभीरता से लिया गया। इस दौरान हमने पांच से अधिक बार ज्ञापन देकर न्याय के लिए दरवाजा खटखटाया। बावाजूद इसके विश्वविद्यालय प्रबंधन के खिलाफ किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं हुई है।

                 आज हम लोगों ने न्याय के लिए थाने का घेराव किया हैा। तानाशाह विश्वविद्यालय प्रबंधन के खिलाफ ठोस कार्रवाई की मांग की है। इस दौरान पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।करीब चार घंटे बाद पुलिस के आलाधिकारी मौके पर पहुंंचकर प्रदर्शनकारियों को आश्वासन दिया कि मामले में छानबीन के बाद उचित कदम उठाया जाएगा। साथ पुलिस के बड़े अधिकारियों के मामले को संज्ञान में लाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *