कैमरे में कैद होगी मतगणना की गतिविधियां….कलेक्टर ने बताया..मस्तूरी की सबसे ज्यादा और बिलासपुर की कम चक्रों में होगी गिनती

बिलासपुर— 23 मई को कोनी स्थित इंजीनियरिंग कालेज भवन में लोकसभा बिलासपुर के मतों की गिनती होगी। व्यवस्था को पूरी तरह से चुस्त दुरूस्त कर लिया गया है। मतगणना का काम सुबह आठ बजे शुरू होकर अन्तिम परिणाम तक होगा। पहले डाक मत पत्रों की गिनती होगी। इसके बाद ईव्हीएम मशीनों के मतों को खोला जाएगा। यह जानकारी आज कलेक्टर डॉ.संजय अलंग ने पत्रकार वार्ता के दौरान कलेक्टर कार्यालय स्थित मंथन सभागार में दी।

                        कलेक्टर ने इस दौरान पत्रकारों के सवालों का जवाब दिया। उन्होने बताया कि 23 मई को कोनी स्थित इंजीनियरिंग कालेज भवन में सुबह आठ बजे से मतगणना का काम शुरू होगा। मतों की गिनती विधानसभावार अलग अलग कमरों में होगी। मरवाही  विधानसभा के मतों की गिनती कमरा क्रमांक तीन,कोटा का कमरा क्रमाक 2, तखतपुर की गिनती कमरा 7,बिल्हा के मत कमरा 6, बिलासपुर की गिनती कमरा 5, बेलतरा विधानसभा के मतों को कमरा 4 और मस्तरी के मतों को कमरा 1 में गिना जाएगा। कमरा नम्बर 13 में डाकमतों की गिनती होगी।

                        कलेक्टर ने बताया कि मरवाही विधानसभा वोटों की गिनती 17 चक्रों में होगी। सबसे ज्यादा मस्तूरी के मतों की गिनती 24 चक्रों में होगी। सबसे कम चक्र मरवाही और बिलासपुर विधानसभा में कुल 17 होंगे। इसके अलावा कोटा में 19, तखतपुर में 21, बिल्हा में 23,बेलतरा में 18 चक्रो में  गिनती का काम होगा।   अलंग ने जानकारी दी कि अभ्यर्थी अधिकतम 14 मतगणना एजेन्ट की नियुक्ति कर सकते हैं।

                     कलेक्टर अलंग ने बताया कि मतगणना कक्षों में 14-14 टेबल मतगणना की कार्रवाई होगी। डाक मतों की गणना पांच टेबल पर होगी। प्रत्येक टेबल में एक पर्यवेक्षक, एक मतगणना सहायक और माइक्रो आव्जर्वर को मिलाकर कुल तीन स्टाफ होंगे। जिले में कुल 294 स्टाफ और 59 रिजर्व स्टाफ को तैनात किया जाएगा। डॉक मतपत्रों के लिए प्रत्येक टेबल पर 4 स्टाफ समेत कुल 20 स्टाफ के साथ चार रिजर्व स्टाफ रहेंगे।

                                              डाक मतपत्रों की गिनती के साथ सुबह आठ बजे मतगणना का काम शुरू होगा। इसके बाद साढ़े आठ बजे से ईव्हीएम में डाले गए वोटो की गिनती होगी। इसके पहले स्ट्रांग रूम प्रेक्षकों के सामने सुबह सात बजे खोला जाएगा। स्ट्रांग खोलते समय अभ्यर्थियों के एजेन्ट भी उपस्थित रहेंगे। मतगणना हाल में किंसी प्रकार की डिवाइस को नही ले जाने दिया जाएगा। यहां तक कि पेन लेकर जाना प्रतिबंधित रहेगा। मतगणना प्रक्रिया की वीडियोग्राफी होगी। अंत में अभ्यर्थियों की मांग पर सीडी उपलब्ध कराया जाएगा।मतगणना एजेन्टों को भोजन नास्ता की व्यवस्था की जाएगी। खर्च को अभ्यर्थियों के खाते में जोड़ा जाएगा।

                              पत्रकार वार्ता के दौरान पुलिस कप्तान अभिषेक  मीणा ने सवालों का जवाब दिया। उन्होने सुरक्षा को लेकर पत्रकारों को जानकारी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *