राज्य शासन का फरमान…21 मई को प्रदेश में मनाया जाएगा अातंक विरोध दिवस…संस्थानों में होंगे कई कार्यक्रम

रायपुर,निरस्त,मंत्रालय,नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग,मनोनयन ,नगरीय निकायों,नामांकित पार्षदों, बिलासपुर—21 मई को राज्य शासन ने  आतंकवाद विरोध दिवस के रूप में मनाने फैसला किया है। राज्य शासन के अनुसार इस समय पूरा देव आतंकवाद के दंश से लहुलुहान है। छत्तीसगढ़ राज्य भी इससे अछूता नहीं है। आतंकवाद के कारण आम जनता को भारी कष्टों का सामना करना पड़ रहा है। हिंसा और आतंक से राष्ट्रीय हितों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है। विशेष रूप से युवाओं को आतंकवाद और हिंसा के मार्ग से दूर रखने के उद्देश्य से राज्य शासन ने 21 मई को पूरे राज्य में आतंकवाद विरोधी दिवस मनाने का निर्णय लिया है।
                      छत्तीसगढ़ शासन के सामान्य प्रशासन विभाग ने शासन के समस्त विभागों, अध्यक्ष राजस्व मण्डल, समस्त विभागाध्यक्षों, संभाग आयुक्तों और कलेक्टरों को पत्र लिखकर आतंकवाद विरोधी दिवस मनाये जाने के संबंध में दिशा-निर्देश जारी किए हैं। सामान्य प्रशासन विभाग ने निर्देश दिया है कि 21 मई को प्रदेश के सभी महाविद्यालयों, विश्वविद्यालयों में आतंकवाद के खिलाफ वाद-विवाद प्रतियोगिता, चर्चाएं, सेमीनार, व्याख्यान आयोजित किए जाएंगे।
                   पोस्टर, पॉम्पलेट, समाचार पत्रों, पत्र-पत्रिकाओं, आकाशवाणी और दूरदर्शन के माध्यम से आतंकवाद और हिंसा के विरूद्ध आम जनता को जागरूक बनाने अभियान चलाया जाएगा। स्वयंसेवी संगठनों, सामाजिक और सांस्कृतिक संस्थाओं की तरफ से सांस्कृतिक समारोह के आयोजन किए जाएंगे। जनजागरूकता कार्यक्रम में सभी लोगों की ज्यादा से ज्यादा भागीदारी हो। सभी सरकारी कार्यालयों, सार्वजनिक क्षेत्रों के उपक्रमों और अन्य सार्वजनिक संस्थानों में आतंकवाद विरोधी शपथ ली जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *