जब पुलिस कप्तान ने घर पहुंचकर किया सम्मान…चौपाल में किया संवाद…कहा समर्थन से मिटेगा अपराध..साइबर अपराध से बचें

बिलासपुर— नए पुलिस कप्तान के अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के समर्थन में आम जनता भी कूद गयी है। पुलिस का साथ देने जनता ने काम करना शुरू कर दिया है। ताजा मामला सरकंडा थाना क्षेत्र के चिंगराजपारा में सामने आया है। जब स्थानीय जनता ने ही पुलिस का साथ देते हुए दो चोरों को पकड़ कानून के हवाल कर दिया है।

                             चिंगराजपारा के लोगों ने नए पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल के अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान का समर्थन किया है। इतना ही नहीं स्थानीय निवासियों ने दो चोरों को पकड़कर कानून के हवाले किया है। पुलिस प्रशासन ने इसके लिए आम जनता की ना केवल तारीफ की है्। बल्कि पुलिस और आम जनता में बेहतर समन्वय के लिए दो लोगों को सम्मानित भी किया है।

                        एडिश्नल एसपी ओमप्रकाश शर्मा ने बताया कि एक बार फिर बिलासपुर की जनता ने पुलिस का साथ देते हुए दो साइबर अपराधियों को पकड़वाने में मदद की है। शर्मा ने जानकारी दी कि 10 जून 2019 की दरम्यानी रात्रि चिंगराजपारा के लोगों ने दो चोरों को रंगे हाथ पकड़वाने मे मदद की है।

                       शर्मा ने बताया कि जब सरकंडा थाना क्षेत्र के चिंगराजपारा में दो चोर राजू सोनी के घर में चोरी की नीयत से दाखिल हुए। भनक लगते ही राजू सोनी और मनोहर देवांकन ने मामले की जानकारी पुलिस को दी। क्योंकि राजू और मनोहर नो दोनों चोरों को घर में दाखिल होते सीसीटीवी में देखा था। इसके बाद मौके पर पहुंचकर पुलिस के साथ दोनों ने चोरों को रंगे हाथों पकडवाने में मदद की।

                          जानकारी मिलने के बाद पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल की अग्रवाई में चिंगराजपारा में पुलिस जनमित्र और पुलिस चौपाल का आयोजन 14 जून को किया गया। साथ ही पुलिस कप्तान ने राजू सोनी और मनोहर देवांगन को उनके ही घर में मोहल्ले के सामने सम्मानित करने का भी फैसला लिया।

        ओपी शर्मा ने जानकारी दी कि 14 जून को शाम सात बजे पुलिस कप्तान अन्य अधिकारियों के साथ चिंगराजपारा स्थित राजू सोनी और मनोहर के घर पहुंचे। उन्होने मौके पर आयोजित पुलिस जन चौपाल को संबोधित किया। सबकी शिकायतों को ना केवल गौर से सुना बल्कि बच्चों में बढ़ती नशे की प्रवित्ति के प्रति चिंता जाहिर की।

                इस दौरान प्रशांत अग्रवाल ने लोगों को जागरू किया कि बच्चों को नशे से छुटकारा के लिए प्रयास करें। पुलिस कप्तान ने महिलाओं और बच्चों से सम्बंधित अपराधों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। एटीएम साइबर फ्राड पर भी प्रकाश डाला। उन्होने कहा कि अधिक महत्वपूर्ण कार्य राजू सोनी और मनोहर देवांगन ने किया है। यदि सबका इसी तरह से समर्थन मिले तो अपराध पर काबू पाना आसान होगा। अपराधियों के हौसले भी टूंंटेंगे। पुलिस कप्तान ने इसके बाद सबके सामने राजू और मनोहर को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम के दौरान स्थानीय जनप्रतिनिधियों के अलावा लगभग दो सौ अधिक लोग मौजूद थे। मारपीट के विरोध में आज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *