बहतराई स्टेडियम पूर्व मंत्री बी.आर.यादव के नाम…लोकार्पण कार्यक्रम में सीएम ने कहा…लगाएंगे फ्लड लाइट…हॉकी पकड़ी कर दिया गोल…अन्तर्राष्ट्रीय खिलाड़ी बने गवाह

बिलासपुर—मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बहतराई स्थित नवनिर्मित एस्ट्र्रोटर्फ हाॅकी स्टेडियम को खिलाड़ियों और प्रदेश की जनता को समर्पित किया। उन्होेंने कहा कि खिलाडी़ जी जान लगाकर खेल के मैदान में जौहर दिखाएं। हम प्रतिभाओं को संवारने सभी सुविधा देने को तैयार हैं।
                                   लोकार्पण कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने नवनिर्मित मैदान का नामकरण पूर्व मंत्री और हाॅकी खिलाड़ी स्व. बी.आर.यादव के नाम पर करने का एलान किया।मुख्यमंत्री ने लोकार्पण कार्यक्रम में बिलासपुर में हाॅकी के लिये स्व. बी.आर.यादव के योगदान को याद किया। सीएम ने कहा खेल गतिविधियों को रूकना नहीं चाहिए। उन्होने फ्लड लाईट लगवाने की घोषणा की। स्टेडियम में दर्शक दीर्घा निर्माण करने को कहा।  9वीं हाॅकी इंडिया राष्ट्रीय सब जूनियर पुरूष हाॅकी प्रतियोगिता का शुभारंभ भी किया।
          बताते चलें की आज से बहतराई स्टेडियम में देश के 22 राज्यों की हाकी टीम के बीच राष्ट्रीय सब जूनियर बालक हाकी प्रतियोगित का शुभारम्भ सीएम ने किया। प्रतियोगिता का पहला मैच पश्चिम बंगाल और महाराष्ट्र के खिलाड़ियों के हुआ।
                                  मुख्यमंत्री ने उद्घाटन और लोकार्पण कार्यक्रम के दौरान कहा कि बिलासपुर में राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता की मेजबानी से छत्तीसगढ़ गौरवान्वित है। हाॅकी खिलाड़ियों की प्रतिभा और प्रदर्शन देखने छत्तीसगढ़ के लोग खासे उत्सुक हैं। छत्तीसगढ़ में हाॅकी की पुरानी परंपरा रही है। युवा राज्य में हाॅकी के कई दिग्गज खिलाड़ी हुए हैं। प्रदेश में संसाधनों और प्रतिभाओं की कमी नहीं हैं। छत्तीसगढ़ सरकार खिलाड़ियों को बेहतर से बेहतर सुविधाएं देगी। जिससे देश-विदेश में छत्तीसगढ़ का नाम रोशन हो सके।
                मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की मंशा हाॅकी को गांव-गांव तक पहुंचाने की है। ग्रामीण अंचलों की बेहतरीन प्रतिभाओं को राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं के लिये तैयार किया जा सके। प्रदेश में खेलों को बढ़ावा देने के लिये सभी 5 संभागों में 11-11 के हिसाब से 55 खेल प्रशिक्षकों की नियुक्ति की गयी है।इसके साथ राज्य के सभी जिलों में खेलों के नये मापदण्डों के अनुसार खेल मैदान तैयार करने की योजना है। इस अवसर पर अंतर्राष्ट्रीय हाॅकी खिलाड़ी सबा अंजुम, नीता डुंगरे समेत विधायक तखतपुर रश्मि सिंह, पाली तानाखार विधायक मोहन केरकेट्टा, बेलतरा विधायक रजनीश सिंह वरिष्ठ जनप्रतिनिधि अटल श्रीवास्तव, विजय केशरवानी, नरेन्द्र बोलर और संभागायुक्त बी.एल.बंजारे, कलेक्टर डाॅ. संजय अलंग, पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल, जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी रितेश अग्रवाल समेत बड़ी संख्या में हाॅकी प्रेमी खिलाड़ी और आम जन उपस्थित थे।
छत्तीसगढ़ का चौथा एस्ट्रोटर्फ मैदान
                बिलासपुर का बहतराई  स्टेडियम 49 एकड़ भूमि पर बनाया गया है। यह बिलासपुर का पहला और छत्तीसगढ़ राज्य का चौथा एस्ट्रोटर्फ हाॅकी मैदान है। मैदान का निर्माण 4 करोड़ रूपये की लागत से हुआ है। मैदान को अंतर्राष्ट्रीय हाॅकी फेडरेशन ने अभिप्रमाणित किया है। मैदान में सिंचाई के लिये स्वचलित स्प्रिंकलर सिस्टम भी लगाए गएं हैं।
मुख्यमंत्री ने दिखाये हाॅकी के जौहर
नवनिर्मित एस्ट्रोटर्फ मैदान, हाॅकी और गेंद को देखकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने आप को हाॅकी खेलने से नहीं रोक पाए। मुख्यमंत्री ने खिलाड़ियों से परिचय के बाद जब एक खिलाड़ी की हाॅकी अपने हाथ में ली तो दूसरे खिलाड़ी ने मैदान पर गेंद रखकर मुख्यमंत्री से गेंद मारने के लिए कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे दुर्ग जिले के हैं और दुर्ग जिले में हाॅकी बहुत लोकप्रिय है। अपने पढ़ाई के जमाने में उन्होंने भी कभी-कभी हाॅकी खेली है। इतना कहते ही मुख्यमंत्री ने गेंद को हाॅकी पर लपेटकर दौड़ना शुरू किया। सामने गोल पोस्ट पर गोल दाग दिया। मुख्यमंत्री के इस अचानक हाॅकी खेलने के लिये दौड़ने पर सभी खिलाड़ियों और प्रशासनिक अधिकारियों ने  पीछे दौड़ लगाई। इस बीच तालियों की गड़गड़ाहट से स्टेडियम गूंज उठा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *