डॉ रमन के बयान पर कांग्रेस का पलटवार, भाजपा का चरित्र ही किसान और छत्तीसगढ़ विरोधी

रायपुर।प्रदेश की आर्थिक स्थिति को लेकर दिए गए पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के बयान पर पलटवार करते हुए प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि रमन सिंह ने जीतने गैर जिम्मेदारी से मुख्यमंत्री के साथ साथ वित्त मंत्री रहते हुए प्रदेश का वित्तीय प्रबंधन किया अब उतनी ही गैर जिम्मेदारी से वे आर्थिक मामलों को लेकर बयानबाजी कर रहे हैं। रमन सिंह जी की सरकार ने सरकारी खजाने से घटिया क्वालिटी के मोबाइल खरीदे और बांटे लेकिन उनका भुगतान नहीं किया।

अनेक स्थानों से मोबाइल गर्म होने मोबाइल फटने मोबाइल डिस्चार्ज होने और रिचार्ज की समस्याओं की शिकायतें आती रही। सरकार जाने के पूर्व आखिरी क्षणों में चुनावी फायदे के लिए रमन सिंह जी ने शिक्षाकर्मियों के आंशिक संविलियन की घोषणा तो की लेकिन इसके लिए वित्तीय प्रावधान नहीं किए जो अब कांग्रेस की भूपेश बघेल की सरकार को करना पड़ रहा है।

मुख्यमंत्री के एक और विभाग जनसंपर्क विभाग में रमन सिंह के कार्यकाल में हुआ घोटाला तो सर्वविदित है। 450 करोड़ रुपए के विज्ञापन जारी कर दिए गए लेकिन इन विज्ञापनों का कहां से भुगतान किया जाएगा इस विषय में रमन सिंह सरकार ने कोई प्रावधान नहीं किया। इतनी गैर जिम्मेदारी से बेहद महत्वपूर्ण वित्त विभाग और जनसंपर्क विभाग चलाने वाले रमन सिंह अब उतनी ही गैर जिम्मेदारी से प्रदेश की आर्थिक स्थिति को लेकर बयानबाजी कर रहे हैं।

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि जब रमन सिंह जी ने सत्ता संभाली थी तब प्रदेश के ऊपर कोई कर्ज नहीं था लेकिन रमन सिंह ने समृद्धि छत्तीसगढ़ को कर्ज के बोझ में लाद दिया।

अब जब भूपेश बघेल जी की सरकार रमन सिंह जी के द्वारा ना किए गए विकी प्रावधानों की व्यवस्था करने में लगी है और साथ ही साथ किसानों का 10,000 करोड़ का कर्ज माफ किया है तब रमन सिंह जी प्रदेश की आर्थिक स्थिति पर गैर जिम्मेदाराना बयानबाजी कर रहे हैं।

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिशों के अनुरूप फसलों का समर्थन मूल्य तय करने की बात कही थी। भाजपा की केंद्र सरकार के कृषि लागत एवं समर्थन मूल्य आयोग ने धान की लागत प्रति क्विंटल 16 सौ रुपए निकाली जो जानकारी वेबसाइट पर भी उपलब्ध है।

इस पर 50% मूल्य जोड़ने पर और डीजल रासायनिक खाद जैसे कृषि आदानों के मूल्य में वृद्धि को जोड़ने पर 2500₹ प्रति क्विंटल धान का खरीदी मूल्य होना चाहिये जो भूपेश बघेल जी की सरकार किसानों को दे रही है।

प्रति क्विंटल 750₹ किसानों को समर्थन मूल्य से अधिक देने वाली छत्तीसगढ़ सरकार को इस पूरी राशि को देने के लिये अभिनंदन करने के बजाय रमनसिंह जी आर्थिक स्थिति पर तंज कसकर अपनी संकुचित मानसिकता को उजागर कर रहे हैं। यह बयान भाजपा और रमनसिंह जी की किसान विरोधी धान विरोधी और छत्तीसगढ़ विरोधी मानसिकता का जीता जागता सबूत है।

भाजपा अपने गिरेबान में झांक कर तो देखें

कर्जमाफी में वादाखिलाफी के बीजेपी के आरोप पर पलटवार करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि BJP के 15 साल के शासन में 2004 में 105 करोड़ 2012 में 24 करोड़ और 2015 में 130 करोड़ अर्थात 15 साल में कुल सिर्फ 259 करोड़ की किसानों की कर्जमाफी की गई।

जबकि कांग्रेस की सरकार ने भूपेश बघेल जी की सरकार ने सत्ता में आते ही किसानों का दस हजार करोड़ ₹ का कर्ज माफ किया है। कांग्रेस सरकार में की गई कर्जमाफी का लाभ 19 लाख किसान परिवारों को मिला है ।

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि कर्जमाफी का इतना बड़ा काम करने के बाद, 19 लाख किसान परिवारों को कर्ज मुक्त करने के बाद भाजपा कांग्रेस पर वादाखिलाफी का आरोप लगाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *