स्कूलों में कैसे होगी बेहतर पढ़ाई ? शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह ने पंच – सरपंच – प्रबंधन समिति को लिखी चिट्ठी

रायपुर।स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने शालाओं के नवीन सत्र के शुभारंभ अवसर पर सभी सरपंच-पंच और शाला प्रबंधन समिति को पत्र लिखकर स्थानीय स्तर पर शाला के प्रबंधन विशेष ध्यान देने का आग्रह किया है।स्कूल शिक्षा मंत्री ने पत्र में उल्लेख किया है कि स्कूल जाने वाले बच्चों के लिए नया सत्र प्रारंभ हो गया है। सभी के सहयोग से ही राज्य के विभिन्न भागों में स्कूलों का संचालन हो रहा है। हम सभी को मिलकर स्कूलों का संचालन करना है। विशेष ध्यान रखें कि स्कूलों के भवन, रख-रखाव और संसाधनों के साथ-साथ स्कूलों में बच्चों को अच्छी शिक्षा मिलें।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डॉ. सिंह ने कहा कि स्कूल में देखें कि किन-किन क्षेत्रों में सुधार या मरम्मत की आवश्यकता है। आँगन, परिसर, शौचालय, मैदान, फर्श एवं छत में मरम्मत का कार्य शीघ्र पूरा कराएं। आस-पास क्षेत्र के स्कूलों में प्रवेश लेने लायक बच्चों, शाला त्यागी और अप्रवेशी बच्चों को शाला में नियमित लाने के लिए स्थानीय स्तर पर आवश्यक प्रयास करें।

उन्होंने कहा कि हमारा सतत् प्रयास है कि शाला में सभी बच्चों को समय पर पाठ्य-पुस्तकें, अभ्यास पुस्तिकाएं, गणवेश और अन्य सुविधाएं उपलब्ध हो और इनका कक्षा में नियमित उपयोग बच्चे कर सकें।

विशेषकर अभ्यास पुस्तिकाओं पर लगातार काम हो। पालक अपने बच्चों द्वारा स्कूल में लिए जा रहे कार्यों को नियमित रूप से देखें और बच्चों को घर पर पढ़ने के लिए प्रेरित करते रहे। माताओं को शाला में समय-समय पर उन्मुखीकरण कार्यक्रम में आमंत्रित कर बच्चों की पढ़ाई के बारे में टिप्स दिए जाए।

सभी सरपंच-पंच और शाला प्रबंधन समिति विभिन्न योजनाओं के लिए प्राप्त बजट का शाला सुधार में उपयोग प्राथमिकता से करें।

Comments

  1. Reply

  2. By अविनाश एक शोषित शिक्षक

    Reply

  3. By Dilendra Kumar kant

    Reply

  4. By Dakesh Kumar

    Reply

  5. By Sushil kumar singh

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *