संविलियन दिवस पर परिचर्चा,समाज को मुख्य धारा मे जोड़ने के लिए शिक्षको की भूमिका अहम


कोंडागांव।
छत्तीसगढ़ पंचायत नगरीय निकाय शिक्षक संघ के प्रांतीय आह्वान पर प्रदेश भर के शिक्षाकर्मियों के साथ कोण्डागांव जिला ईकाइ द्वारा संविलियन के एक वर्ष पूर्ण होने पर 01 जुलाई 2019 को इंडोर स्टेडियम विकास नगर कोण्डागांव में ‘‘संविलियन दिवस‘‘ मनाने हुए ‘‘शिक्षा गुणावत्ता‘‘ विषय पर परिचर्चा का आयोजन किया । संविलियन दिवस समारोह के मुख्य अतिथि देवचंद मातलाम अध्यक्ष जिला पंचायत कोण्डागांव, कार्यक्रम अध्यक्ष नीलकंठ टेकाम कलेक्टर जिला कोण्डागांव, विशिष्ठ अतिथि नुपूर राशि पन्ना मुख्यकार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत कोण्डागांव, राजेश मिश्रा जिला शिक्षा अधिकारी कोण्डागांव, हाजी युसुफ रजवी नगर अध्यक्ष भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (ई), पी.एस.संघे जिला परियोजना समन्वयक, रागाशिमिशन कोण्डागांव, एम.आर.कश्यप विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी कोण्डागांव उपस्थित रहे ।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

सरस्वती वंदन एवं स्वागत पश्चात संघ पदाधिकारियों ने सम्पूर्ण संविलियन, क्रमोन्नति, वेतन विसंगति, अनुकम्पा नियुक्ति आदि मांगों का मुख्यमंत्री, विभागीय मंत्री, मुख्य सचिव एवं विभागीय सचिव के नाम जिला पंचायत अध्यक्ष देवचंद मालताम को ज्ञापन सौंपा ।

यह भी पहे-Chhattisgarh-चार सूत्रीय मांगो को लेकर प्रदेश के 90 विधायको को मुख्यमंत्री के नाम सात जुलाई को फेडरेशन देगा ज्ञापन

साथ ही 01 जुलाई 2019 को संविलियन होने वाले शिक्षा कर्मियों का चंदन से वंदन कर अभिवादन किया गया ।कार्यक्रम का शुभारम्भ संगठन के जिलाध्यक्ष ऋषिदेव सिंह ने कोण्डागांव जिले के शिक्षा गुणवत्ता में बेहतर परिणाम हेतु कार्ययोजना तैयार कर विस्तृत जानकारी सदन के पटल पर रखी । जिसमें शाला प्रवेश के साथ कमजोर विद्यार्थियों का चिन्हाकंन, विद्यार्थियों के मोटीवेशन, सतत मानीटरिंग, नियमित कक्षाओं का संचालन, साप्ताहिक, मासिक, त्रैमासिक, अर्द्धवार्षिक एवं माॅडल परीक्षा का संचालन एवं परिणामों की समीक्षा, शिक्षको की डेली डायरी संधारण, गृह एवं कक्षा कार्य हायर सेकेण्डरी प्राचार्य द्वारा अधिनस्थ शालाओं का निरिक्षण आदि शामिल रहा ।

मुख्य अतिथि देवचंद मातलाम ने शिक्षक एल.बी. संवर्ग को संविलियन की एक वर्ष पूर्ण होने पर संविलियन दिवस की बधाई देते हुए प्राचीन शिक्षक छात्र परम्पराओं को जीवित रखने एवं आपसी सामंजस्य से शिक्षा गुणवत्ता सुधार हेतु आवश्यक पहल करने की सुझाव दी ।

नीलकंठ टेकाम कलेक्टर कोण्डागांव ने कहा कि सामाज को विकास की मुख्य धारा में जोड़ने के लिए शिक्षकों की अहम भूमिका होती है उन्हें अध्यापन के साथ छात्रों का संर्वांगीण विकास पर बल देने की आवश्यकता है । कोण्डागांव जिला कुपोषण से ग्रसित है जिससे बच्चों का मानसिक व शारीरिक विकास अवरूध हो रहा है इस बुराई को दूर करने के लिए शिक्षकों को आगे बढ़ना होगा ।

शिक्षा गुणवत्ता सुधार के क्षेत्र में कृषि संकाय के बच्चों को कृषि विशेषज्ञों से अध्यापन, आवासीय परिसरों में अध्ययनरत बच्चों को एल.ई.डी बल्व निर्माण करने की तकनीकी ज्ञान, एनएसएस, एनसीसी एव स्काउट बच्चों को नरवा गरवा घुरवा बाड़ी योजना से जोड़ने का कार्य एवं दिसम्बर तक सभी प्रकार के सांस्कृतिक, साहित्यिक खेलकूद प्रतियोगिता सम्पन्न किये जाने की घोषणा कर बस्तर में शांति स्थापना एवं नक्सलन्मुलन पर जोर देते हुए बच्चों के हाथों में कापी कलम प्रदान कर विकास कार्य पर जोर देने में शिक्षकों की अहम भूमिका निर्वहन करने की सलाह दी । नुपूर राशि पन्ना मु.का.अ. जिला पंचायत कोण्डागांव ने स्कूलों में छात्रों की अनुपस्थिति पर गहरा खेद व्यक्त करते हुए शिक्षकों का अपने कर्तव्य के प्रति जागरूक रहने की सलाह दी ।

जिला शिक्षा अधिकारी राजेश मिश्रा ने विगत वर्ष के परीक्षा परिणाम को अपेक्षा के अनुकूल न होना बताते हुए बेहत्तर परीक्षा परिणाम की परिकल्पना साकार करने की प्रेरणा प्रदान की । उन्होंने विद्यालय में छात्र समूह को चार समूह में विभाजित कर आपसी प्रतिस्पर्धा कराने, साप्ताहिक ईकाइ मूल्यांकन, मासिक पिकनीक एवं खेल कूद प्रतियोगिता आयोजित कर शिक्षा के प्रति बच्चों में अभिरूची उत्पन्नकर शिक्षा गुणावत्ता पर बल दिया । अंत में सभी पदाधिकारी सहित उपस्थित शिक्षकों ने गुणवता सुधार की संकल्प ली ।

कार्यक्रम में जिलाध्यक्ष ऋषिदेव सिंह, प्रांतीय संगठन मंत्री चन्द्रकांत ठाकुर, प्रांतीय महिला प्रकोष्ठ  नीलम श्रीवास्तव, जिला महिला प्रकोष्ठ मालती धु्रव, जिला उपाध्यक्ष चन्द्रकांत जैन, अरूण नेताम, अखिलेश राय, नरेश ठाकुर, ब्लाॅक अध्यक्ष मन्नाराम नेताम, कर्ण सिंह बघेल, प्रभुलाल केमरो, जिला पदाधिकारी यादवेन्द्र यादव, जगमोहन वर्मा, संजय राठौर, गुरूदीप छाबड़ा, सरेन्द्र ठाकुर, अशोक साहू, अमलेश बारले, लिखेश्वर पाण्डेय, नेमी सिंन्हा, दंतेश्वरी नायडू, लीना तिवारी, रामेश्वर राव, शिवतिवारी, त्रिनाथ प्रसाद जोशी, लोकेश कुंवर, राजेन्द्र पाण्डेय, विरेन्द्र ठाकुर, ज्योति राव, अंजू बेरा, दलपति प्रसाद, हीना कश्यप, हेमलता मेश्राम, गनेश्वर मंडावी आदि जिले भर से सैकड़ो पदाधिकारी एवं शिक्षक एल.बी. संवर्ग के कर्मचारी पदाधिकारी उपस्थित रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *