SECL में मनाया गया स्वच्छता पखवाड़ा, कई जगह हुई साफ – सफाई

बिलासपुर-केन्द्र सरकार सारे देश में स्वच्छता के प्रति जागरूकता बनाए रखने हेतु लगातार कार्य कर रही है और समय-समय पर विशेष कार्य योजना द्वारा सफाई के प्रति जागरूक बनाया जा रहा है। इसी तारतम्य में केन्द्र सरकार की मंशा के अनुरूप एसईसीएल में भी 16.06.2019 से 30.06.2019 तक ’’विशेष स्वच्छता पखवाड़ा’’ का आयोजन किया गया।17 जून को एसईसीएल मुख्यालय प्रशासनिक भवन आगन्तुक कक्ष में अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा द्वारा निदेशक (कार्मिक) डाॅ. आर.एस. झा, निदेशक तकनीकी (संचालन) श्री आर.के. निगम, निदेशक तकनीकी (योजना/परियोजना) एम.के. प्रसाद, महाप्रबंधक (कार्मिक/प्रशासन) ए.के. सक्सेना, विभिन्न विभागाध्यक्षों, अधिकारियों-कर्मचारियों, श्रमसंघ प्रतिनिधियों की उपस्थिति में समस्त उपस्थितों को ’’स्वच्छता शपथ’’ दिलाई गई।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

इसी कड़ी में 18 जून को एसईसीएल मुख्यालय सहित समस्त 13 क्षेत्रीय कार्यालयों के शौचालयों की सफाई पर ध्यान देने के साथ कार्यालयों और कार्यालय परिसर को साफ करने के लिए विशेष पहल की गयी। स्वच्छता पखवाड़ा दौरान एसईसीएल के समस्त 13 क्षेत्रों के आसपास के जल निकायों, नदी-नालों व तालाबों की साफ-सफाई गई एवं स्वच्छता जागरूकता सेमीनार का आयोजन किया गया जिसमें लगभग 1000 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया।20 जून को एसईसीएल के समस्त क्षेत्रों के काॅलोनियों में साफ-सफाई अभियान चलाया गया।

स्वच्छता पखवाड़ा दौरान एसईसीएल के समस्त 13 क्षेत्रों में कर्मियों के बच्चों के लिए स्लोगन, वाद-विवाद एवं पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया वहीं सभी 13 क्षेत्रों के गोद लिए ग्रामों एवं बस स्टाप में सफाई कार्य किया गया। स्वच्छता पखवाड़ा दौरान नियत तिथि को वाटर टैंक, ओवरहेड टैंक एवं कैन्टीन की सफाई की गयी तथा एसईसीएल के समस्त स्कूलों, प्रतिष्ठित स्थानों एवं धरोहर स्थलों में साफ-सफाई की गयी एवं प्लास्टिक बैग के संबंध में लोगों को जागरूक करते हुए इसके उपयोग से बचने का आव्हान किया गया जो कि पर्यावरण और स्वास्थ्य के लिए अत्यंत हानिकारक है, साथ ही व्यापारियों को अच्छी गुणवत्ता वाले पर्यावरण के अनुकूल शाॅपिंग बैग और पेपर बैग वितरित किए और उन्हें भविष्य में उपयोग करने के लिए प्रेरित किया एवं बाजार की साफ-सफाई की गई।

स्वच्छता पखवाड़ा दौरान ग्रीन हाट की सफाई की गयी एवं समस्त क्षेत्रों में स्वच्छता विषयक नुक्कड़ नाटक, स्ट्रीट प्ले, साईकिल रैली का आयोजन किया गया। अंत में 30 जून को स्वच्छता पखवाड़ा का समापन सम्पन्न हुआ।स्व्छता पखवाड़ा के दौरान छत्तीसगढ़ राज्य वन विकास निगम लिमिटेड और मध्यप्रदेश राज्य वन विकास निगम लिमिटेड के सहयोग से मानसून के दौरान खनन क्षेत्रों में लगभग 1 लाख पौधों का रोपण करने का लक्ष्य लिया गया। पिछले वर्ष रोपे गए पौधों में से लगभग 90 प्रतिशत पौधे जीवित अवस्था में हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *