जाति प्रमाण पत्र अब मिलेगा आसानी से, सामान्य प्रशासन विभाग ने जारी की गाइडलाइन

रायपुर।सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा पिछले दिनों सभी कलेक्टरों को जन्म के बाद शिशु के जाति प्रमाण पत्र जारी करने संबंधी पत्र जारी किया गया है।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा बस्तर दौरे पर इंद्रावती विकास बस्तर विकास प्राधिकरण की बैठक में यह घोषणा की थी कि जाति प्रमाण पत्र का सरलीकरण किया जाएगा जिससे पिता के पास जाति प्रमाण पत्र होने पर बच्चे के जन्म के साथ ही बच्चे को जाति प्रमाण पत्र दिया जाएगा।पत्र में उल्लेख है कि अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग के छत्तीसगढ़ के स्थानीय निवासियों के जाति प्रमाण पत्र सक्षम प्राधिकारीओं द्वारा छत्तीसगढ़ अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग अधिनियम 2013 और उसके तहत बनाए गए छत्तीसगढ़ अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग नियम 2013 के प्रावधानों और शासन के निर्देशों के अनुसार जारी किए गए हैं।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

राज्य शासन द्वारा फैसला लिया गया है कि उपरोक्त जाति वर्ग के व्यक्तियों के परिवार में शिशु के जन्म के उपरांत उसके पिता की जाति के आधार पर शिशु का जाति प्रमाण पत्र भी निर्धारित प्रारूप में सक्षम अधिकारी द्वारा जारी किया जाए।इस बाबत सभी कलेक्टरो को दिए गए हैं कि

यह भी पढे-Chhattisgarh-भूपेश सरकार ने हरेली, तीजा और कर्मा जयंती पर घोषित किया सार्वजनिक अवकाश…

1-जाति प्रमाण पत्र जारी करने के लिए शिशु के पिता की जाति के संबंध में साल 2006 के उपरांत सक्षम अधिकारी द्वारा जारी किए गए जाति प्रमाण पत्र के आधार पर शिशु का जाति प्रमाण पत्र भी निर्धारित प्रारूप में जारी किया जाए.साल 2006 के बाद अधिकारी द्वारा जारी किए गए जाति प्रमाण पत्र के सत्यापन के बाद उसके आधार पर शिशु का जाति प्रमाण पत्र जारी किया जाए।
2-शिशु के जन्म के संबंध में सक्षम अधिकारी द्वारा जारी किए गए जन्म प्रमाण पत्र की मूल प्रति और पिता के जाति प्रमाण पत्र की मूल प्रति की जांच सक्षम अधिकारी द्वारा की जाए. 3-शिशु की जाति प्रमाण पत्र के लिए उसके पिता व माता और वैध पालक द्वारा निर्धारित प्रारूप में आवेदन किया जाए।

पिता की जाति के आधार पर शिशु का जाति प्रमाण पत्र जारी किया जाए.शिशु को जारी किए गए जाति प्रमाण पत्र में नाम परिवर्तन की स्थिति में प्रचलित प्रक्रिया अनुसार कार्रवाई की जा सकती है.इसके लिए आवेदन प्रारूप भी तैयार किया है.

Comments

  1. By Kakem Vijay

    Reply

  2. Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *