स्कूली बच्चों को मध्यान्ह भोजन में मिलेगा पौष्टिक आहार, मीनू का कड़ाई से पालन करने DEO ने जारी किए निर्देश

बिलासपुर।जिला शिक्षा अधिकारी बिलासपुर द्वारा सभी विकास खंड शिक्षा अधिकारी और सभी प्राचार्यो को पत्र जारी किया गया है।जिसमें मध्यान्ह भोजन योजना के मैन्यू का कड़ाई से पालन किए जाने की बात कही है।पत्र में उल्लेख है कि मध्यानह भोजन योजना अंतर्गत सभी प्राथमिक शाला और पूर्व माध्यमिक शाला में बच्चों को दिए जाने वाले मध्यान भोजन में मीनू का कड़ाई से पालन किया जाए और शासन द्वारा प्रस्तावित मीनू का प्रदर्शन शाला की दीवारों पर तत्काल 2 दिनों के अंदर लिखवा कर जिला कार्यालय को सूचित करें और यह भी निर्देशित किया गया है कि अधिनस्थ आने वाले सभी शालाओं जहां मध्यान भोजन योजना संचालित किए जा रहे हैं।वहां नियमित 10 शालाओं का निरीक्षण करें व उन शालाओं की मध्यान्ह भोजन योजना की फोटोग्राफ्स व्हाट्सएप के माध्यम से एवं प्रतिवेदन कार्यालय को प्रस्तुत करें।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

मीनू में सप्ताह में कम से कम 3 दिन अंडा व समतुल्य न्यूट्रीशन मूल्य का खाद्य पदार्थ बच्चों को दिया जाए।यदि बच्चों के द्वारा अंडे नहीं खाए जाते तो उसके स्थान पर समतुल्य न्यूट्रीशन मूल्य के आधार पर मूंगफली दाने व केले दिए जाएं।यदि कोई भी स्व सहायता समूह के द्वारा मीनू के अनुसार और गुणवत्ता युक्त मध्यान्ह भोजन बच्चों को यदि नहीं दिया जाता है तो उसकी सभी जवाबदारी वहां पदस्थ प्रधान पाठक और स्व सहायता समूह की होगी और उनके ऊपर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढे-Chhattisgarh-भूपेश सरकार ने हरेली, तीजा और कर्मा जयंती पर घोषित किया सार्वजनिक अवकाश…

जिसके जिम्मेदारी उनकी होगी।सभी प्राचार्यो को निर्देश दिया गया है कि जहां भी प्राथमिक शाला और पूर्व माध्यमिक शाला उनके अधीनस्थ संचालित हो रहे हैं। वहां प्राचार्य सुनिश्चित करेंगे कि मीनू अनुसार और गुणवत्ता युक्त मध्यान भोजन दिया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *