बेटे की गलती पर अजीत जोगी दुखी…कहा..अमित के बयान से अत्यंत ग्लानि…बताया मातृशोक को सबसे बड़ा शोक

बिलासपुर— अपने ट्विटर हैंडल पर सरकार को निशाना बनाने वाले अमित जोगी ने आज संवेदना जाहिर कर जनता और सीएम से खेद प्रकट किया है। अमित जोगी ने कहा कि महसूस कर रहा हूं…सीएम के मातृ शोक के ही दिन समस्याओं को लेकर किया ट्विट उचित नहीं था। लेकिन समस्याओं को सामने रखना मेरा काम है। चुनाव के पहले किए गए वादों को निभाना मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी है। बावजूद इसके शराबबंदी को लेकर किया गया ट्विट शोक के दिन किया जाना उचित नहीं था। वहीं जोगी ने भी अपने ट्विटर पर अमित जोगी के ट्विट पर खेद प्रकट किया है। अजीत जोगी ने कहा कि बेटे के ट्विट को पढकर ग्लानि हुई है। क्योंकि मातृ शोक से बढ़कर कोई दूसरा शोक हो ही नहीं सकता है।
                         बताते चलें कि एक दिन पहले बाराद्वार में जनता काग्रेस नेता अमित जोगी ने शराबबंद आंदोलन में शिरकत कर सरकार और सीएम भूपेश पर निशाना साधा था। ठीक उसी दिन मुख्यमंत्री को मातृशोक पर प्रदेशवासी संवेदना प्रकट कर रहे थे। लेकिन अमित जोगी ने अपने ट्विटर पर सीएम के कामकाज और वादा खिलाफी को लेकर निशाना बनाया।
                अमित जोगी ने अपने ट्विटर पर लिखा कि मुख्यमंत्री ने जनता के साथ विश्वासघात किया है। शराबबंदी को मुद्दा बनाकर सत्ता को हासिल किया। लेकिन अभी तक शराबबंदी के खिलाफ कदम नहीं उठाया। मैं शराबबंदी के नाम पर छत्तीसगढ़ को शराबमण्डी बनाने वाली सरकार का अपनी हर साँस से,हर समय,हर जगह विरोध करता रहूँगा। आंदोलन में शिरकत करते हुए जनता के सामने अमित जोगी ने पुरजोर तरीके से ललकारा भी।
                           बाद में गलती का अहसास होने परके साथ हैं विवादित ट्वीट पर अमित जोगी ने ट्विटर पर खेद भी प्रकट किया। उन्होने लिखा कि खेद है कि कल रात बाराद्वार में विगत 6 दिनों से चल रहे शराबबंदी जनांदोलन के परिपेक्ष में ट्वीट के शब्दों के चयन से कुछ लोगों की भावना को ठेस पहुँची है। लेकिन मैं शराबबंदी के नाम पर छत्तीसगढ़ को शराबमण्डी बनाने वाली सरकार का अपनी हर साँस से,हर समय,हर जगह विरोध करता रहूँगा। मेरी पूरी संवेदना मुख्यमंत्री के साथ हैं। लेकिन उनको अपना वादा स्मरण दिलाना सबका दायित्व है। यह भी लिखा कि किसी भी व्यक्ति के लिए मातृशोक सबसे बडा शोक होता है। उनकी माता जी के स्वर्गवास की ख़बर मिलते ही मैंने ईश्वर से कामना की थी कि भूपेश बघेल जी की माता की आत्मा को शाँति प्रदान करें। परिवारजनों को दुःख की घड़ी को सहने की शक्ति प्रदान करे।
जोगी ने किया बेटे का विरोध…जताया खेद
            अमित जोगी के ट्विटर के लगातार विरोध के बाद अजीत जोगी ने मामले को गंभीरता से लिया। उन्होने अपने ट्विटर में दुख जाहिर करते हुए लिखा कि मुझे अपने पुत्र अमित ट्वीट को पड़कर अत्यंत ग्लानि हुई है। मात्रशोक से बड़ा शोक और कुछ नहीं होता है। यह समय ऐसे ट्वीट करने का नहीं था। हमें इसका खेद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *