जितना भूपेश सरकार ने किया…देश की कोई सरकार नहीं कर सकती…लखमा ने कहा…हमारे लिए अध्यक्ष कलेक्टर और ब्लाक अध्यक्ष एसपी

बिलासपुर— मंत्री बनने के बाद पहली बार प्रशानिक सर्जरी और बैठक को ध्यान में रखते हुए उद्योग मंत्री कवासी लखमा का बिलासपुर आना हुआ। मंत्री लखमा का कांग्रेसियों ने उत्साहित होकर स्वागत किया। लेकिेन मुख्यमंत्री की माता जी के निधन के चलते कांग्रेसियों ने स्वागत के दौरान फूल माला का उपयोग नहीं किया। लखमा सीधे कांग्रेस भवन पहुंंचकर कार्यकर्ताओं को रिचार्ज किया। इस दौरान प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव,जिला अध्यक्ष बोलर ने भी कार्यकर्ताओं की तरफ से अपनी बातों को रखा। कार्यक्रम में बिलासपुर विधायक शैलेश पाण्डेय और तखतपुर विधायक रश्मि सिंह विशेष रूप से मौजूद थीं।

                            कार्यकर्ताओं की तरफ से अटल श्रीवास्तव ने कहा कि हम लोगों ने मेहनत लाठियां खाकर सत्ता को हासिल किया है। लेकिन ठीक नहीं लगरता है कि जब पन्द्रह साल से सत्ता पर काबिज भाजपा के लोग अब कांग्रेस के अन्दर पहुंचकर कांग्रेसियों की हक को छीन रहे हैं। अटल ने कहा कि बिलासपुर का तापमान दिनों दिन बढ़ता जा रहा है। हमारे यहां से सर्वाधिक बिजली और कोयले का उत्पादन किया जाता है। लेकिन जिला प्रदेश के अन्य शहरों से दिनों दिन पिछड़ता जा रहा है । आखिर यह कब तक होगा।

                        कार्यकर्ताओं को रिचार्ज करते हुए उद्योग एवं आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि बिलासपुर हमारे प्रदेश का दूसरा प्रमुख शहर है। अन्याय होने का सवाल ही नहीं उठता है। हमारे लिए कांग्रेसी कार्यकर्ता पहले हैं। प्रशासन बाद में। हम बन्द कमरे में रहते हैं…लेकिन हमारे कार्यकर्ता मैदान में मेहनत करते हैं। उनके साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। आरएसएस और भाजपा के लोग कार्यकर्ताओं के हक को छीन नहीं सकते हैं।

       लखमा ने बताया कि सीएम भूपेश बघेल समेत राहुल गांधी और पीएल पुनिया ने स्पष्ट निर्देश दिया है कि कोई भी मंत्री किसी भी जिले में जाए…शासकीय बैठक के पहले कांग्रेस भवन पहुंचकर कार्यकर्ताओं से मुलाकात करे। उनकी समस्याओं और जनता की परेशानियों से रूबरु हो। लखमा ने कहा कि मैने पहले से ही स्पष्ट कर दिया है कि हमारा जिला अध्यक्ष कलेक्टर और ब्लाक अध्यक्ष एसडीएम है। कार्यकर्ता पुलिस अधिकारी। इसके बाद प्रशासनिक अधिकारी मायने रखते हैं।

                               अपने संबोधन में लखमा ने बताया कि मंत्री बनने से हम बड़े नहीं हो जाते है। हमारे लिए सबसे बड़े कांग्रेस कार्यकर्ता हैं। हमने कार्यकर्ताओं के दम पर ही सरकार बनाया है। हमने 2003 में खजाने में 6 सौ करोड़ रूपए छोड़ा था। पन्द्रह साल बाद जनता ने रमन सिंह को सत्ता से बाहर किया तो पन्द्रह रूपए भी खजाने में नहीं थे। भाजपा ने हमें कुर्सी ,पंखा और दीवार के साथ खाली खजाना दिया है। बावजूद हमने मात्र कुछ घंटों में किसानों का कर्ज माफ किया। बिजली बिल हाफ किया। बोनस दिया…। ऐसा केवल भूपेश बघेल ही कर सकते हैं।

                     कार्यकर्ताओं से बैठक के दौरान आबकारी मंत्री ने कहा कि मात्र सात महीने पहले सरकार बनीं है। आचार संहिता के चलते हमें मात्र तीन महीने ही काम करने का मौका मिला। लेकिन इन तीन महीनों में भूपेश बघेल ने इतना काम किया कि देश की किसी भी सरकार के लिए संभव नहीं है। लखमा ने बताया कि गरीबों आदिवासियों के अलावा गरीबों को पट्टा दिया जाएगा। लेकिन हमने फैसला किया है कि केवल शपथ पत्र देने मात्र से किसी को पट्टा नहीं दिया जाएगा। यदि जमीन पर व्यक्ति काबिज है उसे पट्टा दिया जाएगा। वह अपनी जमीन को बेच भी सकता है। हम भाजपा के ऐसे नियमों को निकाल बाहर कर रहे हैं जिसमे शर्त है कि पट्टे को बेजा नहीं जा सकता है।

                 कवासी लखमा ने बताया कि पंचायत और निकाय चुनाव सिर पर है। कार्यकर्ताओं को एक बार फिर कमर  कसकर तैयार रहने की जरूरत है। विधानसभा की तरह निकाय चुनाव में भी भारी संख्या में प्रत्याशियों को जीताकर स्थानीय सरकार बनाना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *