नाबालिग प्रेमिका ने प्रेमी को उतारा मौत के घाट..हत्याकाण्ड में मां भी शामिल….गिरफ्त आरोपी मां और बेटी

बिलासपुर— सिविल लाइन पुलिस ने उस्लापुर स्थित गोकने नाला के पास बंद ठाबा के छत से सड़ी गली लाश को बरामद किया है। मृतक का नाम दिनेश श्रीवास्तव है। दिनेश का मन्नाडोल में सैलून की दुकान है।  दिनेश 19 जून से लापता था। बताया जा रहा है कि दिनेश और एक नाबालिग युवती के बीच प्रेम संबध था। नाबालिग युवती दिनेश से छुटकारा पाना चाहती थी। मौका मिलते ही अपनी मां चमेली बाई के साथ युवक को मौत के घाट उतार दी।।

                                      एडिश्नल एसपी शहर ओमप्रकाश शर्मा ने बताया कि 19 जून को सिविल लाइन थाना में दर्ज दिनेश श्रीवास के परिजनों ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराया। परिजनों के अनुसार 19 जून को दिनेश श्रीवास्तव जिला कोर्ट में पेशी के लिए गया था…फिर घर नहीं लौटा। दिनेश के परिजनों ने मामले की शिकायत आईजी से भी की। आईजी के निर्देश पर सिविल लाइन पुलिस ने प्रकरण को गंभीरता से लिया गया।

                   ओमप्रकाश शर्मा ने बताया कि छानबीन के दौरान जानकारी मिली कि दिनेश श्रीवास्तव का मन्नाडोल में नाबालिग युवती से प्रेम संबध था। लेकिन जाति अलग अलग होने से दोनों के परिजनों ने विवाह से इंकार कर दिया। इसी बीच दिनेश श्रीवास को छेड़छाड़ के आरोप में जेल जाना पड़ा। जेल से छूटने ही दिनेश ने नाबालिग से कई बार सम्पर्क का प्रयास किया। 19 जून को दिनेश पेशी में गया… लेकिन घर नहीं लौटा। दिनेश की मां ने दूसरे दिन सिविल लाइन थाना पहुंचकर गुमशुदगी की रिपोर्ट करायी।

                          छानबीन के दौरान सीसीटीवी को भी खंगाला गया। दिनेश के परिजनों ने जानकारी दी कि 19 जून से नाबालिग युवती भी गायब है। युवती के परिजनों ने भी दिनेश पर अपहरण की शिकायत की। मामले में छानबीन चल ही रही थी इसी बीच जानकारी मिली कि युवती अपने घर लौट आयी है। पुलिस ने तत्काल युवती को घेरे में लेकर पूछताछ शुरू की।

                        पूछताछ के दौरान पहले तो युवती ने घुमाने का प्रयास किया।  दबाव डालने पर बताया कि दिनेश से उससे प्रेम करता था। जेल जाने के बाद उससे दूरी बन गयी। जेल से निकलने के बाद दिनेश ने सम्पर्क का प्रयास किया। जिससे वह परेशान रहने लगी। समझाने का प्रयास किया कि उसके साथ नहीं रहना चाहती। 19 जून को पेशी के बाद दिनेश को मां चमेली बाई और भाई के साथ आटो से उस्लापुर के पास बंद ढाबे में ले गयी। इस दौरान हम लोगों ने दिनेश को समझाने का प्रयास किया। लेकिन उसने मानने से इंकार कर दिया। इसी बीच मां के साथ मिलकर दिनेश पर हमला कर दिया। सिर को पत्थर से कुचलकर घर लौट आए। मामले की खबर किसी को नहीं हुई ।

              सीजीवाल को एडिश्नल एसपी ओपी शर्मा ने बताया कि आरोपियों को सायबर सेल के प्रयास से मोबाइल ट्रेस के साथ पकड़ा गया। जांच पड़ताल के दौरान जानकारी मिली कि दोनों एक दूसरे प्रेम करते थे। घटना के दिन दोनों की मोबाइल को एक ही स्थान पर पाया गया।  फिर लड़की और लड़के की तलाश शुरू हुई।

                       नाबालिग युवती के अनुसार उसने मां चमेली बाई के साथ मिलकर मौत की घटना का तानाबाना बुना। फिलहाल दोनों को हिरासत में लेकर अभी भी पूछताछ की जा रही है। शव की स्थिति बहुत बुरी है। पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया गया है। पीएम के बाद मामले का खुलासा होगा कि आखिर मौत की वजह है। फिलहल आरोपी नाबालिग युवती और उसकी मां चमेली बाई पुलिस हिरासत में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *