बैंक राष्ट्रीयकरण की गोल्डन जुबली….19 जुलाई को विशेष कार्यक्रम का आयोजन..ललित ने बताया…इसी दिन खोला गया गरीबों के लिए दरवाजा

बिलासपुर— हर साल की तरह इस साल भी बैंक राषट्रीयकरण दिवस धूम धाम से गरिमामय महौल में मनाया जाएगा। पीएनबी के वरिष्ठ बैंकर ललित अग्रवाल ने बताया कि 19 जुलाई को आस से पचास साल पहले बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया। गोल्डन जुबली को रक्षा सूत्र बांधकर मनाया जाएगा। इस दौरान राष्ट्रीयकरण की याद में लोगों को गौरवशाली पल को याद दिलाने का प्रयास भी किया जाएगा।

                           ललित अग्रवाल ने बताया कि आज से पचास साल पहले बैंको का राष्ट्रीयकरण किया गया। राष्ट्रीयकरण के पलोंं को हमेशा  गोल्डन जुबली को रक्षा सूत्र बांधकर मनाया जाएगा। इस दौरान सभी लोगों को बैंको के राष्ट्रीयकरण की गौरवशाली पल की याद दिलाई जाएगी। बताया जाएगा कि किस तरह देश के अंतिम इंसान के लिए बैंको के दरवाजे खोले गए।

           ललित ने जानकारी दी कि हम लोग हमेशा बैंक राष्ट्रीकरण दिवस को गरिमामय माहौल में मनाते रहे हैं। 19 जुलाई को बैंक राष्ट्रीयकरण दिवस को पूरे पचास साल हो जाएंगे। 1969 में बैंको का राष्ट्रीयकरण किया गया था। साल 2019  को गोल्डन जुबली वर्ष के रूप में मनाया जाएगा। वरिष्ठ बैंक प्रबंधक ने बताया कि  कुछ दिनों पहले ही दो राष्ट्रीयकृत विजया बैंक और देना बैंक का बैंक ऑफ बड़ौदा में मर्जर किया गया। इसी के साथ सरकार ने संकेत भी दिया कि अब राष्ट्रीय बैंको को निजी हाथों में सौंपा जाएगा। इसलिए जरूरी है कि 19 जुलाई को गोल्डन जुबली वर्षगांठ के रूप में मनाया जाए।

              ललित ने बताया कि ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन की राष्ट्रीय कार्यकारिणी  के निर्देश पर 12 जुलाई से 19 जुलाई 2019 तक पूरे भारत के सभी जिलों में *रक्षाबंधन* का आयोजन कर ग्राहकों के प्रति सम्मान जाहिर किया जाए। किसानों, बेरोजगारों, युवाओं और आम जनता को राष्ट्रीयकरण के फायदों से अवगत कराया जाए। 19  जुलाई 2019 को जिला स्तर पर बैठक कर मानव श्रृंखला का आयोजन किया जाए। साथ ही कार्यशाला का आयोजन कर बैंको के राष्ट्रीयकरण के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाएगी।

Tags:, ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *