हाईकोर्ट ने शासन को थमाया नोटिस…भाजपा नेता की डायरी पेश करने को कहा…महिला की शिकायत पर हुई कार्रवाई

बिलासपुर—- रायपुर निवासी किरण की याचिका के बाद हाईकोर्ट ने भाजपा नेता प्रकाश बजाज पर लगाए गये आरोपों और अब तक की कार्रवाई को पेश करने का आदेश दिया है। बताते चलें कि रायपुर निवासी  किरण ने प्रकाश बजाज पर आरोप लगाया है कि भाजपा नेता ने उसके साथ ठगी धोखाधडी की है। रसूखदार होने के कारण उसके खिलाफ किसी प्रकार की कार्रवाई करने से पुलिस बच रही है।
                                हाईकोर्ट ने राज्य शासन और अन्य के खिलाफ नोटिस जारी कर प्रकाश बजाज से जुड़े मामलों की डायरी तलब किया है। हाईकोर्ट ने कहा कि प्रकाश बजाज के खिलाफ अब तक की गयी कार्रवाई की डायरी को पेश किया जाए। बताते चलें कि रायपुर निवासी किरण मगर ने भाजपा नेता प्रकाश बजाज पर आरोप लगाया था कि रूपए लेने के बाद भी मकान नहीं दिलाया। किरण ने धोखाधड़ी का आरोप लगाते हुए प्रकाश बजाज के खिलाफ टाटीबंध थाने में शिकायत कीययय लेकिन पुलिस ने किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की। लेकिन गिरफ्तारी से बचने के लिए प्रकाश बजाज ने सेशन कोर्ट में जनानत याचिका पेश किया। लेकिन कोर्ट ने याचिका को खारिज कर दिया।  बजाज ने राहत के लिए हाईकोर्ट में याचिका दायर कर जमानत की गुहार लगाई है।
                       मामला कुछ इस तरह है। किरण मगर ने भाजपा नेता प्रकाश बजाज से मकान खरीदने का सौदा 42 लाख में की। किरण ने प्रकाश बजाज को सात लाख रूपए चेक से और तीन लाख रूपए नगद मकान का बयाना दिया। लेकिन बजाज ने निर्धारित समय में ना तो मकान दिया और ना ही रूपए लौटाए। पैसे मांंगने पर प्रकाश बजाज ने किरण को पहचानने से इंकार कर दिया। किरण मेहर टाटीबंध थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंची। लेकिन शिकायत को दर्ज नहीं किया गया। रिपोर्ट दर्ज नहीं होने पर किरण ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर रूपए वापस लौटाए जाने की मांग की। अपनी याचिका में किरण ने प्रकाश बजाज पर धोखाधड़ी और ठगी का आरोप लगाया है।
                                          इधर महिला के आरोप के बाद प्रकाश बजाज ने गिरफ्तारी से बचने सेशन न्यायालक में जमानत की मांग की। लेकिन कोर्ट ने जमानत देने से इंंकार कर दिया। बजाज ने हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका प्रस्तुत की है। सोमवार को हाईकोर्ट जस्टिस आर.सी.एस.सामन्त के सिंगल बैंच ने राज्य शासन और अन्य को नोटिस जारी कर बजाज से जुड़े मामले की केस डायरी को प्रस्तुत करने के लिए कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *