मध्यान्ह भोजन में प्रोटीन / कैलोरी की कमी, चार हेडमास्टर और एक स्वसहायता समूह को कारण बताओ नोटिस

Chhattisgarh, वेतन देयक, प्रस्तुत , ट्रेजरी अफसर ,थमाया ,कारण बताओ, नोटिस,kanker,chhattisgarh,jashpur nagar,news,चार अधिकारियों , कारण बताओ, नोटिस,लोकसेवा गारंटी , कोताही, मामला,डाईट, 08 अधिकारी-कर्मचारी,गैरहाजिर,कलेक्टर, शो-कॉज नोटिस जारी,छात्रावास अधीक्षक,शो कॉज नोटिस,मतदान अधिकारियों,प्रशिक्षण,लोकसभा चुनाव,अनुपस्थित,,नोटिस जारी,chhattisgarh,गैरहाज़िर ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक,मुख्य चिकित्सा एंव स्वास्थ्य अधिकारी कोण्डागांव,kondagaon,chhattisgarh news,hindi newsबिलासपुर।बिलासपुर जिले के शासकीय विद्यालयों में मध्यान्ह भोजन गुणवत्तायुक्त न पाये जाने पर चार विद्यालयों के प्रधानपाठक एवं एक स्व-सहायता समूह को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। लोक शिक्षण संचालनालय के टीम द्वारा बिलासपुर जिले के सभी विकासखण्डों में एक-एक विद्यालय रेण्डमली चुनकर मध्यान्ह भोजन की जांच की गई थी।सीजीवाल डॉटकॉम के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करे

जांच रिपोर्ट में शा.पू.मा.शाला भदौरा, शा.पू.मा.शा.तखतपुर राममनोहर लोहिया वार्ड 2, कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय पचपेड़ी, शासकीय प्राथमिक शाला ढेका, शासकीय प्राथमिक शाला अमने एवं नगर पालिक निगम बिलासपुर अंतर्गत संचालित शालाओं हेतु पहल एनजीओ के मध्यान्ह भोजन में प्रोटीन/ कैलोरी निर्धारित मात्रा से कम पायी गयी।

उक्त जांच रिपोर्ट के आधार पर चार प्रधानपाठकों एवं एक स्व-सहायता समूह को जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा कारण बताओ नोटिस जारी कर 7 दिन में जवाब मांगा गया है।

उल्लेखनीय है कि प्राथमिक शालाओं में दिये जाने वाले मध्यान्ह भोजन में प्रोटीन की निर्धारित मात्रा 12 ग्राम और कैलोरी की मात्रा 450 किलो कैलोरी होनी चाहिये। अपर प्राथमिक शालाओं में दिये जाने वाले मध्यान्ह भोजन में प्रोटीन की निर्धारित मात्रा 20 ग्राम एवं कैलोरी की मात्रा 700 किलो कैलोरी होनी चाहिये। उक्त विद्यालयों के मध्यान्ह भोजन में निर्धारित मात्रा से कम कैलारी/प्रोटीन पायी गयी।

Comments

  1. By Kamal sahu

    Reply

  2. By Anand Kumar Singh

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *