पुलिस परिवार के छात्र-छात्राओं के लिए लागू होगी डी.जी.पी. मेरिट स्कॉलरशिप योजना,ये होंगे मापदंड

प्रत्येक मंगलवार ,पुलिस अधीक्षकों,पुलिस महानिदेशक डी.एम. अवस्थी,रायपुर।पुलिस महानिदेशक डी.एम. अवस्थी की अध्यक्षता में छत्तीसगढ़ पुलिस केन्द्रीय कल्याण समिति एवं संयुक्त परामर्शदात्री समिति की बैठक पुलिस ट्रांजिस्ट मेस स्थित सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में पुलिस परिवार के मेधावी छात्रों के लिए डी.जी.पी. मेरिट स्कॉलरशीप प्रदान किये जाने की प्रस्ताव पारित किया गया। इसके अंतर्गत 10वीं बोर्ड परीक्षा में 85 प्रतिशत या इससे अधिक अंक प्राप्त करने वालो छात्र-छात्राओं को रूपये 1500/- से 2000/- तक प्रतिमाह कक्षा 12वीं में 80 प्रतिशत या इससे अधिक अंक प्राप्त करने पर स्नातक स्तर के शिक्षा अध्ययन के लिए रूपये 3000/- प्रतिमाह और स्नातकोत्तर शिक्षा प्राप्त करने हेतु भारत के किसी भी प्रतिष्ठित संस्थान में पढ़ाई करने पर रूपये 5000/- प्रतिमाह छात्रवृत्ति प्रदान करने का प्रस्ताव है। राज्य के सभी पुलिस इकाइयों से आने वाले परामर्शदात्री समिति के सदस्यों को संबोधित करते हुए पुलिस महानिदेशक ने कहा कि पुलिस परिवार का उत्थान और विकास कैसे हो?सीजीवालडॉटकॉम के WhatsApp Group से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करे

इस प्रकार के प्रस्तावों पर विचार किया जाना चाहिए। वर्तमान समय में पुलिस की नौकरी तभी सार्थक होगी जब पुलिस कर्मचारी-अधिकारियों के सेवानिवृत्त होने के पूर्व उनके बच्चे उच्च स्तर की शिक्षा प्राप्त कर ले। श्री अवस्थी ने कहा कि राज्य पुलिस के सभी अधिकारी-कर्मचारियों को समान रूप से पदोन्नति मिले इसके लिए अति. पुलिस महानिदेशक अशोक जुनेजा की अध्यक्षता में एस.ओ.पी. तैयार करने हेतु समिति का गठन कर दिया गया है। जिससे सभी पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों को पदोन्नति के समान अवसर प्राप्त होंगे।

बैठक में पुलिस विभाग के मेधावी छात्रों के लिए उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए न्यूनतम ब्याज दर पर पुलिस कर्मचारियों को ऋण उपलब्ध कराने का प्रस्ताव पारित किया गया। संकट निधि में अधिकारी-कर्मचारी को पूर्ण सेवाकाल में डेढ़-डेढ़ लाख रूपये दो बार सहायता राशि प्राप्त कर सकेंगे। प्रत्येक जिला मुख्यालयों पर पुलिस ट्रांजिस्ट मेस तैयार किये जाने का प्रस्ताव पारित किया गया।  बैठक में विभिन्न इकाइयों से प्राप्त प्रस्तावों पर बिन्दुवार चर्चा करते हुए वेतन भत्ता, आवास भत्ता, यात्रा भत्ता, चिकित्सा भत्ता जैसे प्रस्तावों पर शासन स्तर पर निर्णय लिये जाने हेतु पुलिस मुख्यालय से प्रस्ताव भेजने का निर्णय लिया गया।

कार्यक्रम में कल्याण समिति की पिछली बैठक में लिये गये निर्णयों पर भी चर्चा की गई। इस अवसर पर विशेष पुलिस महानिदेशक संजय पिल्लै, आर.के. विज, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक पवन देव,  अशोक जुनेजा पुलिस महानिरीक्षक दीपांशु काबरा, रायपुर रेंज के आई.जी. आनंद छाबड़ा, उप पुलिस महानिरीक्षक आर. एस. नायक, एच.आर. मनहर, डॉ. संजीव शुक्ला, पी. सुंदरराज सहित पुलिस मुख्यालय के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...