इंदिरा ने सहमति से लगाया आपातकाल…बांधी के पार्टी प्रवेश के सवाल पर बोले गृहमंत्री…सबका स्वागत..बिलासपुर को किया बरबाद

बिलासपुर—इंदिरा गांधी ने सबकी सहमति से आपातकाल लगाया। कश्मीर भारत का अंग है। कांग्रेस वन मैन आर्मी विचारों की विरोधी है। धारा 370 को हटाने से पहले रायमशविरा किया जाना चाहिए था। जमीन माफियों पर कार्रवाई होगी। बिलासपुर जैसे नम्बर एक शहर को भारतीय जनता पार्टी ने पन्द्रह सालों में बरबाद कर दिया। भाजपा नेता विरोध विरोधी हैं। उन्हें तोल मोल कर बोलना चाहिए। चाहे कोई भी व्यक्ति या पार्टी हो…यदि निगम सीमा विस्तार का विरोध करता है..इसका मतलब वह विकास की अवधारणा को नहीं समझ रहा है। यह बातें दो दिवसीय प्रवास पर बिलासपुर पहुंचे गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने कही।

         दो दिवसीय प्रवास पर प्रदेश के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू बिलासपुर पहुंचे। गृहमंत्री ताम्रध्वज दो दिनों तक सरकारी काम काज पूरा करने के अलावा पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे। पन्द्रह अगस्त को झण्डारोहण कर परेड की सलामी लेंगे। आज छत्तीसगढ भवन में ताम्रध्वज साहू ने पत्रकारों के सवालों का जवाब दिया।

रायशुमारी और प्रक्रिया का पालन नहीं

                    सवाल जवाब के दौरान ताम्रध्वज साहू ने कहा कि धारा 370 कभी भी स्थायी नहीं था। खुद पंडित नेहरू ने कहा था कि स्थितिया अनुकूल होने विशेष धारा को हटा दिया जाएगा। हम धारा हटाए जाने की प्रक्रिया के विरोधी हैं। लोगों को विश्वास में नहीं लिया गया।  परिस्थितियां आज भी अनुकूल नहीं है। वन आर्मी की तरह कहना कि मैने यह किया..वह किया ठीक नहीं है। जम्मू कश्मीर हमारे देश का अभिन्न अंग है। एक सवाल के जवाब में साहू ने कहा कि मैं बयानों पर प्रतक्रिया नहीं देता। अमर ने चिन्दम्बरम को क्या कहा…मुझे नहींं मालूम..चिदम्बरम और अमर के अपने राय हो सकते हैं। लेकिन बताना चाहूंगा कि पार्टी नेताओं को दल के दिशा निर्देशों के अनुसार ही काम करना होता है।

नहीं हुई स्कूलों की मरम्मत…

                स्कूलों की मरम्मत क्यों नहीं हुई के सवाल पर लोक निर्माण विभाग मंत्री ने बताया कि स्कूल शिक्षा विभाग बजट देता है। यदि बजट नहीं दिया गया  है…तो विभाग मरम्मत या निर्माण कैसे करेगा। क्योंकि पीडब्लूडी केवल निर्माण एजेंसी है।  यदि बजट दिया गया है तो पता लगाएंगे कि स्कूलों का मरम्मत या निर्माण क्यों नहीं किया गया है।

कांग्रेसी कर रहे सीमा विस्तार का विरोधपूर्व मंत्री पर साधा निशाना

                       कांग्रेसी ही सीमा विस्तार का विरोध कर रहे हैं…आखिर इसकी वजह क्या है। सवाल के जवाब में प्रभारी मंत्री ने बताया कि सीमा विस्तार का विरोध करने वाले कांग्रेसी हो ही नहीं सकते हैं। यह काम भाजपा नेताओं का है। क्योंकि भाजपा विकास विरोधी है। अनावश्यक विरोध नहीं किया जाना चाहिए। गांव पंचायत बनता है। पंचायत नगर पंचायत बनता है…नगर पालिका बनता है..निगम बनता है। जो गांव शहर के दायरे में है…लेकिन है पंचायत तो उसका पंचायत बजट में कितना विकास होगा। यदि वह शहर के दायरे में होगा तो उसका बजट भी बढ़ेगा और सुविधाएं भी बढ़ेंगी। उन्होने इस दौरान चरोदा,रिसाली समेत कई पालिका और निगम का उदाहरण भी पेश किया।

प्रभारी मंत्री ने पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल पर साधा निशाना

                       लखमा मंत्री होकर इंस्पेक्टर का काम कर रहे हैं। ऐसा पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल ने बयान दिया है। सवाल के जवाब में प्रभारी मंत्री ने कहा कि अमर क्या कहेंगे। उन्होने कहा कि अमर और उनकी सरकार ने पिछले पन्द्रह सालों बिलासपुर जैसे एक नम्बर शहर को बरबाद कर दिया। ना जाने कितनी बार सड़क खुदी…कितनी बार पाइप डाला गया। सिवरेज ने पूरे शहर को तहस तहस कर दिया। वे लोग बोलने लायक नहीं है।

डॉ.कृ्ष्णमुर्ति बांंधी कांग्रेस में शामिल होंगे

                     सवाल के जवाब में गृहमंत्री ने कहा कि हम किसी को जबरदस्ती पार्टी में शामिल होने के लिए दबाव नहीं बनाते। जिसका शामिल होना चाहता है उसका स्वागत है। बांधी की इच्छा है कि वह क्या चाहते हैं। हमारे यहां किसी पर जबरदस्ती नहीं होती है। यदि स्वैच्छा से कोई कांग्रेस में आना चाहता है तो उसका हमारे अध्यक्ष और संगठन पदाधिकारी स्वागत करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *