अब समीरा और पतरस पर एफआईआर की मांग….जनता कांग्रेस नेताओं का दावा…षड़यंत्र की कड़ियां धीरे धीरे खुल रही

बिलासपुर/रायपुर—जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के नेताओं ने जिला अध्यक्ष ज्वाला प्रसाद चतुर्वेदी की अगुवाई में बिलासपुर को नगर पुलिस अधीक्षक, सिविल लाईन, को  पतरस तिर्की और समीरा पैकरा के खिलाफ उचित विधिक प्रावधानों  के तहत FIR दर्ज करने की मांग की। ज्वाला प्रसाद चतुर्वेदी ने पुलिस प्रशासन को बताया कि समीरा पैकरा और परोक्ष ताकत के इशारे पर पतरस तिर्की ने झूठा शपथ पत्र देकर अजीत जोगी के मान सम्मान को ठेस पहुंचाया है। दोनों ने आपराधिक षड़यंत्र कर छवि को धूमिल करने का प्रयास किया है।
                                         पार्टी जिला अध्यक्ष ज्वाला प्रसाद चतुर्वेदी ने लिखित शिकायत कर बताया कि छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत प्रमोद जोगी के खिलाफ झूठा शपथ पत्र देकर बदनाम करने का अपराधिक षडियंत्र रचा गया है। पूर्व तहसीलदार पतरस तिर्की पिता स्व.चेमना तिर्की निवासी MiG 39,नेहरू नगर ने गौरेला थाना में झूठा शपथ पत्र प्रस्तुत किया है। शपथ पत्र में अजीत जोगी की जाति प्रमाण पत्र का उल्लेख करते हुए झूठा विवरण शपथ पत्र के माध्यम से दिया जाना बताया है।
                    ज्वाला प्रसाद ने बताया कि 6 मार्च 2002 को तिर्की ने ही अजीत जोगी की जाति प्रकरण में शपथ पत्र और  अपना कथन मुख्य दंडाधिकारी, शहडोल के सामने किया है। उन्होने अपने शपथ पत्र में बताया है कि अजीत प्रमोद कुमार जोगी कंवर हैं। जाति प्रमाण पत्र को उन्होने जारी करना बताया था। इस प्रकार का झूठा शपथ पत्र किसी के दबाव में आकर देने पर उनके खिलाफ आईपीसी और सीआरपीसी के तहत धोखा-धड़ी/कूट रचित दस्तावेज तैयार  करना, गलत दस्तावेज का प्रयोग करना और किसी व्यक्ति की छवि को धूमिल करने का आरोप बनता है। इसलिए उचित विधिक प्रावधानों के तहत तिर्की के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध किया जाए।
                 ज्वाला प्रसाद और विक्रांत तिवारी ने बताय कि समीरा पैकरा ने कूट रचित शपथ पत्र को जांच परखे बिना साजिश के तहत फर्जी शपथ पत्र को आधार बनाकर गौरेला थाना में एफआईआर दर्ज कराया है। आपराधिक षडयंत्र रचने और कूट रचित दस्तावेजो का गलत उपयोग करने के जुर्म में समीरा पैकरा पर पुलिस कार्रवाई जरूरी है।
                  जिला कार्यकारी अध्यक्ष विक्रांत तिवारी ने कहा की ये पूरा खेल रायपुर से चल रहा है। चार अगस्त को झूठा शपथ पत्र दिया गया। शपथ करने वाला व्यक्ति बिलासपुर का रहने वाला है। शपथकर्ता की पहचान करने वाला सज्जन कुमार साहू भाँतगाँव रायपुर का निवासी है। ऐसा लगता है कि दबाव में शपथ पत्र रायपुर मे तैयार किया गया है।  विक्रांत ने मामले को बदलापुर की राजनीती का एक ओर नया अध्याय बताया । शिकायत कर्ता का पुरे प्रकरण से कोई सीधा सम्बन्ध नही रहता बावजूद इसके पुलिस दबाव मे एफआईआर दर्ज करने मे देर नहीं करती है।  मानो किसी के आदेश पर सब कडिया काम कर  रही हों। हमने भी प्रदेश के सभी थानों में नामजद शिकायत की है। अब ऐसे लोगों पर FIR दर्ज होने का इन्तजार  हैं। यदि एफआईआर दर्ज नहीं किया गया तो पार्टी उग्र आंदोलन करेगी।
रायपुर में एफआईआर दर्ज
   रायपुर में गुण्डरदेही पूर्व विधायक आर.के. राय के नेतृत्व में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के कार्यकर्ताओं ने सिविल लाईन्स थाना, पहुंचकर समीरा और पतरस के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया है।  आरके राय ने बताया कि अजीत जोगी के खिलाफ कूटरचित दस्तावेजों के साथ प्रकरण दर्ज कराने वाले पतरस तिर्की और समीरा पैकरा के विरूद्ध धोखाधड़ी के तहत कार्यवाही की मागं की गयी है।
loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...