रिपोर्ट नहीं लिखना पड़ा भारी…पुलिस कप्तान ने किया अधिकारी को निलंबित…सीएसपी करेंगे मामले की जांच

बिलासपुर— प्रार्थी का रिपोर्ट दर्ज नहीं किए जाने की जानकारी के बाद पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल ने तोरवा थाना दिवस प्रभारी को निलंबित कर दिया है। आरोपी की जांच का जिम्मा नगर पुलिस अधीक्षक को दिया गया है। निलंबन के बाद पुलिस कप्तान ने जिले के सभी थाना और चौकी प्रभारियों को सख्त निर्दश दिया है कि इस प्रकार के कदम शिकायत के बाद किसी भी अधिकारी के खिलाफ उठाया जा सकता है।
                   पुलिस प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार 6-7  सितम्बर 2019 की दरम्यानी रात्रि तोरवा थाना क्षेत्र के बजाज कालोनी विनायक परिसर, हेमुनगर निवासी अरूण कुमार तामंग के सूने मकान में चोरों ने धावा बोला। घटना के बाद पीड़ित  चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराने थाना तोरवा पहुंचा। लेकिन मौके पर मौजूद दिवस अधिकारी प्रधान आरक्षक रोहित भारद्वाज ने रिपोर्ट दर्ज नहीं किया। मामले को गभीरता से लेते हुए पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल ने रोहित को निलंबित कर दिया है।
                    प्रशांत अग्रवाल ने कहा कि यदि ्अधिकारी किसी जरूरी शासकीय कार्य में व्यस्त और थाने में मौजूद नहीं है। ऐसी सूरत में किसी की शिकायत को दर्ज नहीं किया जाना बहुत बड़ी गलती है। तात्कालीन समय रोहित भारद्वाज ने पीड़ित को बताया कि थानेदार नहीं है। इसलिए रिपोर्ट नहीं लिखा जाएगा। यह जानते हुए भी कि तात्कालीन समय थाना प्रभारी थाना से बाहर अपनी ड्यूटी में व्यस्त थे। पुलिस कप्तान ने रोहित भारद्वाज को निलंबित करते हुए नगर पुलिस अधीक्षक सिविल लाईन को प्रारंभिक जांच कर एक सप्ताह में प्रतिवेदन पेश करने को कहा है।
                      पुलिस अधीक्षक ने जिले के सभी थाना और चौकी प्रभारी समेत सभी पुलिस राजपत्रित अधिकारियों को परिपत्र जारी कर कहा है कि थाने में आये प्रार्थी की शिकायत को किसी भी सूरत में दर्ज किया जाए। यह बताकर कि थाना प्रभारी उपस्थित नहीं है या अन्य कार्यों में व्यस्त होने का हवाला देकर कर्तव्य की उपेक्षा को बर्दास्त नहीं किया जाएगा। यदि इस प्रकार की शिकायत मिलती है तो सख्त अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेगी।
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...