पेंड्रा ब्लॉक में स्कूली बच्चों को एमडीएम से पहले मिलेगा नाश्ता, राज्य शासन का पायलट प्रोजेक्ट 16 सितंबर से

बिलासपुर। शासन ने राज्य के 2 ब्लाकों में स्कूलों में बच्चों को ब्रेकफास्ट (नाश्ता) देने का फैसला लिया है.यह राज्य शासन का पायलट प्रोजेक्ट होगा।जिसे 16 सितंबर से अमल में लाया जाएगा। इस प्रोजेक्ट के लिए पेंड्रा और कोरिया जिले के खडगांव ब्लॉक को चुना गया है।यानी इन ब्लॉक को की सभी प्राइमरी और मिडिल स्कूलों के बच्चों को मध्यान्ह भोजन से पहले सुबह का नाश्ता किया जाएगा।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करे

मध्यान्ह भोजन योजना के तहत राज्य के 2 जिले बिलासपुर के विकासखंड पेंड्रा और कोरिया के विकासखंड खडगांव में नवाचार के रूप में बच्चों को फर्स्ट हाफ में ब्रेकफास्ट देने के लिए केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग ने हरी झंडी दे दी है।अब बच्चों को ब्रेकफास्ट के रूप में सीधे खाने लायक हाई न्यूट्रिशयन वाले खाद्य पदार्थ दिए जाएंगे। जिन्हें पकाने की जरूरत ना हो।

यह ब्रेकफास्ट विद्यालय में प्रधानाध्यापक और मध्यान भोजन प्रभारी के समक्ष जरूरी सावधानियों का पालन करते हुए खिलाया जाएगा। ब्रेकफास्ट में प्रोटीन क्रंच, फोर्टीफाइड सोया बिस्किट, पोस्ट,चिवड़ा, उच्च प्रोटीन उच्च प्रोटीन फोर्टीफाइड, हलवा, पोहा और अनेक फ्लेवर के स्वीट आदि दिए जाएंगे।

ब्रेकफास्ट को लेकर लोक शिक्षण संचालक एस प्रकाश के हस्ताक्षर से बिलासपुर कोरिया कलेक्टर और दोनों जिलों के शिक्षा अधिकारियों को पत्र जारी किया गया है।इसमें 12 बिंदुओं में पायलट प्रोजेक्ट के बारे में पूरी जानकारी दी गई है। यह फिलहाल तय नहीं है कि पूरे राज्य के स्कूलों में या प्रोजेक्ट लागू होगा या नहीं और होगा तो कब से।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *