बस्तर में स्टाफ नर्स व अन्य पदों की भर्ती में गड़बड़ी का आरोप..पहली सूची के कई नाम गायब

राज्य स्तरीय आकलन,chhattisgarh,school,बेहतर टीचिंग डिजाइन ,पढ़ाई ,शिक्षा विभाग,बोर्ड परीक्षा,कक्षा पहली से आठवीं,,छत्तीसगढ़ मदरसा बोडर्, रायपुर,परीक्षा ,आवेदन फॉर्म,ग्रीष्मकालीन अवकाश,परीक्षा फॉर्म वितरण,मिर्जा एजाज बेगजगदलपुर।महारानी अस्पताल में स्टाफ नर्स,ओटी स्टाफ और आईसीयू के अलावा अन्य पदों के लिए संविदा भर्ती की जा रही है।इसके लिए भर्ती प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।विभिन्न पदों पर भर्ती के लिए बस्तर के बेरोजगार रोजगार पाने अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।कार्यालय मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी में मेरिट लिस्ट की पहली सूची लगाई गई है।अभ्यर्थियों का कहना है कि पहली मेरिट लिस्ट की जो सूची जारी की गई थी उसमें 50% से ऊपर प्राप्तांक के लोगों के नाम हैं। परंतु दूसरी सूची जारी की गई है उसमें पहली सूची से कुछ नाम गायब हो गए हैं। यही नहीं जारी दूसरी लिस्ट में कम प्राप्तांक वाले अभ्यर्थियों के नाम भी जारी कर दिए हैं।अभ्यर्थियों ने बताया कि जिनके नाम जारी किए गए हैं उनसे ज्यादा योग्य और अनुभवी लोगों के नाम हटा दिए गए हैं और कम अनुभव और कम अंक और कम प्रतिशत वालों को लिया गया है।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करे

साथ ही सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों ने भी आरोप लगाया कि बस्तर के बेरोजगारों को नहीं बाहरी लोगों को सूची में शामिल किया गया है।जबकि बस्तर जिले में भी योग्य व अनुभवी नर्स है जो कि नियम विरुद्ध है।बताया गया कि सामान्य केटेगरी के कुछ अभ्यर्थी जो 50% से ज्यादा अंक लाकर भी मेरिट लिस्ट में नहीं आ पाए।उन से कम 49% वाले व्यक्तियों का नाम लिस्ट होने के कारण योग्य व अनुभवी अभ्यर्थी परीक्षा देने से चूक जाएंगे।

यह भी पढे-शिक्षाकर्मियों की तबादला सूची में नया पेंच..क्या प्रभारी मंत्री की जानकारी के बिना जारी हो गया आदेश…?

इस नियमों की अवहेलना को लेकर अभ्यर्थियों में रोष व्याप्त है। बता दें कि अस्पताल को सुचारू रूप से संचालित करने अस्पताल में पर्याप्त स्टाफ नर्स के अलावा अन्य पदों में संविदा भर्ती की जा रही है। परीक्षा में अभिव्यक्ति कौशल और लिखित परीक्षा 2 सितंबर को शासकीय बीएससी नर्सिंग कॉलेज महारानी अस्पताल में आयोजित की गई। बस्तर जिले की वेबसाइट में भी मेरिट सूची जारी की गई कुछ अभ्यर्थियों ने नियम विरुद्ध भर्ती करने का आरोप लगाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *