विश्वविद्यालय में हुआ हाईवोल्टेज हंगामा…अंत में झुका प्रबंधन…राजभवन को लिखा पत्र…विधायक को बनाया अतिथि

बिलासपुर – काफी हो हल्ला और विवाद के बाद अटल बिहारी बाजपेयी यूनिवर्सिटी के द्वितीय दीक्षांत समारोह में शहर विधायक शैलेश पांडेय को कुलपति जीडी शर्मा ने अतिथि के लिए आमंत्रण भेजा है। बताते चलें कि अटल बिहारी विश्व विद्यालय का द्वितीय दीक्षांत समारोह का आयोजन 14 सितम्बर को प्रस्तावित है। आमंत्रण कार्ड में शैलेष पाण्डेय को अतिथि नहीं बनाए जाने को लेकर उनके समर्थकों और छात्रा नेताओं में गहरा आक्रोश है। पिछले दो दिनों से शैलेष पाण्डेय को अतिथि बनाए जाने को लेकर लगातार प्रदर्शन किया जा रहा है। गुरूवार को विश्वविद्यालय प्रबंधन ने उच्च शिक्षा सचिव को पत्र लिखकर शैलेश पाण्डेय को अतिथि बनाए के लिए पत्र भेजा। साथ ही एक पत्र शहर विधायक को अतिथि के रूप में आमंत्रण भेजकर घटनाक्रम का पटाक्षेप किया।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करे

लगातार दूसरे दिन भी शहर विधायक शैलेष पाण्डेय को दीक्षांत समारोह में अतिथि नहीं बनाए जाने को लेकर विरोध हुआ। एक दिन पहले शैलेष समर्थकों ने रजिस्टार का घेराव किया तो..गुरूवार को कांग्रेस पार्षद शैलेन्द्र जायसवाल और युवा कांग्रेस नेता आशीष अवस्थी ऊर्फ मोनू की अगुवाई में कुलपति डॉ.गौरी दत्त शर्मा का घेराव कर विरोध किया गया।

नाराज शैलेष पाण्डेय के समर्थकों ने जनता ने उन्हें जिताया है। लेकिन विश्वविद्यालय प्रबंधन ने उनका अपमान करते हुए पूरे बिलासपुर को अपमानित किया है। टेबल ठोकते हुए शैलेन्द्र जायसवाल और आशीष अवस्थी ने कहा कि यदि शैलेष पाण्डेय को अतिथि के क्रम में शामिल नहीं किया गया तो दीक्षांत समारोह का विरोध किया जाएगा। चाहे इसके लिए हमें कुछ भी क्यों ना करना पड़े। समर्थकों ने यह भी कहा कि बेशक कार्ड का वितरण हो गया है…छपवाने में खर्च भी हुआ है लेकिन हम अपने विधायक का अपमान सहने को तैयार नहीं है…दुबारा कार्ड छापा जाए…कार्ड छपाई का खर्च देने को तैयार हैं।

यद्यपि इस दौरान डॉ.गौरीदत्त शर्मा ने समझाने का प्रयास किया कि रायपुर में भी रविशंकर शुक्ल में दीक्षांत समारोह के दौरान स्थानीय विधायक नहीं बलाया गया था। हमने उसी प्रक्रिया का पालन किया है। इतना सुनते ही एनएसयूआई,कांग्रस पार्षद,और नेत्रियों ने आशीष अवस्थी की अगुवाई में फिर से हंगामा करना शुरू कर दिया। लेकिन शैलेन्द्र जायसवाल ने किसी तरह मामले को शांत कराया। इस दौरान प्रबंधन और कुलपति के खिलाफ कांग्रेसियों ने जमकर नारेबाजी की।  अन्त में कुलपति को शैलेष पाण्डेय के समर्थकों सामने झुकना पड़ा। राजभवन को पत्र लिखकर शैलेष पाण्डेय को अतिथि बनाए जाने की मांग की | साथ ही एक पत्र शैलेश पाण्डेय को भी लिखा गया कि दीक्षांत समारोह में बतौर अतिथि आपको आमंत्रित किया जाता है।

                            जानकारी हो कि अटल बिहारी बाजपेयी यूनिवर्सिटी का द्वितीय दीक्षांत समारोह 14 सितम्बर को होना है। समारोह के मुख्य अतिथि यूजीसी के चेयरमैन प्रो धीरेन्द्र पाल होंगे। ,विशिष्ट अतिथि के रूप में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल को शामिल किया गया है। कार्यक्रम की अध्यक्षता राज्यपाल अनसुइया उइके करेंगी | यूनिवर्सिटी ने कार्यक्रम की रूपरेखा को छपवा लिया है। आमंत्रण पत्र का भी वितरण कर दिया है। आमंत्रण पत्र में मंच पर सांसद और महापौर को स्थान दिया है। लेकिन स्थानीय विधायक का नाम अतिथियों में शामिल नहीं है। आमंत्रण पत्र में स्थानीय विधायक का नाम नहीं पाकर समर्थकों नाराजगी जाहिर की। लगातार धरना प्रदर्शन किया। विश्व प्रबंधन पर पक्षपात और अपमानित करने का आरोप लगाया। अंत में गुरुवार को कुलपति को शैलेष पाण्डेय के समर्थकों के सामने झुकना पड़ा।

 विधायक श्री शैलेष पांडेय समर्थक लगभग 35 छात्र कुलपति कक्ष में 12.30 बजे प्रवेश कर कक्ष के अंदर ही धरना में बैठ कर नारेबाजी कर रहे थॆ। जबकि करीब 10 समर्थक बाहर इधर उधर खड़े हुए थे ।अटल बिहारी बाजपेयी विश्वविद्यालय कुलपति कसक्ष में धरने में बैठे छात्रों का नेतृत्व छात्र नेता अनुराग पांडेय और अभिषेक पांडेय कर रहे थे। इन छात्रों ने पार्षद शैलेन्द्र जायसवाल को फोन करके  बुलाया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *