शिक्षकों ने मांगा मूल्यांकन पारिश्रमिक…अध्यक्ष और सचिव से कहा…5 महीने बाद भी नहीं किया गया भुगतान

परीक्षा शुल्क,पर्यावरण विषय,12 वी कक्षा,प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा,छत्तीसगढ़ पंचायत नगरीय निकाय शिक्षक संघ,बिलासपुर— शिक्षक नेता संजय शर्मा ने आरोप लगाया है कि 5 माह बाद भी बोर्ड मूल्यांकन का पारिश्रमिक शासन ने नही दिया है। जबकि कहा गया था कि मूल्यांकन कार्य की राशि को निर्धारित समयावधि के अन्दर दिया जाना था। अब तो परिणाम भी आ गया है। नए शिक्षण सत्र भी शुरू हो गया है। बावजूद इसके शासन ने अभी तक मूल्यांकन पारिश्रमिक नहीं दिया है।
           छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन का प्रतिनिधिमंडल शिक्षा सचिव गौरव द्वेदी और सचिव वीके गोयल से मुलाकात कर बताया कि अभी तक हायर सेकेन्डरी स्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा 2018-19 मुख्य उत्तर पुस्तिका मूल्यांकन पारिश्रमिक नहीं दिया गया है। जबकि कहा गया था कि निश्चित समय में मूल्यांकन कार्य का पारिश्रमिक दिया जाना था। लेकिन आज तक पारिश्रमिक नहीं दिया गया है। शिक्षक चाहता है कि मूल्यांकन की पारिश्रमिक को जल्द से जल्द दिया जाए।
                             अध्यक्ष और सचिव से मुलाकात के बाद संजय शर्मा ने पत्रकारों को बताया कि बोर्ड के निर्देशानुसार हाई और हायर सेकंडरी स्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा 2018-19 की मुख्य उत्तर पुस्तिकाओं का केंद्रीय मूल्यांकन कार्य किया गया। प्रदेश के सभी मूल्यांकन केंद्रों पर निर्धारित समयावधि के अंदर पारिश्रमिक दिए जाने की बात कही गयी थी। अब जबकि परीक्षा परिणाम भी आ चुके हैं। क्लास भी शुरू हो चुकी है। लेकिन भुगतान नहीं किया गया है।
         संजय ने बताया कि हमने अध्यक्ष और जानकारी दी है कि मूल्यांकन कार्य में प्रदेश भर के स्कूलों के प्राचार्य, व्याख्याता, व्याख्याता पंचायत/नगरीय निकाय और अन्य कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई थी। शिक्षकों ने अपना कार्य मार्च और अप्रेल की भीषण गर्मी में निष्ठा के साथ किया। लेकिन कार्य के एवज में दी जाने वाली पारिश्रमिक राशि का भुगतान लगभग पांच माह बीत जाने के बाद भी नहीं दिया गया है। संजय ने जानकारी दी कि अधिकारियों ने जल्द ही भुगतान करने का आश्वासन दिया है।
              संजय ने जानकारी दी कि गौरव द्विवेदी और सचिव गोयल से मुलाकात के दौरान प्रतिनिधिमंडल में संगठन उपाध्यक्ष हरेंद्र सिंह,  देवनाथ साहू, बसन्त चतुर्वेदी, प्रवीण श्रीवास्तव, विनोद गुप्ता, संयोजक सुधीर प्रधान, वाजिद खान, सचिव मनोज सनाढ्य कोषाध्यक्ष शैलेंद्र पारीक शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *