नान घोटाला…खाद्य मंत्री भगत ने कहा…जिसका नाम आएगा..जेल जाएगा….हम किसी को फंसाने के लिए नहीं बैठे

बिलासपुर— दो अक्टूबर से हम बीपीएल परिवार के साथ एपीएल परिवार को भी सस्ता चावल देंगे। प्रदेश से कुपोषण को जड़ से उखाड़ने का अभियान चलाएंगे। अब प्रदेश में एपीेल और बीपीएल दोनों को राशन कार्ड दिया जाएगा। पत्रकारों से बातचीत के दौरान खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने बताया कि नान घोटाले में शामिल किसी को भी नहीं छोड़ा जाएगा। हम ना तो किसी को बचा रहे हैं और ना ही किसी को फंसा रहे हैं। जो दोषी होगा उसे जेल जाना ही होगा।

                         खाद्य मंत्री अमरजीत भगत आज अल्प प्रवास पर बिलासपुर पहुंचे। इस दौरान उन्होने कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं से बातचीत की। व्यस्त कार्यक्रम के बीच भगत ने पत्रकारों के सवालों का भी जवाब दिया। भगत ने बताया कि अब एपीेल और बीपीएल दोनों को ही राशन कार्ड मिलेगा। दो अक्टूबर से राशनकार्ड पर राशन मिलना शुरू हो जाएगा। अभियान से कुपोषण को भगाने में सहयोग मिलेगा। जल्द ही छत्तीसगढ़ से कुपोषण को उखाड़ फेकेंगे।

              क्या पुरानी बातों को दुहराया जा रहा है। बिलासपुर में करीब तीन सौ से अधिक फर्जी राशन कार्ड बनाए गए हैं। एफआईआर भी दर्ज किए जाने की बात सामने आयी है। सवाल के जवाब में खाद्य मंत्री ने कहा कि फर्जी राशन कार्ड बनने का सवाल ही नहीं उठता है। आधार कार्ड, मतदाता कार्ड धारियों के पहचान के बिना राशन कार्ड बनेगा ही नहीं। इस पत्रकारों ने बताया कि फर्जी राशन कार्ड बनाए गए हैं। कर्मचारी के लागिन से ऐसा हुआ है। बावजूद इसके मंत्री ने मानने से इंकार कर दिया। अन्त में उन्होने कहा कि यदि ऐसा होता है तो हम सम्बधित अधिकारियों से अभी पूछताछ करते हैं। जानकारी मांगते है कि आखिर किस बात को लेकर एफआईआर दर्ज करने की बात सामने आ रही है।

                                            नान घोटाला को लेकर प्रदेश में हलचल है फिर भी खाद्य विभाग के अधिकारी बेखौफ फर्जीवाड़ा कर रहे हैं। सवाल के जवाब में अमरजीत ने कहा कि बताएं कहां फर्जीवाड़ा किया जा रहा है। उसके खिलाफ हम तत्काल कार्रवाई करेंगे। जो फर्जीवाडा़ करेगा..उसे जेल जाना होगा।

सीएम का नाम सामने आ गया है। अब आप लोगों को चिन्ता होगी कि सीएम का मतलब चिन्तामणि है…मतलब पुराने सीएम बच निकले। थोड़ी देर तक सोचने के बाद भगत ने बताया कि हम किसी को फंसाने या परेशान करने के लिए नहीं बैठे हैं। नान घोटाला को लेकर परत दर परत सच्चाई सामने आने लगी है। नान घोटाले में जिसका नाम आएगा…वह फंसेगा। उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई होगी।

क्या नान घोटाले के बड़े अधिकारियों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है…भगत ने कहा किसी को नहीं बचाया जा रहा है। जिसका नाम आएगा…उसके खिलाफ कार्रवाई होगी…उसे जेल जाना ही होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *